इस साल विकास दर रहेगी 5.5 फीसदी : आरबीआई

By: | Last Updated: Thursday, 16 October 2014 4:43 PM

हैदराबादः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि देश की आर्थिक विकास दर इस साल 5.5 फीसदी या कुछ अधिक रह सकती है. राजन ने यहां गुरुवार को इंडियन बिजनेस स्कूल (आईएसबी) के छात्रों को संबोधित करते हुए कहा, “अगले साल यह छह फीसदी और संभवत: उससे अगले साल सात फीसदी रह सकती है.”

 

राजन ने कहा कि यदि किसी बड़े सुधार के बारे में नहीं भी सोचा जाए, तो भी अर्थव्यवस्था पटरी पर वापस आ सकती है, लेकिन सुधार द्वारा ही यह उस स्तर पर बरकरार रहेगी या उससे बेहतर होगी.

 

उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार हो रहा है. उन्होंने आशा जताई कि आने वाले दिनों में और बेहतर विकास होगा.

 

राजन ने वित्तीय पक्ष पर काम कर विकास को और समर्थन देने की जरूरत पर बल दिया.

 

उन्होंने कहा, “विकास की वापसी दिख रही है. चालू खाता घाटा कम है और महंगाई दर कुछ बेहतर दिख रही है.”

 

राजन ने कहा कि निर्यात भले ही घटा हो, गैर-तेल और गैर-स्वर्ण निर्यात वृद्धि दर 6-7 फीसदी रही है.

 

उन्होंने कहा कि सरकार कारोबार करने के लिए मौजूद व्यवस्था में सुधार कर रही है. उन्होंने यह भी कहा कि कंपनियों के लिए वित्त, नियमन और कुशल कामगार की उपलब्धता को सरल बनाया जाना चाहिए.

 

उन्होंने कहा, “सरकार इन क्षेत्रों में काम कर रही है. मुझे विश्वास है कि समय के साथ हम दहाई संख्या की विकास दर हासिल कर लेंगे.”

 

एक सवाल के जवाब में राजन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास देश के लिए महत्वाकांक्षी योजना है. उन्होंने कहा, “उम्मीदें बहुत अधिक बढ़ गई हैं. हमें उस पर खरा उतरना है.”

 

उन्होंने कहा कि सरकार और आरबीआई के रिश्ते तनावपूर्ण नहीं है.

 

उन्होंने कहा, “हमें वित्तीय फैसले लेने का अधिकार चाहिए, ताकि हम खराब प्रदर्शन करने वाले वित्तीय संस्थान बंद कर सकें और बेहतर प्रदर्शन करने वाले संस्थानों का विकास कर सकें.”

 

गवर्नर ने कहा कि मौद्रिक नीति की संरचना पर भी बातचीत चल रही है. यह दूरगामी कदम है. राजन ने कहा कि इससे देश वह मानक स्थापित कर लेगा, जो अन्य विकसिद देशों के पास है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: growth rate
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017