औद्योगिक उत्पादन 2.7 फीसदी बढ़ा, सरकार की कमाई में भी खासी बढ़ोतरी

By: शिशिर सिन्हा/एबीपी न्यूज | Last Updated: Friday, 10 March 2017 6:37 PM
औद्योगिक उत्पादन 2.7 फीसदी बढ़ा, सरकार की कमाई में भी खासी बढ़ोतरी

नई दिल्लीः आर्थिक मोर्चे पर अच्छी खबरों की झड़ी लगी है. औद्योगिक उत्पादन की विकास दर जहां जनवरी में पौने दो फीसदी के करीब पहुंच गयी, वहीं चालू कारोबारी साल के पहले ग्यारह महीनों में कर से सरकार की झोली खूब भरी.

ये तमाम आर्थिक आंकड़े ऐसे समय में आए हैं जब नोटबंदी के असर को लेकर चर्चा गरमाया हुआ है. कुछ जानकारों को अभी भी लगता है कि चालू कारोबारी साल की आखिरी तिमाही यानी जनवरी से मार्च के दौरान नोटबंदी का असर देखने को मिलेगा. लेकिन ताजा सरकारी आंकड़े इस बात की गवाही नहीं देते.

औद्योगिक विकास दर
कार और मोबाइल हैंडसेट के उत्पादन में जनवरी के दौरान तेजी देखने को मिली, वहीं केबल,हॉट रोल्ड कॉयल और खनिज के उत्पादन में बढ़त हुई. ध्यान रहे कि दिसम्बर के महीने में कार और मोबाइल हैंडेसट की बिक्री में काफी कमी आयी थी और इसकी वजह नोटबंदी बतायी गयी थी. लेकिन अब लगता है कि नोटबंदी का असर कम हो रहा है जिससे मांग बढ़ी और उसीके मद्देनजर उत्पादन भी बढ़ाया गया. इन सब कारणों से जनवरी के महीने में औद्योगिक उत्पादन के बढ़ने की दर 2.7 फीसदी रही. दिसम्बर के आंकड़ों में फेरबदल किया गया है और अब ये (-)0.4 फीसदी के बजाए (-)0.1 फीसदी रह गयी है. वहीं बीते साल के जनवरी की बात करें तो औद्योगिक विकास दर (-) 1.6 फीसदी दर्ज की गयी थी.

खास बात ये है कि मैन्युफैक्चरिंग यानी विनिर्माण के मामले में विकास दर 2 फीसदी से ज्यादा है. बीते साल जनवरी में और ठीक महीने भर पहले यानी दिसम्बर में भी नकारात्मक रही थी. मैन्युफैक्चरिंग की रफ्तार पर असर पड़ने का मतलब रोजगार के नए मौकों में कमी आना है. ये नहीं भूलना चाहिए कि यदि मैन्युफैक्चरिंग में प्रत्यक्ष रोजगार के एक मौके बनते हैं तो अप्रत्यक्ष तौर पर चार और लोगों को नौकरी मिलती है.

सरकार की झोली भरी
अच्छी खबर सरकारी खजाने को लेकर भी आयी है. प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर दोनो ही से कमाई बढ़ी है. प्रत्यक्ष कर में जहां मुख्य रुप से व्यक्तिगत आयकर औऱ निगम कर यानी कॉरपोरेट टैक्स शामिल हैं, वहीं अप्रत्यक्ष कर में सीमा शुल्क यानी कस्टम ड्यूटी, केंद्रीय उत्पाद शुल्क यानी सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी और सेवा कर यानी सर्विस टैक्स शामिल है. सरकार कह रही है कि इन आंकड़ों में बढ़ोतरी नोटबंदी से औद्योगिक काम काज ठप होने की आशंका को नकार रही है.

प्रत्यक्ष कर की बात करे तो चालू कारोबारी साल के पहले ग्यारह महीने यानी अप्रैल से फरवरी के दौरान कुल मिलाकर 6.17 लाख करोड़ रुपये (रिफंड देने के बाद) के बाद कमाई हुई. ये 2015-16 की समान अवधि के मुकाबले 10.7 फीसदी ज्यादा है. इस तरह सरकार बजटीय अनुमान का करीब 73 फीसदी जुटा चुकी है. मार्च के महीने में एडवांस टैक्स जमा कराया जाता है. लिहाजा सरकार को उम्मीद है कि वो लक्ष्य को हासिल कर लेगी.

