डीजल पर प्रति लीटर 35 पैसे का होगा मुनाफा

By: | Last Updated: Tuesday, 16 September 2014 11:14 AM

नई दिल्ली: डीजल के दाम पर सरकारी नियंत्रण के समय में पहली बार 16 सितंबर से प्रभावी दूसरे पखवाड़े में डीजल की बिक्री पर होने वाला घाटा खत्म हो गया है और यहां तक कि यह मुनाफे में आ गया है.

 

यह जानकारी सोमवार को सरकार की ओर से दी गई. पेट्रोलियम मंत्रालय ने 16 सितंबर से प्रभावी पखवाड़े के लिए विभिन्न पेट्रोलियम उत्पादों पर तेल बाजार कंपनियों को होने वाले नुकसान की जानकारी देते हुए कहा कि डीजल पर प्रति लीटर 35 पैसे का मुनाफा होगा.

 

सरकार की इस घोषणा के बाद पिछले सात सालों में पहली बार डीजल के दाम में कटौती की संभावना जगी है. अंतर्राष्ट्रीय तेल मूल्य में आई गिरावट और डीजल प्राइस में हर महीने की गई वृद्धि के कारण इस पर होने वाला घाटा खत्म हो पाया है.

 

सरकार ने जनवरी 2013 में डीजल प्राइस में हर महीने 50 पैसे वृद्धि करने की अनुमति दी थी. तब से 19 खेप में डीजल प्राइस कुल 11.74 रुपये प्रति लीटर बढ़ा है.

 

एक आधिकारिक सूत्र ने कहा कि सरकार हालांकि डीजल की बिक्री पर होने वाला लाभ आम उपभोक्ता को देना चाहती है, लेकिन जम्मू एवं कश्मीर, महाराष्ट्र, बिहार और झारखंड में विधानसभा चुनाव से पहले ऐसा करने से बचना चाहती है.

 

मंत्रालय के मुताबिक अभी प्रति लीटर मिट्टी तेल पर 32.67 रुपये और प्रति सिलेंडर रसोई गैस की बिक्री पर 427.82 रुपये का नुकसान हो रहा है.

 

डीजल की वर्तमान कीमत अभी दिल्ली में 58.97 रुपये, मुंबई में 67.26 रुपये, कोलकाता में 63.81 रुपये और चेन्नई में 62.92 रुपये प्रति लीटर है.

 

इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा था कि अंतर्राष्ट्रीय तेल मूल्य में गिरावट का लाभ उठाते हुए डीजल प्राइस को नियंत्रण मुक्त कर देना चाहिए.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: diesel price_Price hike_petroleum ministry
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017