औद्योगिक उत्पादन 2.7 फीसदी बढ़ा, सरकार की कमाई में भी खासी बढ़ोतरी

By: शिशिर सिन्हा/एबीपी न्यूज | Last Updated: Friday, 10 March 2017 6:37 PM
औद्योगिक उत्पादन 2.7 फीसदी बढ़ा, सरकार की कमाई में भी खासी बढ़ोतरी

नई दिल्लीः आर्थिक मोर्चे पर अच्छी खबरों की झड़ी लगी है. औद्योगिक उत्पादन की विकास दर जहां जनवरी में पौने दो फीसदी के करीब पहुंच गयी, वहीं चालू कारोबारी साल के पहले ग्यारह महीनों में कर से सरकार की झोली खूब भरी.

ये तमाम आर्थिक आंकड़े ऐसे समय में आए हैं जब नोटबंदी के असर को लेकर चर्चा गरमाया हुआ है. कुछ जानकारों को अभी भी लगता है कि चालू कारोबारी साल की आखिरी तिमाही यानी जनवरी से मार्च के दौरान नोटबंदी का असर देखने को मिलेगा. लेकिन ताजा सरकारी आंकड़े इस बात की गवाही नहीं देते.

औद्योगिक विकास दर
कार और मोबाइल हैंडसेट के उत्पादन में जनवरी के दौरान तेजी देखने को मिली, वहीं केबल,हॉट रोल्ड कॉयल और खनिज के उत्पादन में बढ़त हुई. ध्यान रहे कि दिसम्बर के महीने में कार और मोबाइल हैंडेसट की बिक्री में काफी कमी आयी थी और इसकी वजह नोटबंदी बतायी गयी थी. लेकिन अब लगता है कि नोटबंदी का असर कम हो रहा है जिससे मांग बढ़ी और उसीके मद्देनजर उत्पादन भी बढ़ाया गया. इन सब कारणों से जनवरी के महीने में औद्योगिक उत्पादन के बढ़ने की दर 2.7 फीसदी रही. दिसम्बर के आंकड़ों में फेरबदल किया गया है और अब ये (-)0.4 फीसदी के बजाए (-)0.1 फीसदी रह गयी है. वहीं बीते साल के जनवरी की बात करें तो औद्योगिक विकास दर (-) 1.6 फीसदी दर्ज की गयी थी.

खास बात ये है कि मैन्युफैक्चरिंग यानी विनिर्माण के मामले में विकास दर 2 फीसदी से ज्यादा है. बीते साल जनवरी में और ठीक महीने भर पहले यानी दिसम्बर में भी नकारात्मक रही थी. मैन्युफैक्चरिंग की रफ्तार पर असर पड़ने का मतलब रोजगार के नए मौकों में कमी आना है. ये नहीं भूलना चाहिए कि यदि मैन्युफैक्चरिंग में प्रत्यक्ष रोजगार के एक मौके बनते हैं तो अप्रत्यक्ष तौर पर चार और लोगों को नौकरी मिलती है.

सरकार की झोली भरी
अच्छी खबर सरकारी खजाने को लेकर भी आयी है. प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर दोनो ही से कमाई बढ़ी है. प्रत्यक्ष कर में जहां मुख्य रुप से व्यक्तिगत आयकर औऱ निगम कर यानी कॉरपोरेट टैक्स शामिल हैं, वहीं अप्रत्यक्ष कर में सीमा शुल्क यानी कस्टम ड्यूटी, केंद्रीय उत्पाद शुल्क यानी सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी और सेवा कर यानी सर्विस टैक्स शामिल है. सरकार कह रही है कि इन आंकड़ों में बढ़ोतरी नोटबंदी से औद्योगिक काम काज ठप होने की आशंका को नकार रही है.

प्रत्यक्ष कर की बात करे तो चालू कारोबारी साल के पहले ग्यारह महीने यानी अप्रैल से फरवरी के दौरान कुल मिलाकर 6.17 लाख करोड़ रुपये (रिफंड देने के बाद) के बाद कमाई हुई. ये 2015-16 की समान अवधि के मुकाबले 10.7 फीसदी ज्यादा है. इस तरह सरकार बजटीय अनुमान का करीब 73 फीसदी जुटा चुकी है. मार्च के महीने में एडवांस टैक्स जमा कराया जाता है. लिहाजा सरकार को उम्मीद है कि वो लक्ष्य को हासिल कर लेगी.

