औद्योगिक उत्पादन, थोक महंगाई दर के आंकलन का तरीका बदला

औद्योगिक उत्पादन, थोक महंगाई दर के आंकलन का तरीका बदला

नई दिल्ली: सरकार ने औद्योगिक उत्पादन और थोक महंगाई दर के आंकलन का नया तरीका अमल में लाने का ऐलान किया है. नए तरीके के तहत जहां आधार वर्ष बदल दिया गया है, वहीं कई सामान को हटाकर नया सामान शामिल किया गया है.

उद्योग
नए तरीके की बदौलत मोदी सरकार के पहले तीन कारोबारी साल के कार्यकाल में औद्योगिक उत्पादन की काफी बेहतर तस्वीर सामने आयी है. मसलन, पुराने आधार वर्ष यानी 2004-05 पर जहां 2014-15 के दौरान औद्योगिक उत्पादन की दर 2.8 फीसदी दर्ज की गयी थी, वहीं नए आधार वर्ष यानी 2011-12 के आधार पर ये दर 4 फीसदी हो गयी है. इसी तरह 2015-16 के दौरान औद्योगिक उत्पादन दर 2.4 फीसदी के बजाए 3.4 फीसदी और 2016-17 के दौरान 0.7 फीसदी के बजाए ये दर पांच फीसदी होगी.

औद्योगिक उत्पादन में बढ़ोतरी के आंकलन की नयी व्यवस्था में 258 किस्म के सामान के समूह को बने रहने के दिया गया है जबकि पुरानी व्यवस्था से 124 समूह को हटा दिया गया है. इनकी जगह 149 नए समूह जोड़े गए हैं. ये भी तय हुआ है कि बंद पड़ी फैक्ट्रियों को आंकलन से बाहर रखा जाए. कुल मिलाकर 1400 फैक्ट्रियां चार बार आंकड़े देंगी. इसके साथ ये भी तय हुआ है कि जिस सामान का उत्पादन एक महीने में पूरा नहीं हो पाता है, उन्हे भी ‘वर्क इन प्रोगेस’ के रुप में आंकलन में शामिल किया जाएगा.

औद्योगिक उत्पादन का आधार वर्ष बदलने के पीछे एक बड़ी सोच ये होती है कि आंकलन वास्तविकता के काफी करीब हो. आधार वर्ष में सूचकांक 100 माना जाता है और उस आधार पर हुई बढ़ोतरी या कमी के हिसाब से औद्योगिक उत्पादन की दर का आंकलन किया जाता है. इस तरह की दर उद्योग की मौजूदा स्थिति को दर्शाती है. साथ ही रिजर्व बैंक को नीतिगत ब्याज दर में बदलाव करने में मदद करती है.

थोक महंगाई दर
औद्योगिक उत्पादन की तरह की सरकार ने थोक महंगाई दर का आधार वर्ष 2004-05 के बजाए 2011-12 कर दिया है. ये दर देश के बेहद पुराने आंकड़ों में एक है. इसमे पहली बार आधार वर्ष 1952-53 को बनाया गया था, उसके बाद इसमें पांच बार और बदलाव हुए. नयी व्यवस्था के तहत कुल मिलाकर 697 किस्म की वस्तुओं की कीमतों के आधार पर महंगाई दर का आंकलन किया जाएगा जबकि पहले ये संख्या 676 थी. पुरानी व्यवस्था से 146 सामान हटा दिए गए हैं जबकि 199 नए जोड़े गए हैं. जोड़े गए सामान में मूली, गाजर, खीरा, लौकी, मौसम्बी, अनार, कटहल बगैरह शामिल किए गए हैं.

पहले महंगाई दर के आंकलन में सामान की मूल कीमत के साथ उत्पाद कर को जोड़ा जाता था और उसमें से ट्रेड डिस्काउंट को घटा दिया जाता था. अब मूल कीमत से सीधे ट्रेड डिस्काउंट घटा दिया जाएगा और बचे हुए के आधार पर खुदरा महंगाई दर का आंकलन होगा. इससे सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि सरकारी खजाने का घाटा घटने या बढ़ने की सूरत में खुदरा महंगाई दर प्रभावित नहीं होगी.

