अब प्रेस करते हुए नहीं जलेंगे कपड़े

By: | Last Updated: Monday, 1 September 2014 3:49 PM

नई दिल्ली: ऐसा फिल्म और सीरियल में भी बरसों से दिखाया जा रहा है और हमारी असली जिंदगी में भी ऐसा हो जाता है कि  प्रेस करते हुए जरा सी लापरवाही से हमारे कपड़े जल जाते हैं.

 

कभी कपड़े प्रेस करते हुए हम उस कपड़े की तापमान सहनशीलता को नहीं समझ पाते तो कभी प्रेस करते हुए ध्यान अचानक दूसरी जगह होने या फ़ोन आदि आने के कारण से हम भूल जाते हैं कि गर्म प्रेस कपड़े पर रखी है.

 

जब अचानक जलने की गंध आती है तो पता लगता है कि मनपसंद-कीमती साड़ी,सूट या पेंट कमीज जलकर बेकार हो चुकी है.तब हम कभी खुद को कोसते हैं या अपनी पत्नी, नौकर या धोबी से लड़ते-डपटते हैं.लेकिन अब ऐसी स्थिति और ऐसे नज़ारे उन घरों में नज़र नहीं आएंगे जो फिलिप्स की नयी परफेक्ट केयर आयरन इस्तेमाल करेंगे.

 

अपने इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के लिए देश विदेश में मशहूर फिलिप्स इंडिया ने  हाल ही में नयी दिल्ली में अपनी इस नयी प्रेस का प्रदर्शन करने के साथ लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में प्रवेश के लिए अपना दावा भी ठोका.

 

आयरन में अपनी इनोवेटिव ‘ऑप्टीमलटेम्प’ तकनीक की शक्ति का प्रदर्शन कर  फिलिप्स इंडिया ने लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स के अधिकारियों के सामने आयरन के तापमान में परिवर्तन किये बिना 120 मिनट के अन्दर विभिन्न किस्म के 100 मीटर लंबे कपड़े को इस्त्री करके सबको हैरत में डाल दिया.

 

इस 100 मीटर लंबे बाल गाउन में 37 प्रकार के फैब्रिक्स थे.जिनमें सिल्क वेलवेट ,माईक्रो वेलवेट,लिनेन,कॉटन क्रश सेटीन्,जोर्जेट लेस से लेकर मटका कॉटन,मटका सिल्क,ओरेंग्जा सिल्क,क्रोमा ,प्योर सिल्क,चंदेरी फर,क्रेप और हेवी लाईका तक के फैब्रिक्स शामिल थे.

 

प्रदर्शन के दौरान बिना तापमान बदले सिर्फ एक ही तापमान पर इस्त्री करके दिखाया गया मगर फैब्रिक्स की जटिलता और कोमलता के बावजूद वह गाउन कहीं से भी रत्ती मात्र भी नहीं जला.यहाँ तक जब उस गर्म प्रेस को फूले हुए गुब्बारे पर लगाया गया तब भी गुब्बारा पूरी तरह सलामत रहा.

 

यूँ तो इस रिकॉर्ड को मान्यता मिलने में अभी कुछ समय लग सकता है.दूसरा यह प्रेस कपड़े को तो नहीं जलाएगी मगर इसे करते हुए यदि इसके तल पर हाथ लग जाता है तो हाथ जलने की सम्भावना बराबर बनी रहेगी.हाँ ऐसी स्थिति में करंट न लगे इस बात का पूरा ध्यान रखा गया है.

 

इस फिलिप्स परफेक्ट केयर आयरन-प्रेस के साथ 2.2 (टू पॉइंट टू) लीटर की पानी की टंकी भी जुडी हुई है.इसी टंकी से पानी  भाप बनकर इस्त्री में जाता है. साथ ही यह खूबसूरत टंकी आयरन स्टैंड का काम भी करती है.

 

इस आयरन लांच के साथ फिलिप्स इंडिया के अध्यक्ष (उपभोक्ता जीवन अंदाज़) ने बताया कि फिलिप्स इंडिया गारमेंट केयर की बाज़ार में अग्रणी कंपनी है और इसके ड्राई और स्टीम आयरन के पोर्टफोलियो में 30 किस्म के उत्पाद हैं. अपनी इस नयी आयरन के साथ फिलिप्स इंडिया भारतीय बाज़ार में प्रवेश करने वाला पहला स्टीम जनरेटर भी बन गया है.

 

फिलिप्स की इस परफेक्ट केयर आयरन में बेशक कुछ नयी विशेषताएं हैं लेकिन इस प्रेस को खरीदने के लिए उपभोक्ता को अपनी जेब काफी ढीली करनी पड़ेगी.क्योंकि इस प्रेस की कीमत 23495 रूपये है.इस कारण यह  यह प्रेस अभी आम उपभोक्ताओं के घरों का हिस्सा नहीं बन सकती.

 

जाहिर है कभी कभार कपड़े जलने के भय से निम्न और मध्य वर्ग के लोग इस इस्त्री को खरीदने का साहस नहीं कर सकते.लेकिन उच्च आय वर्ग के लोग इसे ख़ुशी ख़ुशी अपना सकते हैं या इस्त्री करने के पेशे से जुड़े बड़े वर्ग के लोगों के लिए भी यह वरदान साबित हो सकती है. परन्तु अधिक कीमत के कारण यह आधुनिक तकनीक और गुणों से संपन्न इस्त्री अभी आम उपभोक्ता की पहुँच से दूर ही रहेगी….

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Iron_Philips_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017