आईटी सेक्टर के लिए GOOD NEWS: नास्कॉम के मुताबिक बड़ी छंटनी का खतरा नहीं !

By: एजेंसी/एबीपी वेब डेस्क | Last Updated: Thursday, 18 May 2017 9:33 PM
आईटी सेक्टर के लिए GOOD NEWS: नास्कॉम के मुताबिक बड़ी छंटनी का खतरा नहीं !

नई दिल्लीः सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग के प्रमुख संगठन नास्कॉम ने आज आईटी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर छंटनियों की खबरों को खारिज करते हुए कहा कि इस साल शुद्ध आधार पर इस क्षेत्र डेढ़ लाख लोगों की भर्ती की जाएगी. हालांकि इसके साथ ही नास्कॉम ने कहा कि आईटी प्रोफेशनल्स को आज समय के हिसाब से खुद को कुशल बनाने की जरूरत है. दरअसल पिछले कुछ हफ्ते से ऐसी खबरें आ रही हैं कि इस साल विप्रो, इन्फोसिस और कॉग्निजेंट जैसी कंपनियों द्वारा 50,000 से ज्यादा कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा.

स्पष्ट तौर पर क्षेत्र में छंटनी की खबरों का खंडन

नास्कॉम के अध्यक्ष आर चंद्रशेखर ने आज कहा है ‘‘हम स्पष्ट तौर पर क्षेत्र में छंटनी की खबरों का खंडन करते हैं. वित्त वर्ष 2016-17 में इस क्षेत्र में 1.7 लाख नए कर्मचारी जोड़े गए, वहीं अकेले चौथी तिमाही में ही टॉप 5 आईटी कंपनियों ने सकल आधार पर 50,000 से अधिक नियुक्तियां कीं हैं. इसके साथ ही नास्कॉम ने जोड़ा कि कर्मचारियों को खुद को समय की जरूरत के हिसाब से कुशल बनाना होगा या फिर उन्हें हटने के लिए तैयार रहना होगा. इसकी वजह यह है कि आज दुनिया नई टेक्नोलॉजी मसलन ऑटोमेशन, रोबोटिक्स, विश्लेषण और साइबर सुरक्षा की ओर बढ़ रही है.

आईटी सेक्टर में शुद्ध रूप से प्लेसमेंट जारी रहेंगे

चंद्रशेखर ने कहा कि एसोसिएशन ने अपने सदस्यों से बात की है जिन्होंने आश्वासन दिया है कि आईटी सेक्टर में शुद्ध रूप से प्लेसमेंट जारी रहेंगे. इस साल 1.5 लाख नई नियुक्तियां की जाएंगी. इसके अलावा टेक्नॉलॉजी स्टार्टअप, ई-कामर्स, डिजिटल इंडिया और डिजिटल भुगतान जैसे सेक्टर्स में नए अवसर पैदा हो रहे हैं. 2025 तक 30 लाख नए रोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है. यहां कॉग्निजेंट, विप्रो और माइंडट्री जैसी दिग्गज आईटी कंपनियों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे.

परफॉरमेंस अप्रेजल प्रोसेस का हिस्सा है मौजूदा ले-ऑफ/संकट की आहत नहीं

आईटी कंपनियों ने अपना सालाना परफॉरमेंस अप्रेजल प्रोसेस शुरू कर दिया है. इस दौरान हर साल खराब प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को हटाया जाता है. नास्कॉम का कहना है कि इस बार भी जो लोग नौकरी से निकाले गए हैं वो इसी परफॉरमेंस अप्रेजल प्रोसेस का हिस्सा है. ये बड़े पैमाने पर छंटनी का संकेत नहीं है. चंद्रशेखर ने कहा कि आईटी कंपनियों ने कहा है कि इस साल कुछ अलग नहीं हुआ है. प्रदर्शन के आधार पर हर साल 0.5 से 3 फीसदी कर्मचारियों को इधर उधर किया जाता है और इस बार भी इसमें किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है. प्रत्येक कंपनी प्रतिस्पर्धी बने रहने के लिए इस तरह का कदम उठाती है.

हालांकि, नास्कॉम की ओर से यह नहीं बताया गया कि इस साल छंटनियों को लेकर होहल्ला क्यों मच रहा है. कर्मचारियों की छंटनी की खबर से पूरी आईटी सेक्टर में चिंता है. यह उद्योग पहले ही अमेरिका, सिंगापुर, आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में नौकरी-वीजा नियमों को कड़ा किए जाने की वजह से दबाव में है.

आईटी सेक्टर से जुड़ी और खबरें यहां देखें

अगले 2 साल में 10 हजार अमरीकियों को नौकरी देगी इंफोसिस

IT SECTOR में छंटनी का सिलसिला जारी रहेगाः 2 लाख लोगों की छुट्टी होने के आसार !

