कपास फसल को सफेद पतंगे, कीट से बचायें : परामर्श

By: | Last Updated: Saturday, 16 August 2014 5:01 PM

चंडीगढ़, 16 अगस्त :भाषा: कीटों के हमले के खिलाफ चेतावनी जारी करते हुए कृषि विशेषज्ञों ने आज हरियाणा के किसानों से अपनी फसलों को कीटपतंगों से बचाने के लिए संरक्षणकारी उपाय करने को कहा.

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार के कृषि वैज्ञानिकों ने कपास उत्पादकों को सफंद पतंगे :ह्वाइटफलाई: और लीफहापर कीट के बारे में परामर्श दिया है. ये दोनों कीट इस मौसम के दौरान कपास फसल पर हमला करते हैं क्योंकि मौजूदा नमी का मौसम इन कीटों के बढ़ने के लिए अनुकूल होता है.

विश्वविद्यालय के एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि किसानों को कपास फसल में लीफहापर और सफेद पतंगों की निगरानी करने का परामर्श दिया जाता है और मौसम के साफ होने पर बचावकारी उपाय करने की सलाह दी जाती है.

हरियाणा के कुछ क्षेत्रों में हाल में सफेद कीटों के हमले का सामना करना पडा है. उन्होंने कहा कि कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को सलाह दी है कि नमी को संरक्षित करने के लिए कपास फसल वाले खेत में कुदाल चलवायें.

किसानों को धान फसलों में लीफहूपर के प्रकोप हो सकने की निगरानी करने और सिफारिशों के अनुरूप छिड़काव करने की भी सलाह दी गई है.

प्रवक्ता ने कहा कि किसानों को उर्वरकों और कीट नियंत्रणकारी उपायों के साथ गन्ना फसल में सिंचाई करने तथा ग्वार, बाजरा और दलहनों में खुदाई कर नमी को बरकरार रखने को कहा गया है.

उन्होंने कहा कि किसानों को पर्याप्त मृदा नमी के बाद खेतों में फलों के पेड़ लगाने का भी परामर्श दिया गया है.

 

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: crop_prestiside_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??? ???? ????? ??????? ????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017