IT SECTOR में छंटनी का सिलसिला जारी रहेगाः 2 लाख लोगों की छुट्टी होने के आसार !

lay offs will continue in IT Sector, 2 lakhs could be suffer

नई दिल्ली: हाल में आईटी सेक्टर में इन्फोसिस, कॉग्निजेंट, विप्रो और टेक महिंद्रा जैसी बड़ी कंपनियों में बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी हो रही है. विशेषज्ञों की मानें तो आईटी कंपनियों में कर्मचारियों की बाहर करने का यह सिलसिला अभी 1-2 साल और जारी रहेगा. माना जा रहा है कि नई टेक्‍नोलॉजी के अनुरूप खुद को तैयार न होने के चलते भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में हर साल करीब 2 लाख इंजीनियरों की सालाना छंटनी करने की तैयारी है. हर साल करीब 2 लाख आईटी प्रोफेशनल्स की सालाना छंटनी करने की खबर आईटी एंप्लाइज को चिंता में डाल सकती है.

ये हैं आईटी सेक्टर में छंटनी की बड़ी वजह !

  • नए ट्रेंड के मुताबिक परफॉर्मेंस के आकलन की प्रक्रिया के तहत हजारों की संख्या में कर्मचारियों को ‘पिंक स्लिप’ थमाई जा रही है यानी उन्हें नौकरी से निकाला जा रहा है.
  • जानकारों का कहना है कि आईटी सेक्टर में डिजिटलीकरण और ऑटोमेशन एक नई सामान्य सी बात हो गई है जिसके चलते छंटनी हो रही हैं.
  • हालांकि माना जा रहा है कि यह कॉस्ट कंटिंग या कॉस्ट कंट्रोल का हिस्सा है.
    बताया जा रहा है कि टार्गेटेड मार्केट में संरक्षणवादी कदमों से कंपनियों के मुनाफे पर दबाव पड़ रहा है.
  • अमेरिका, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे देशों में कड़े वर्क परमिट सिस्टम की वजह से भारतीय साफ्टवेयर एक्सपोर्टर्स पर खासतौर से असर पड़ा है.
  • आर्टिफिशयल इंटेलिजेंस (एआई) में नई प्रौद्योगिकी, रोबोटिक प्रक्रिया आटोमेशन और क्लाउड कंप्यूटिंग की वजह से कंपनियों अब कई तरह के काम कम वर्कफोर्स से कर सकती हैं. इसकी वजह से साफ्टवेयर कंपनियों को अपनी रणनीति पर नए सिरे से विचार करना पड़ रहा है.

टीमलीज सर्विसेज की एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट और को-फाउंडर रितुपर्णा चक्रवर्ती ने कहा, ‘‘यह ऐसी स्थिति है जबकि उपलब्ध प्रतिभाएं समय के हिसाब में खुद में बदलाव नहीं ला पाईं. इस वजह से कई कर्मचारी आज बेकार हो गए हैं.

ह्यूमन रिसोर्स सेक्टर से जुड़ी कंपनी हेड हंटर्स इंडिया के संस्थापक अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के. लक्ष्मीकांत के मुताबिक अभी शुरुआती तौर पर यह खबर आई है कि हर साल 56,000 आईटी प्रोफेशनल्स की छंटनी होगी. जबकि नई तकनीक के मुताबिक खुद को ढालने में आधी अधूरी तैयारी के चलते 3 साल तक हर साल वास्तव में 1.75 से 2 लाख आईटी पेशेवरों की छंटनी हो सकती है.

आईटी इंडस्‍ट्री में काम करने वाले पेशेवरों की संख्‍या 39 लाख
मैककिंसे एंड कंपनी के डायरेक्टर नोशिर काका ने भी कहा था कि आईटी इंड्स्ट्री के सामने 50-60 फीसदी कर्मचारी को फिर से ट्रेनिंग देने की बड़ी चुनौती होगी. इसके पीछे मुख्य वजह टेक्‍नोलॉजी में होने वाले बड़े बदलाव को बताया. रिपोर्ट के मुताबिक आईटी इंडस्‍ट्री में काम करने वाले पेशेवरों की संख्‍या 39 लाख है और इतने बडे पैमाने पर नई टेक्‍नोलॉजी पर काम करने की जरूरत होगी.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: lay offs will continue in IT Sector, 2 lakhs could be suffer
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

AIR INDIA: नए मेन्यू के साथ यात्रियों को लुभाने को तैयार
AIR INDIA: नए मेन्यू के साथ यात्रियों को लुभाने को तैयार

नई दिल्ली: सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर बिजनेस और फर्स्ट क्लास...

