भारत को ई-वीजा सुविधा देने के बारे में चीन का रख स्पष्ट नहीं

By: | Last Updated: Monday, 18 May 2015 5:13 PM

बीजिंग: चीनी नागरिकों को ई-वीजा की सुविधा देने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का चीन सरकार ने स्वागत किया और कहा है कि वह अपने कानून के दायरे में रह कर दोनों देशों की जनता के बीच सीधा संपर्क आसान बनाने के लिए भारत के साथ सहयोग की इच्छुक है पर उसने जवाब में भारत को भी इसी तरह की सुविधा देने के बारे में कोई स्पष्ट वायदा नहीं किया.

 

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हांग ली ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा, ‘अपनी यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी ने चीन के पर्यटकों को ई-वीजा जारी करने की घोषणा की. हम इस कदम का स्वागत करते हैं.’

 

यह पूछे जाने पर कि क्या चीन भी भारत के लिए ऐसी सुविधा देने को तैयार है तो उन्होंने कहा, ‘चीन अपने नियम-कानून के तहत भारत के साथ संयुक्त प्रयास करने का इच्छुक है ताकि भारत और चीन की जनता के बीच संपर्क में सहूलियत हो.’

 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी यात्रा में 15 मई को चीन के लिए ई-वीजा की सुविधा की घोषणा की. भारत का गृह मंत्रालय और सुरक्षा एजेंसियां इस प्रकार की सुविधा के दुरपयोग के खतरे को देखते हुए इसके विरोध में थीं जबकि विदेश मंत्रालय और पर्यटन मंत्रालय इसके लिए जोर दे रहे थे.

 

पिछले साल दो लाख से कुछ कम चीनी नागरिकों ने भारत की यात्रा की जबकि इसी दौरान चीन की यात्रा पर गए भारतीयों की संख्या छह लाख से अधिक थी. भारत चीन के पर्यटकों को अकषिर्त करना चाहता है. वहां से हर साल 10 करोड़ पर्यटक विदेश जाते है. उम्मीद है कि ई वीसा से वे भारत की ओर अधिक आकषिर्त हो सकते हैं.

 

होंग ने कहा कि भरतीय प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति शी चिनफिंग , प्रधानमंत्री ली क्विंग और चीन की राष्ट्रीय पीपल्स कांग्रेस :संसद: के चेयरमैन झांग देजियांग से ‘सफल वार्ताएं’ कीं.

 

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: E-Visa_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: China E-visa
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017