दूसरी ओर अप्रत्यक्ष कर की बात करें तो कुल 7.72 लाख करोड़ रुपये जुटाए गए और वो भी तमाम तरह के रिफंड देने के बाद. ये रकम बीते साल की समान अवधि के मुकाबले 22 फीसदी ज्यादा है. अप्रत्यक्ष कर के संसोधित अनुमान का करीब 91 फीसदी जुटाया जा चुका है.

First Published: Friday, 10 March 2017 6:37 PM

Related Stories

फॉर्चून टॉप-50 लिस्ट में भारत से शामिल अकेली कॉर्पोरेट लीडर बनी एसबीआई चीफ अरुंधति भट्टाचार्य
फॉर्चून टॉप-50 लिस्ट में भारत से शामिल अकेली कॉर्पोरेट लीडर बनी एसबीआई चीफ...

मुंबई: भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की प्रमुख अरुंधति भट्टाचार्य को फॉर्चून की टॉप 50 महान नेताओं...

आयकर विभाग की जांच में 49,247 करोड़ रुपये का खुलासाः वित्त राज्यमंत्री
आयकर विभाग की जांच में 49,247 करोड़ रुपये का खुलासाः वित्त राज्यमंत्री

नई दिल्लीः इनकम टैक्स विभाग काले धन पर लगाम लगाने के लिए लगातार कड़े कदम ले रहा है और इसी कड़ी...

CBIC का नया नाम सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स होगा
CBIC का नया नाम सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स होगा

नई दिल्लीः पूरे देश को एक बाजार बनाने वाली व्यवस्था वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी के मद्देनजर अब...

1 अप्रैल तक शनिवार-रविवार को भी खुले रहेंगे बैंक, आरबीआई का निर्देश
1 अप्रैल तक शनिवार-रविवार को भी खुले रहेंगे बैंक, आरबीआई का निर्देश

मुंबई : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों और कुछ निजी बैंकों को 25...

सेबी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज को एफएंडओ ट्रेडिंग करने से बैन किया
सेबी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज को एफएंडओ ट्रेडिंग करने से बैन किया

नई दिल्ली:  स्टॉक मार्केट रेगुलेटर ने सेबी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज और 12 दूसरी कंपनियों पर शेयरों...

1 अप्रैल से बदल जाएंगे इन्कम टैक्स, बैंक और प्रॉपर्टी से जु़ड़े ये बड़े नियम !
1 अप्रैल से बदल जाएंगे इन्कम टैक्स, बैंक और प्रॉपर्टी से जु़ड़े ये बड़े नियम !

नई दिल्लीः 1 अप्रैल आने वाला है और नए वित्त वर्ष के साथसाथ आपकी रोजमर्रा की जिंदगी में भी कई...

5000 और 10,000 के नोट लाने की कोई योजना नहीं: सरकार
5000 और 10,000 के नोट लाने की कोई योजना नहीं: सरकार

नई दिल्लीः कई दिनों से बाजार में खबरे चल रही थीं कि सरकार 5000 और 10,000 रुपये का नया नोट लाने वाली है....

तेजी के बाद सेंसेक्स 29500 के करीब, निफ्टी 9100 के ऊपर बंद
तेजी के बाद सेंसेक्स 29500 के करीब, निफ्टी 9100 के ऊपर बंद

नई दिल्लीः भारतीय शेयर बाजार में आज तेजी के साथ कारोबार खत्म हुआ है. सेंसेक्स और निफ्टी 0.25 फीसदी...

लोकसभा में आज पेश किए जाएंगे GST से जुड़े चार विधेयक, एक जुलाई से होगा लागू
लोकसभा में आज पेश किए जाएंगे GST से जुड़े चार विधेयक, एक जुलाई से होगा लागू

नई दिल्ली: लोकसभा में आज देश में एक टैक्स वाले कानून जीएसटी से जुड़े चार विधेयक पेश किए जाएंगे....

केवल संसद तय कर सकती है कि जनता का धन कैसे खर्चा जाए: अरुण जेटली
केवल संसद तय कर सकती है कि जनता का धन कैसे खर्चा जाए: अरुण जेटली

नई दिल्ली: अक्सर ये सवाल उठते रहते हैं कि जनता के धन को राजनीतिक पार्टियां कैसे खर्च करती हैं...