आईएनजी वैश्य बैंक के कर्मचारी कोटक महिन्द्रा के साथ विलय को लेकर चिंतित

By: | Last Updated: Saturday, 3 January 2015 2:56 PM
ing

कोलकाता: आईएनजी वैश्य बैंक के कर्मचारियों और अधिकारियों ने कोटक महिंद्रा बैंक के साथ विलय के बाद अपने भविष्य के बारे में चिंता जाहिर की है. विलय एक अप्रैल 2015 से प्रभावी होगा.

 

आईएनजी वैश्य बैंक के अधिकारियों और कर्मचारियों के प्रवकत ने आज यहां कहा कि आईएनजी वैश्य बैंक प्रबंधन कर्मचारी संघों के साथ द्विपक्षीय समझौते की सेवा शर्तों को मानता रहा है लेकिन कोटक महिंद्रा बैंक के प्रबंधन ने विलय के बाद बनी नयी इकाई में शामिल होने के बाद मौजूदा सेवा शर्तों को बरकरार रखने के संबंध में कोई प्रतिबद्धता नहीं जताई है.

 

प्रवक्ता ने कहा कि कोटक महिंद्रा बैंक प्रबंधन ने यह भी कहा कि आईएनजी वैश्य बैंक के कर्मचारियों को पेंशन मिलेगी लेकिन यह मंहगाई भत्ते से जुड़ी नहीं होगी.

 

विलय के बाद बनी इकाई में आईएनजी वैश्य बैंक के 4,000 से अधिक कर्मचारियों को समाहित किया जाएगा.

 

विलय के बाद कोटक महिन्द्रा बैंक कारोबार के लिहाज से देश में निजी क्षेत्र का चौथा बड़ा बैंक बन जायेगा. निजी क्षेत्र में आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक तीन बड़े बैंक हैं.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ing
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017