सुप्रीम कोर्ट का सुब्रत रॉय को 7 सितंबर तक 1500 करोड़ रुपये जमा कराने का आदेश
सुप्रीम कोर्ट का सुब्रत रॉय को 7 सितंबर तक 1500 करोड़ रुपये जमा कराने का आदेश

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय (सुप्रीम कोर्ट) ने आज सहारा समूह के मुखिया सुब्रत राय को 7 सितंबर तक 1500...

दिल्ली में CNG 1.11 रुपये प्रति किलो, PNG 33 पैसे प्रति यूनिट महंगी
दिल्ली में CNG 1.11 रुपये प्रति किलो, PNG 33 पैसे प्रति यूनिट महंगी

नई दिल्लीः दिल्ली में सीएनजी-पीएनजी इस्तेमाल करने वालों के लिए बुरी खबर है. सीएनजी की कीमत में...

आधार बनाम निजता का अधिकार, जान लें क्या है पूरा मसला
आधार बनाम निजता का अधिकार, जान लें क्या है पूरा मसला

नई दिल्लीः यूनिक आइडेंटफिकेशन नंबर या आधार कार्ड योजना की वैधता को चुनौती देने वाली कई...

IN DEPTH : कैसे AADHAR बना यूनीक पहचान का जरिया, कैसे PM मोदी बने मुरीद?
IN DEPTH : कैसे AADHAR बना यूनीक पहचान का जरिया, कैसे PM मोदी बने मुरीद?

नई दिल्लीः देश में आज लगभग हर काम के लिए आधार कार्ड मांगा जाता है. अब तक करीब 115 करोड़ आधार कार्ड...

रिकॉर्ड ऊंचाई छूने के बाद नीचे बाजारः निफ्टी 10,000 के नीचे, सेंसेक्स 32228 पर बंद
रिकॉर्ड ऊंचाई छूने के बाद नीचे बाजारः निफ्टी 10,000 के नीचे, सेंसेक्स 32228 पर बंद

नई दिल्लीः बाजार ने आज लाइफटाइम रिकॉर्ड बनाया और पहली बार निफ्टी 10000 के उच्चतम स्तर को पार करने...

शेयर बाजार में ऐतिहासिक उछाल, पहली बार निफ्टी 10 हज़ार के पार
शेयर बाजार में ऐतिहासिक उछाल, पहली बार निफ्टी 10 हज़ार के पार

मुंबई: देश के शेयर बाजारों में रिकॉर्ड स्तर पर तेजी जारी है. मंगलवार का दिन शेयर बाजार के लिए...

आज है INCOME TAX DAY: टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए इन बातों पर ध्यान दें
आज है INCOME TAX DAY: टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए इन बातों पर ध्यान दें

नई दिल्लीः इनकम टैक्स भरने की आखिरी तारीख आने में बस 8 दिन बचे हैं और अगर आपको जानकारी नहीं है तो...

क्या घटने वाली हैं इनकम टैक्स की दरें? वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दिया संकेत !
क्या घटने वाली हैं इनकम टैक्स की दरें? वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दिया संकेत !

नई दिल्लीः आयकर (इनकम टैक्स) की दरें कम हो सकती है. खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसके संकेत दिए...

आम्रपाली बिल्डर को झटकाः कंपनी के CEO रितिक कुमार, एमडी निशांत मुकुल गिरफ्तार
आम्रपाली बिल्डर को झटकाः कंपनी के CEO रितिक कुमार, एमडी निशांत मुकुल गिरफ्तार

नई दिल्लीः आम्रपाली ग्रुप के सीईओ रितिक कुमार सिन्हा और कंपनी के डायरेक्टर निशांत मुकुल को आज...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017