सरकार ने ब्रांडेड डीजल पर उत्पाद शुल्क ढांचे में बदलाव किया

By: | Last Updated: Friday, 30 January 2015 3:46 PM

नई दिल्ली: सरकार ने ब्रांडेड अथवा प्रीमियम डीजल पर उत्पाद शुल्क ढांचे में बदलाव करते हुये इसे मात्रात्मक से बदलकर मूल्यानुसार और निर्धारित दर के मिले जुले रूप में कर दिया.

 

ब्रांडेड डीजल पर अब रिफाइनरी गेट पर ईंधन मूल्य के 14 प्रतिशत और उसके साथ पांच रुपये मिला कर अथवा 10.25 रुपये लीटर जो भी कम होगा उसी दर पर उत्पाद शुल्क लगेगा. वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग द्वारा जारी अधिसूचना में यह जानकारी दी गई है.

 

ब्रांडेड डीजल के उत्पाद शुल्क ढांचे में किये गये इस बदलाव से इसके खुदरा मूल्य में फिलहाल किसी तरह का बदलाव नहीं होगा. अधिसूचना में कहा गया है कि शुल्क ईंधन मूल्य के 14 प्रतिशत जमा पांच रुपये या फिर 10.25 रुपये लीटर जो भी कम होगा उस हिसाब से लगेगा.

 

इंडियन ऑयल कापरेरेशन ‘एक्सट्रामाइल’, भारत पेट्रोलियम कापरेरेशन ‘हाईस्पीड डीजल’, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम ‘डीजल सुपर और टरबो जेट’ के नाम से ब्रांडेड डीजल की बिक्री करते हैं, इन पर इस समय 10.25 रुपये लीटर की दर से उत्पाद शुल्क लगता है.

 

सरकार ने स्पष्ट किया है कि सामान्य यानी बिना ब्रांड वाले डीजल, सामान्य पेट्रोल यानी बिना ब्रांड वाले पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क ढांचे में कोई बदलाव नहीं किया गया है. उनपर विशिष्ट दर से शुल्क लगता रहेगा.

 

मूल रूप से पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क मूल्यानुसार लगता है. बाद में पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़ते रहने पर इसे बदलकर विशिष्ट दर पर कर दिया गया.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: diesel_oil_government_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017