'भारत 10000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बन सकता है'

By: | Last Updated: Monday, 24 November 2014 5:40 PM

नई दिल्ली: प्राइसवाटरहाउसकूपर्स (पीडब्ल्यूसी) ने सोमवार को एक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि भारत के पास 2034 तक 10 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने और नौ फीसदी सालाना विकास दर हासिल करने का अवसर है. कंपनी ने यहां सोमवार को ‘भारत का भविष्य: एक विजयी छलांग’ शीर्षक रिपोर्ट जारी की.

 

पीडब्ल्यूसी इंटरनेशनल के अध्यक्ष डेनिस नैली ने यहां रिपोर्ट को जारी करते हुए कहा कि रिपोर्ट में कारोबारियों और चिंतकों से बात कर इस बदलाव के लिए जरूरी रणनीतियों की पड़ताल की गई है.

 

इसमें कारपोरेट क्षेत्र और उद्यमियों को सरकार के साथ मिलकर एक उद्यमिता का माहौल बनाने की बात की गई है, ताकि नौ फीसदी की विकास दर का लक्ष्य हासिल किया जा सके.

 

पीडब्ल्यूसी इंडिया के अध्यक्ष दीपक कपूर ने कहा, “निगम अकेले विकास और इन्नोवेशन को बढ़ावा नहीं दे सकते हैं. इसलिए उद्यमिता क्षेत्र को भी भूमिका निभानी चाहिए, क्योंकि उनके पास इन्नोवेटिव समाधान ढूंढने, जोखिम उठाने की इच्छा और तेजी से फैसले लेने का स्वभाव होता है.”

 

रिपोर्ट में कहा गया है, “सरकार को भी राष्ट्रीय मंच तैयार कर मदद करनी चाहिए.”रिपोर्ट में कहा गया है कि नए समाधानों से ही 2034 तक 10 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य का 40 फीसदी हासिल किया जा सकता है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: india-bussiness
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP bussiness India
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017