दो मिनट वाली मैगी को मिली तीन लैबोरेट्री से हरी झंडी

By: | Last Updated: Friday, 16 October 2015 1:02 PM

नई दिल्लीः दो मिनट वाली मैगी नूडस्ल को तीन लैबोरेट्री से हरी झंडी मिल गयी है. ये सुनकर आपकी जीभ लपलपाए, उसके पहले ही हम आपको बता दें कि आपके प्लेट तक इसे पहुंचने में थोड़ा समय लगेगा.

 

मैगी नूडल्स के छह स्वाद वाले 90 सैंपल की जांच बांबे हाई कोर्ट की ओर से अधिकृत तीन लैबोरेट्री ने की. जांच रिपोर्ट में कहा गया कि लेड, तय मात्रा से काफी कम है, यानी सेहत को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा. इसी के बाद मैगी बनाने वाली कम्पनी नेस्ले ने अपने बयान में कहा कि ‘हम सबसे बड़े फूड रेग्युलेटर एफएसएसआई और दूसरे संबंधित पक्ष के साथ सहयोग करना जारी रखेंगे. बांबे हाई कोर्ट के आदेश पर अमल करते हुए अब हम मैगी का उत्पादन शुरु करेंगे. लेकिन नए उत्पाद को तीन लैबोरेट्री से हरी झंडी मिलने के बाद ही उन्हे बाजार में बेचना शुरु करेंगे.

 

तय मात्रा से ज्यादा लेड और गलत जानकारी देने के आधार पर इस साल में जून में मैगी नूडल्स पर पाबंदी लगी. इसके पहले साल भर में 1800 से 2000 करोड़ रुपये तक की सालाना बिक्री हो जाया करती थी जो कि कम्पनी की कुल आमदनी का करीब पांचवा हिस्सा है.

 

अगस्त में बांबे हाई कोर्ट ने सशर्त पाबंदी हटाने का फैसला दिया. अब नेस्ले इंडिया कह रही है कि ’20 करोड़ सैंपल की देश-विदेश में 3500 से ज्यादा जांच हुए और सभी रिपोर्ट में मैगी के सुरक्षित होने पर मुहर लगी.’

 

कम्पनी ये भी कह रही है कि वो जल्द मैगी नूडल्स बाजार में दोबारा लाने के लिए प्रतिबद्ध है.

 

लगता है कि शेयर बाजार को भी मैगी का बेसब्री से इंतजार है. इसीलिए शुक्रवार को नूडल्स नहीं मिला तो कारोबारियों ने नेस्ले के शेयर ही जमकर खऱीद डाले. नतीजा शेयर साढ़े पांच फीसदी से भी ज्यादा मुनाफे के साथ बंद है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: MAGGI PASSES THREE STEP OF TESTING
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Maggi passes test
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017