1 जुलाई से GST का रास्ता साफ: चार विधेयकों को मिली कैबिनेट की मंजूरी

Cabinet approved 4 bills associated to gst, road clear for gst implementation

नई दिल्लीः 1 जुलाई से जीएसटी (गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स) लागू होने का रास्ता पूरी तरह साफ हो गया है. केंद्रीय कैबिनेट ने जीएसटी से जुड़े 4 बिलों केंद्रीय जीएसटी विधेयक 2017, एकीकृत जीएसटी विधेयक 2017, केंद्र शासित प्रदेश वस्तु एवं सेवाकर विधेयक 2017 और वस्तु एवं सेवाकर (राज्यों को मुआवजा) विधेयक 2017 को मंजूरी दे दी है. ध्यान रहे कि आने वाली 1 जुलाई से सरकार की जीएसटी बिल लागू किए जाना है.

सरकार की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया, “केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में जीएसटी से जुड़े 4 विधेयकों को मंजूरी दे दी. ये 4 विधेयक केन्द्रीय सामान और सेवा कर विधेयक 2017 (सीजीएसटी बिल), एकीकृत माल और सेवा कर विधेयक 2017 (आईजीएसटी विधेयक), संघ राज्य माल और सेवा कर विधेयक 2017 (यूटीजीएसटी विधेयक), माल और सेवा कर (राज्यों के लिए मुआवजा) विधेयक 2017 (मुआवजा बिल) हैं.”

जानें आगे जीएसटी की दिशा में क्या काम होंगे?

  • आज जीएसटी से जुड़े 4 विधेयकों के ड्राफ्ट को मंजूरी मिलने के बाद इन विधेयकों को अब इसी हफ्ते संसद में चालू बजट सत्र में पेश किया जा सकता है.
  • S-GST को जहां हर राज्य के विधानसभा से पारित किया जाएगा, वहीं अन्य चार विधेयकों को संसद में पारित कराना होगा. सरकार को उम्मीद है कि संसद के चालू सत्र में ही चारों विधेयक पारित हो जाएंगे व राज्य भी जल्द ही एस-जीएसटी पारित कर देंगे और जीएसटी एक जुलाई से लागू हो जाएगा.
  • संसद से ये विधेयक पास होने और अलग से तैयार राज्य जीएसटी विधेयक को सभी राज्यों की विधानसभाओं से मंजूरी मिलने के बाद पूरे देश में जीएसटी व्यवस्था को लागू करने की विधायी प्रक्रिया पूरी होगी.
  • जीएसटी के लागू होने पर केंद्रीय स्तर पर लगने वाले उत्पाद शुल्क, सेवाकर और राज्यों में लगने वाले वैट टैक्स सहित कई दूसरे टैक्स इसमें शामिल हो जाएंगे.
  • गुड्स और सर्विसेज पर किस दर से जीएसटी की दरें लागू होंगी, ये काम अगले महीने यानी अप्रैल से शुरू होगा.

पिछले छह महीनों में जीएसटी काउंसिल की 12 बैठकों पर चर्चा में इन चार विधेयकों को पहले जीएसटी काउंसिल द्वारा खंड द्वारा खंड पूर्ण रूप से अनुमोदित किया गया है. जीएसटी परिषद ने 1 जुलाई से जीएसटी लाने की बात कही थी. जीएसटी काउंसिल पहले ही जीएसटी व्यवस्था में चार दरें 5, 12, 18 और 28 फीसदी के रेट तय किए हैं. वहीं इनके अलावा कहा गया है कि लग्जरी कारों, बोतल बंद बेवरेजेस और तंबाकू उत्पादों पर इसके ऊपर सेस भी लगाया जाएगा.

First Published:

Related Stories

एयर इंडिया पर अपना नियंत्रण बनाए रख सकती है सरकार
एयर इंडिया पर अपना नियंत्रण बनाए रख सकती है सरकार

 नई दिल्लीः सरकार एयर इंडिया का मालिकाना हक अपने पास ही रख सकती है. हालांकि इस बारे फैसला वित्त...

GST: बेहद आसान भाषा में जानें क्या है इनपुट टैक्स क्रेडिट?
GST: बेहद आसान भाषा में जानें क्या है इनपुट टैक्स क्रेडिट?

नई दिल्ली: इनपुट टैक्स क्रेडिट यानी सामान बनाने वाले कारोबारियों को सरकार की तरफ से मिलने वाली...

केंद्रीय कर्मियों के लिए भत्तों में फेरबदल पर कैबिनेट की मुहर, आवास भत्ता ज्यादा मिलेगा
केंद्रीय कर्मियों के लिए भत्तों में फेरबदल पर कैबिनेट की मुहर, आवास भत्ता...

नई दिल्लीः केंद्र सरकार के 48 लाख कर्मचारियों-अधिकारियों के साथ 55 लाख पेंशनर के लिए अच्छी खबर....

जीएसटी में सिर्फ एक दर क्यों नहीं ? यहां पढ़ें सबसे बड़े सवाल का जवाब
जीएसटी में सिर्फ एक दर क्यों नहीं ? यहां पढ़ें सबसे बड़े सवाल का जवाब

नई दिल्ली: दुनिया के कई देशों में जीएसटी यानी एक टैक्स की व्यवस्था पहले से चल रही है. वहां और...

क्या जीएसटी से छोटे कारोबारियों का नुकसान है? यहां दूर होंगी सारी चिंताएं
क्या जीएसटी से छोटे कारोबारियों का नुकसान है? यहां दूर होंगी सारी चिंताएं

नई दिल्लीः जीएसटी लागू में होने में अब बेहद कम वक्त बचा है और इससे सबसे ज्यादा फिक्र छोटे...

लाखों केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा तोहफाः 7वें वेतन आयोग के भत्तों को सरकार की मंजूरी
लाखों केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा तोहफाः 7वें वेतन आयोग के भत्तों को सरकार...

नई दिल्लीः देश के 47 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को आज सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है. केंद्र सरकार ने...

SPICEJET की मेगा मॉनसून सेलः 699 रुपये में भर लें हवाई उड़ान
SPICEJET की मेगा मॉनसून सेलः 699 रुपये में भर लें हवाई उड़ान

नई दिल्ली: गर्मियों की छुट्टी खत्म होने के बाद अब एयरलाइन कंपनियों ने मानसून के लिए सस्ते हवाई...

Reliance चेयरमैन मुकेश अंबानी का सालाना वेतन 15 करोड़ रुपये पर कायम
Reliance चेयरमैन मुकेश अंबानी का सालाना वेतन 15 करोड़ रुपये पर कायम

नई दिल्ली: रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी का सालाना वेतन...

1 जुलाई से इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए PAN को आधार से लिंक करना अनिवार्य
1 जुलाई से इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए PAN को आधार से लिंक करना अनिवार्य

नई दिल्ली: सरकार ने आने वाली एक जुलाई से टैक्सपेयर के मौजूदा आधार नंबरों को पैन कार्ड से जोड़ना...

यात्रियों के टिकट कैंसिलेशन के जरिए 2016-17 में रेलवे ने कमाए 14.07 अरब रुपये
यात्रियों के टिकट कैंसिलेशन के जरिए 2016-17 में रेलवे ने कमाए 14.07 अरब रुपये

नई दिल्लीः रेलवे को टिकटों की बिक्री के साथ टिकट कैंसिलेशन से भी शानदार कमाई हो रही है....

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017