नासकॉम ने बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी की बातों को किया खारिज

काग्निजेंट और विप्रो के बाद इन्फोसिस भी बड़ी छंटनी की तैयारी

टेलीकॉम सेक्टर में बड़ी छंटनीः टाटा टेलीसर्विसेज ने करीब 600 एंप्लॉइज को निकाला

First Published: Thursday, 18 May 2017 9:33 PM

Related Stories

पूजन सामग्री पर GST नहीं: स्मार्टफोन भी नहीं होंगे महंगे
पूजन सामग्री पर GST नहीं: स्मार्टफोन भी नहीं होंगे महंगे

नई दिल्लीः सरकार ने साफ किया कि जीएसटी लागू होने के बाद हवन सामग्री समेत पूजन सामग्री पर जीएसटी...

अप्रैल में मारुति SWIFT रही सबसे ज्यादा बिकने वाली हैचबैक कार, ALTO को पीछे छोड़ा
अप्रैल में मारुति SWIFT रही सबसे ज्यादा बिकने वाली हैचबैक कार, ALTO को पीछे छोड़ा

नई दिल्ली: मारुति सुजुकी देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली कारों की मैन्यूफैक्चर्र कंपनी है और कार...

बाजार में उछाल: सेंसेक्स 106 अंक ऊपर 30570 पर, निफ्टी 9450 के पास बंद
बाजार में उछाल: सेंसेक्स 106 अंक ऊपर 30570 पर, निफ्टी 9450 के पास बंद

नई दिल्लीः हफ्ते के पहले कारोबारी दिन आज भारतीय शेयर बाजार की चाल सुस्त पड़ गई. वैसे बाजार...

22 मई से भारतीय रेल के बेड़े में शामिल होगी तेजसः प्लेन जैसी खूबियों से लैस ट्रेन
22 मई से भारतीय रेल के बेड़े में शामिल होगी तेजसः प्लेन जैसी खूबियों से लैस...

नई दिल्लीः देश की अब तक की सबसे आधुनिक ट्रेन तेजस सोमवार से भारतीय रेल के बेड़े में शामिल हो...

मोदी सरकार के 3 सालः रोजगार के मोर्चे पर सरकार कितनी सफल?
मोदी सरकार के 3 सालः रोजगार के मोर्चे पर सरकार कितनी सफल?

नई दिल्लीः केंद्र की मोदी सरकार के 3 साल पूरे होने में बस 5 दिन बाकी हैं. विकास की राह पर ले जाकर...

सोने में फिर आई गिरावट, चांदी की चमक बढ़ी, 32,200 रुपये पर पहुंची
सोने में फिर आई गिरावट, चांदी की चमक बढ़ी, 32,200 रुपये पर पहुंची

नई दिल्ली: लगातार चढ़ने के बाद आज घरेलू सर्राफा बाजार में सोने के दाम फिर गिरे हैं. विदेशों में...

जानें- GST से कैसे बदलेगा आपका बजट, 1 जुलाई से क्या होगा सस्ता क्या होगा महंगा ?
जानें- GST से कैसे बदलेगा आपका बजट, 1 जुलाई से क्या होगा सस्ता क्या होगा महंगा ?

नई दिल्ली:  पूरे देश में जीएसटी यानी एक देश-एक बाजार की टैक्स दरें तय हो गई है. जीएसटी लागू होने...

 शिखर सम्मेलन में बोले पी चिदंबरम 'नोटबंदी से काला धन खत्म नहीं हुआ'
शिखर सम्मेलन में बोले पी चिदंबरम 'नोटबंदी से काला धन खत्म नहीं हुआ'

नई दिल्लीः आज एबीपी न्यूज के शिखर सम्मेलन में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने देश के आर्थिक...

GST में सेवाओं की दरें तय: शिक्षा, स्वास्थ्य इससे बाहर, मेट्रो, लोकल ट्रेन में सफर को छूट
GST में सेवाओं की दरें तय: शिक्षा, स्वास्थ्य इससे बाहर, मेट्रो, लोकल ट्रेन में...

नई दिल्लीः मोबाइल सेवाओं पर वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी की दर 18 फीसदी होगी. ये सर्विस टैक्स की...

सेंसेक्स में दिखी गिरावटः निफ्टी सपाट रहकर 9430 के नीचे बंद
सेंसेक्स में दिखी गिरावटः निफ्टी सपाट रहकर 9430 के नीचे बंद

नई दिल्लीः घरेलू शेयर बाजारों में आज दिन भर कारोबार में उतार चढ़ाव देखा गया. हालांकि आखिर में...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017