दूसरी ओर अप्रत्यक्ष कर की बात करें तो कुल 7.72 लाख करोड़ रुपये जुटाए गए और वो भी तमाम तरह के रिफंड देने के बाद. ये रकम बीते साल की समान अवधि के मुकाबले 22 फीसदी ज्यादा है. अप्रत्यक्ष कर के संसोधित अनुमान का करीब 91 फीसदी जुटाया जा चुका है.

First Published: Friday, 10 March 2017 6:37 PM

Related Stories

पूजन सामग्री पर GST नहीं: स्मार्टफोन भी नहीं होंगे महंगे
पूजन सामग्री पर GST नहीं: स्मार्टफोन भी नहीं होंगे महंगे

नई दिल्लीः सरकार ने साफ किया कि जीएसटी लागू होने के बाद हवन सामग्री समेत पूजन सामग्री पर जीएसटी...

अप्रैल में मारुति SWIFT रही सबसे ज्यादा बिकने वाली हैचबैक कार, ALTO को पीछे छोड़ा
अप्रैल में मारुति SWIFT रही सबसे ज्यादा बिकने वाली हैचबैक कार, ALTO को पीछे छोड़ा

नई दिल्ली: मारुति सुजुकी देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली कारों की मैन्यूफैक्चर्र कंपनी है और कार...

बाजार में उछाल: सेंसेक्स 106 अंक ऊपर 30570 पर, निफ्टी 9450 के पास बंद
बाजार में उछाल: सेंसेक्स 106 अंक ऊपर 30570 पर, निफ्टी 9450 के पास बंद

नई दिल्लीः हफ्ते के पहले कारोबारी दिन आज भारतीय शेयर बाजार की चाल सुस्त पड़ गई. वैसे बाजार...

22 मई से भारतीय रेल के बेड़े में शामिल होगी तेजसः प्लेन जैसी खूबियों से लैस ट्रेन
22 मई से भारतीय रेल के बेड़े में शामिल होगी तेजसः प्लेन जैसी खूबियों से लैस...

नई दिल्लीः देश की अब तक की सबसे आधुनिक ट्रेन तेजस सोमवार से भारतीय रेल के बेड़े में शामिल हो...

मोदी सरकार के 3 सालः रोजगार के मोर्चे पर सरकार कितनी सफल?
मोदी सरकार के 3 सालः रोजगार के मोर्चे पर सरकार कितनी सफल?

नई दिल्लीः केंद्र की मोदी सरकार के 3 साल पूरे होने में बस 5 दिन बाकी हैं. विकास की राह पर ले जाकर...

सोने में फिर आई गिरावट, चांदी की चमक बढ़ी, 32,200 रुपये पर पहुंची
सोने में फिर आई गिरावट, चांदी की चमक बढ़ी, 32,200 रुपये पर पहुंची

नई दिल्ली: लगातार चढ़ने के बाद आज घरेलू सर्राफा बाजार में सोने के दाम फिर गिरे हैं. विदेशों में...

जानें- GST से कैसे बदलेगा आपका बजट, 1 जुलाई से क्या होगा सस्ता क्या होगा महंगा ?
जानें- GST से कैसे बदलेगा आपका बजट, 1 जुलाई से क्या होगा सस्ता क्या होगा महंगा ?

नई दिल्ली:  पूरे देश में जीएसटी यानी एक देश-एक बाजार की टैक्स दरें तय हो गई है. जीएसटी लागू होने...

 शिखर सम्मेलन में बोले पी चिदंबरम 'नोटबंदी से काला धन खत्म नहीं हुआ'
शिखर सम्मेलन में बोले पी चिदंबरम 'नोटबंदी से काला धन खत्म नहीं हुआ'

नई दिल्लीः आज एबीपी न्यूज के शिखर सम्मेलन में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने देश के आर्थिक...

GST में सेवाओं की दरें तय: शिक्षा, स्वास्थ्य इससे बाहर, मेट्रो, लोकल ट्रेन में सफर को छूट
GST में सेवाओं की दरें तय: शिक्षा, स्वास्थ्य इससे बाहर, मेट्रो, लोकल ट्रेन में...

नई दिल्लीः मोबाइल सेवाओं पर वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी की दर 18 फीसदी होगी. ये सर्विस टैक्स की...

सेंसेक्स में दिखी गिरावटः निफ्टी सपाट रहकर 9430 के नीचे बंद
सेंसेक्स में दिखी गिरावटः निफ्टी सपाट रहकर 9430 के नीचे बंद

नई दिल्लीः घरेलू शेयर बाजारों में आज दिन भर कारोबार में उतार चढ़ाव देखा गया. हालांकि आखिर में...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017