इरडा, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के खिलाफ सीबीआई जांच शुरू

By: | Last Updated: Sunday, 12 October 2014 3:20 PM
cbi

नई दिल्ली: सीबीआई ने बीमा नियामक इरडा के अधिकारियों द्वारा 2009 में रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड पर करीब 17,500 करोड़ रुपये के जुर्माने को कथित तौर पर कम करने के लिए जांच शुरू की है.

 

सीबीआई सूत्रों ने आज यहां कहा कि जांच एजेंसी ने अपनी जांच में रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी और इरडा के ‘अज्ञात अधिकारियों’ को नामजद किया है.

 

सीबीआई की प्रवक्ता कंचन प्रसाद ने कहा, ‘‘ सीबीआई ने इरडा और एक निजी कंपनी के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ आरंभिक जांच दर्ज की है. इन पर आरोप है कि इरडा के दिशानिर्देशों के उल्लंघन के 3.5 लाख मामलों में कंपनी पर 17,500 करोड़ रुपये की जगह करीब 20 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया.’’ 2009 में इरडा के जुर्माने के आदेश के मुताबिक, कंपनी ने 3.5 लाख पालिसियां बेची थीं और प्रत्येक पालिसी में एक उल्लंघन किया गया जिससे कंपनी पर 17,500 करोड़ रपये का जुर्माना बनता है. लेकिन वास्तव में कंपनी पर केवल 20 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया.

 

इस आदेश पर दस्तखत करने वाले तत्कालीन इरडा चेयरमैन जे. हरि नारायण से पहले ही पूछताछ की जा चुकी है. सीबीआई सूत्रों ने कहा कि वे यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या यह अनजाने में हुआ या जानबूझकर ऐसा किया गया.

 

ये आरोप रिलायंस हेल्थकेयर पालिसी से संबद्ध है जिसे आवश्यक मंजूरियों के लिए इरडा के पास 2005 में भेजा गया था और 2006 में इसे मंजूरी दी गई.

 

रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले में 17,500 करोड रुपये जुर्माना लगाया जाना चाहिए था, यह आरोप निराधार है और इसका कोई कानूनी आधार नहीं है.

 

पांच साल पहले इन पालिसियों के तहत एकत्र किया गया कुल प्रीमियम 80 करोड़ रपये था, जबकि इनमें 140 करोड़ रुपये के दावों का निपटान किया गया जिससे कंपनी को भारी नुकसान उठाना पड़ा.

 

उसने कहा, ‘‘ हम इस मामले में इरडा द्वारा इस्तेमाल किए गए विवेकाधिकारों की जांच का स्वागत करते हैं.’’

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: cbi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों
GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों

नई दिल्लीः जैसा कि आप जानते ही हैं कि 1 जुलाई से जीएसटी लागू हो चुका है यानी एक देश-एक टैक्स की...

सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब
सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब

नई दिल्लीः आज शेयर बाजार में शानदार उछाल के साथ कारोबार बंद हुआ है. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों...

जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट मिलना चाहिए'
जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट...

नई दिल्लीः एनसीआर में जेपी इंफ्राटेक के प्रोजेक्ट्स में घर खरीदारों के लिए थोड़ी राहत की किरण...

हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया
हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया

हिमाचल: हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों को आज राज्य सरकार ने तोहफा दिया है. हिमाचल प्रदेश...

नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी
नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी

नई दिल्ली: आज स्वतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि...

सहारा को झटकाः एंबी वैली प्रोजेक्ट की नीलामी शुरू, रिजर्व प्राइस 37,392 करोड़ रुपये
सहारा को झटकाः एंबी वैली प्रोजेक्ट की नीलामी शुरू, रिजर्व प्राइस 37,392 करोड़...

नई दिल्लीः सहारा समूह के लिए आज बड़े झटके की खबर है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के 3 दिन बाद आज...

जेपी इंफ्रा की संपत्ति बेच अटकी परियोजनाएं पूरी करने की संभावनाएं खंगालने में जुटी सरकार
जेपी इंफ्रा की संपत्ति बेच अटकी परियोजनाएं पूरी करने की संभावनाएं खंगालने...

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जेपी इंफ्राटेक के घर...

जुलाई में थोक मंहगाई दर 1.88 फीसदी बढ़ी, खाने-पीने की चीजें हुईं महंगी
जुलाई में थोक मंहगाई दर 1.88 फीसदी बढ़ी, खाने-पीने की चीजें हुईं महंगी

नई दिल्लीः देश के थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर जुलाई में बढ़कर 1.88 फीसदी रही. वाणिज्य...

AC रेस्टोरेंट के बिना एसी वाले एरिया से खाना पैक कराने पर भी 18% जीएसटी
AC रेस्टोरेंट के बिना एसी वाले एरिया से खाना पैक कराने पर भी 18% जीएसटी

नई दिल्ली: किसी होटल का एक हिस्सा अगर एयर कंडीशनर (एसी) है तो वहां से खाना पैक कराकर ले जाने या...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017