नयी व्यवस्था के तहत किए गए आंकलन के आधार पर अप्रैल के महीने में थोक महंगाई दर 3.85 फीसदी दर्ज की गयी है.

First Published:

Related Stories

हिंदुस्तान पेट्रोलियम को रिकॉर्ड मुनाफा, हर दो शेयर पर मिलेगा एक बोनस शेयर
हिंदुस्तान पेट्रोलियम को रिकॉर्ड मुनाफा, हर दो शेयर पर मिलेगा एक बोनस शेयर

नई दिल्ली: इंडियन ऑयल के बाद अब हिंदुस्तान पेट्रोलियम ने अब तक का सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने का...

शेयर बाजार में बहार: पहली बार सेंसेक्स 31,000 के पार, निफ्टी 9600 के करीब
शेयर बाजार में बहार: पहली बार सेंसेक्स 31,000 के पार, निफ्टी 9600 के करीब

मुंबई: मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर शुक्रवार को बंबई शेयर बाजार में बहार देखने को मिला....

जीएसटी लागू होने पर सुबह की चाय-कॉफी का जायका और होगा बेहतर
जीएसटी लागू होने पर सुबह की चाय-कॉफी का जायका और होगा बेहतर

नई दिल्ली: जीएसटी लागू होने के बाद दिन की शुरुआत बेहतर होगी. कम से कम वित्त मंत्रालय के ताजा बयान...

GST से इंडियन ऑयल को नुकसान की आशंका, 2016-17 में 19 हजार करोड़ से ज्यादा का मुनाफा
GST से इंडियन ऑयल को नुकसान की आशंका, 2016-17 में 19 हजार करोड़ से ज्यादा का मुनाफा

नई दिल्ली: सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल ने कहा है कि वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी लागू होने से उसे...

400 बेनामी लेन-देन उजागर, 600 करोड़ की संपत्ति जब्त
400 बेनामी लेन-देन उजागर, 600 करोड़ की संपत्ति जब्त

 नई दिल्लीः काले धन के खिलाफ कार्रवाई की कड़ी में आयकर विभाग ने 400 से भी ज्यादा बेनामी लेन-दन का...

GST के फायदे जानते हैं आप? इन वस्तुओं-सर्विसेज पर घटेगा टैक्स, होंगी सस्ती
GST के फायदे जानते हैं आप? इन वस्तुओं-सर्विसेज पर घटेगा टैक्स, होंगी सस्ती

नई दिल्लीः 1 जुलाई से देश में जीएसटी लागू होने वाला है और पूरे देश में एक टैक्स व्यवस्था हो...

IT सेक्टर में रोजगार पर ग्रहण नहीं: 2016-17 में 1.7 लाख नई नौकरियां
IT सेक्टर में रोजगार पर ग्रहण नहीं: 2016-17 में 1.7 लाख नई नौकरियां

नई दिल्लीः सरकार ने आज दावा किया कि सूचना तकनीक यानी आईटी के क्षेत्र में 3 सालों के दौरान 6 लाख नई...

पाक चौकी पर हमले की खबर से गिरा बाजारः आखिरी मिनटों में सेंसेक्स 200 अंक टूटा
पाक चौकी पर हमले की खबर से गिरा बाजारः आखिरी मिनटों में सेंसेक्स 200 अंक टूटा

नई दिल्लीः आज सुबह से भारतीय बाजार में तेजी का माहौल था लेकिन दोपहर 3 बजे के करीब भारतीय सेना के...

पूजन सामग्री पर GST नहीं: स्मार्टफोन भी नहीं होंगे महंगे
पूजन सामग्री पर GST नहीं: स्मार्टफोन भी नहीं होंगे महंगे

नई दिल्लीः सरकार ने साफ किया कि जीएसटी लागू होने के बाद हवन सामग्री समेत पूजन सामग्री पर जीएसटी...

अप्रैल में मारुति SWIFT रही सबसे ज्यादा बिकने वाली हैचबैक कार, ALTO को पीछे छोड़ा
अप्रैल में मारुति SWIFT रही सबसे ज्यादा बिकने वाली हैचबैक कार, ALTO को पीछे छोड़ा

नई दिल्ली: मारुति सुजुकी देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली कारों की मैन्यूफैक्चर्र कंपनी है और कार...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017