आईफोन के बाद एप्पल लाएगी i car

आईफोन के बाद एप्पल लाएगी i car

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

न्यूयार्क: विश्व की अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनी एप्पल आईफोन के जरिए धूम मचाने के बाद अब जल्द ही अपने चाहने वालों के लिए आईकार भी पेश कर सकती है. वॉल स्ट्रीट जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, एप्पल अपनी इस परियोजना पर सैकड़ों की संख्या में कर्मचारियों को लगा चुकी है तथा कंपनी ने अपनी इस परियोजना को 'टाइटन' गुप्तनाम दिया है.

 

इस परियोजना की जिम्मेदारी आईपॉड और आईफोन निर्माण में सहयोगी रहे फोर्ड के इंजीनियर स्टीव जाडेस्की को सौंपी गई है.

 

हाल के समय में कारों में तेजी से इस्तेमाल की जाने लगी सूचना प्रौद्योगिकी को देखते हुए एप्पल ऑटो उद्योग में अन्य कंपनियों को कड़ी टक्कर दे सकती है.

 

सूचना प्रौद्योगिकी में अग्रणी एप्पल अपनी इस कार में टेलीमेटिक्स प्रौद्योगिकी, अत्यधिक सुरक्षित संचालन एवं चालक और यात्रियों के बीच संपर्क की सुविधा के साथ बिल्कुल नए फीचरों वाली कार बाजार में उतार सकती है.

 

पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं. आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है.

 

वेबसाइट 'वायर्ड डॉट कॉम' ने वाहनों पर शोध एवं उनका मूल्यांकन करने वाली अमेरिकी कंपनी 'केली ब्लू बुक' के वरिष्ठ विश्लेषक कार्ल ब्रायर के हवाले से कहा, "मुझे समझ नहीं आ रहा कि एक वाहन निर्माता के रूप में आप जरा भी चिंतित क्यों नहीं हैं."

 

विशेषज्ञों का मानना है कि एप्पल अपनी इस परियोजना पर पांच अरब डॉलर तक खर्च कर सकती है. वाहन निर्माता बनने की ओर अग्रसर एप्पल अपनी इस बिल्कुल नई कार पर सात से 10 वर्ष की अवधि में दो से चार अरब डॉलर तक खर्च कर सकती है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पीएनबी ने दिलाया ग्राहकों को भरोसाः हमारे पास पर्याप्त पैसा, सरकारी समर्थन