भूकंप: लोग मर रहे थे और उस वक्त अपने बिजनेस को बढ़ाने मे लगा था लेंसकार्ट!

By: | Last Updated: Saturday, 25 April 2015 6:13 PM
lenskart_shake it off like the earthquake

नई दिल्ली: ई-रिटेल कंपनी लेंसकार्ट को आज नेपाल व भारत में आए विनाशकारी भूकंप को चश्मे का कारोबार बढ़ाने का माध्यम बनाने लिए सोशल नेटवर्किंग साइटों पर लोगों की भारी आलोचना झेलनी पड़ी.

 

अंतत: कंपनी को विन्सेंट चेज धूपी चश्मे (सनग्लास) की बिक्री पर छूट का प्रचार अभियान बंद करना पड़ा और इसे ‘भूल’ बता कर खेद प्रकट करना पड़ा.

कंपनी ने छूट के लिए ग्राहकों से एक मैसेज 50 लोगों को भेज कर 3000 रुपए का चश्मा 500 रुपए में हासिल करने की पेशकश की थी. इसमें अंग्रेजी का जुमला ‘शेक इट आफ लाइक द अर्थक्वेक’ (भूकंप मचा दो) का इस्तेमाल किया था. कंपनी के इस विज्ञापन के बाद फेसबुक व ट्विटर पर कंपनी की जोरदार आलोचनाओं का सिलसिला चल पड़ा.

 

बाद में कंपनी ने एक और एसएमएस भेजकर गलती से किए गए शब्दों के चयन पर माफी मांगी. नए संदेश में कहा गया, ‘‘हम गलती से किए गए एसएमएस के शब्दों के चयन पर माफी मांगते हैं. हमारा इरादा किसी की भावना को आहत करना नहीं था.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: lenskart_shake it off like the earthquake
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017