फर्जी टैक्स अधिकारियों को पहचानने का तरीकाः आयकर विभाग ने दी ये सूचना

फर्जी टैक्स अधिकारियों को पहचानने का तरीकाः आयकर विभाग ने दी ये सूचना

आयकर दाता यानी टैक्सपेयर के पास पूरा अधिकार है कि वो आयकर छापा मारने आए अधिकारियों के पहचान पत्र मांग सकें. उन्हें छापा मारने या पूछताछ करने आए अधिकारियों से उनके पहचान पत्र मांगने चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि वो असली आयकर अधिकारी ही हैं.

By: | Updated: 22 Sep 2017 11:36 PM

नई दिल्लीः इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का दिल्ली रीजन समय-समय पर ऐसे टैक्सपेयर्स के खिलाफ सर्च, सर्वे और वेरिफिकेशन की कवायद करता रहता है जिन्होंनें अपनी आय छुपाई हो या अपने ऐसेट्स की सही जानकारी न दी हो. हालांकि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को हाल ही में कई सूचनाएं मिली हैं जिनमें फर्जी आयकर अधिकारियों के लोगों के घर में घुसकर उन्हें लूटने की खबरें आई हैं. आयकर विभाग के दिल्ली रीजन ने ऐसी सूचना जारी की है जिसके जरिए फर्जी आयकर अधिकारियों को पहचाना जा सकता है.


आयकर दाता यानी टैक्सपेयर के पास पूरा अधिकार है कि वो आयकर छापा मारने आए अधिकारियों के पहचान पत्र मांग सकें. उन्हें छापा मारने या पूछताछ करने आए अधिकारियों से उनके पहचान पत्र मांगने चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि वो असली आयकर अधिकारी ही हैं. वॉरेंट पर दिए गए अथॉरिटीज की आईडेंडिटी को पुख्ता करें. फर्जी आई कार्ड के जरिए नकली आयकर अधिकारी बनने की घटनाएं भी सामने आई हैं.


हालांकि अगर लोगों को फिर भी कुछ शंकाएं हैं तो वो 9013850099 नंबर पर कॉल करके आयकर अधिकारियों के बारे में जानकारी ले सकते हैं. उन्हें इस नंबर पर कॉल करके सारी जानकारी मिल जाएगी कि उनके घर जो व्यक्ति खुद को इनकम टैक्स अधिकारी बता रहा है वो वास्तव में आयकर विभाग के दफ्तर से ही है या नहीं.


तो इस जानकारी का इस्तेमाल करके आप इनकम टैक्स विभाग के नाम पर किए जाने वाली किसी भी धोखाधड़ी से खुद को बचा सकते हैं. आयकर विभाग के दिल्ली रीजन ने खुद ये जानकारी साझा की है जिससे हाल ही में हुई लूट की घटनाएं फिर से दोहराई न जा सकें.


दिल्ली में एक हालिया मामले में 6 लोगों ने एक परिवार के सामने कथित तौर पर अपनी पहचान टैक्स विभाग के अधिकारियों के रूप में दी और कहा कि वे 20 लाख रुपये की टैक्स चोरी की जांच करने आये हैं.


जानें आदेश में क्या कहा गया
राजस्व विभाग ने आयकर छापे की फर्जी घटनाओं को देखते हुए आज कहा कि करदाताओं को अपनी जगहों की तलाशी लेने आये आयकर अधिकारी से पहले पहचान पत्र की मांग करनी चाहिए तथा अधिकार प्रदान करने वाले वारंट की जांच करनी चाहिए.


राजस्व विभाग ने बयान में कहा कि दिल्ली क्षेत्र में आयकर विभाग संदिग्ध कर चोरी मामलों में नियमित तौर पर तलाशी, सर्वेक्षण, सत्यापन आदि कार्य करते रहता है ताकि आय से अधिक की संपत्ति का खुलासा किया जा सके. उसने कहा, ‘‘हालांकि विभाग के संज्ञान में कुछ ऐसे मामले आये हैं जिसमें कुछ शरारती तत्वों ने नकली पहचान पत्र दिखा आयकर अधिकारी होने का दावा करते हुए अवैध और अनाधिकृत छापे मारे हैं.’’ विभाग ने कहा कि करदाताओं के पास पहचान मांगने और वारंट की जांच करने का अधिकार है. वे सत्यापन के लिए तत्काल सुपरवाइजर अधिकारी का नंबर मांग सकते हैं. यदि इसके बाद भी संशय रहता हो तो आयकर विभाग से 9013850099 पर दिल्ली क्षेत्र में कर अधिकारियों के सत्यापन के लिए संपर्क किया जा सकता है.


दिल्लीः रेड डालने आए फर्जी IT अधिकारियों की घरवालों ने की जमकर धुनाई

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Business News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story टीवी, मोबाइल फोन पर कस्टम ड्यूटी बढ़ी, वॉटर हीटर भी हो सकता है महंगा