अंतर्राष्ट्रीय एजेंसी मूडी ने भारत की रेटिंग बढ़ाई, कहा- नई सरकार के फैसलों से भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूत होने के आसार

By: | Last Updated: Thursday, 9 April 2015 5:09 PM

नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी सरकार के कामकाज में बडा भरोसा दिखाते हुए रेटिंग एजेंसी मूडीज ने आज भारत के क्रेडिट रेटिंग (वित्तीय साख) परिदृश्य को सुधारकर ‘सकारात्मक’ श्रेणी में कर दिया, वहीं फिच ने इसे स्थिर पर कायम रखते हुए देश की आर्थिक वृद्धि में तेजी का अनुमान लगाया गया है, जिससे अगले 12 से 18 महीने में वह देश की सावरेन रेटिंग का उन्नयन कर सकती है.

 

वित्तीय साख किसी देश या संस्था की रिण चुकाने की क्षमता और निवेश वातावरण का संकेतक है.

 

भारत की सावरेन (सरकार संबंधी) रेटिंग इस समय ‘बीएए-3’ है, जो निवेशकों की दृष्टि से निम्न स्तरीय है और यह ‘जंक’ श्रेणी से केवल एक पायदान उपर है.

 

भारत के वित्तीय साख के परिदृश्य को ‘स्थिर’ से ‘सकारात्मक’ श्रेणी में रखते हुये मूडीज ने कहा है कि भारत पिछले एक दशक से अपनी तरह के अन्य देशों की तुलना में अधिक तेजी से वृद्धि कर रहा है. एजेंसी के अनुसार देश के नीति नियामकों के सुधारवादी कदमों से आने वाले वषरे में देश की आर्थिक एवं वित्तीय शक्ति और मजबूत होने की उम्मीद है.

 

वहीं रेटिंग एजेंसी फिच ने भारत के साख परिदृश्य ‘स्थिर’ बनाए रखा जो बीबीबी माइनस के बराबर है. इसके साथ ही एजेंसी ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए अपने वास्तविक जीडीपी वृद्धि अनुमान को बढाकर आठ प्रतिशत कर दिया है जो रिजर्व बैंक के 7.8 प्रतिशत के अनुमान से अधिक है. 2016-17 के लिए उसने वृद्धि दर के अनुमान को बढ़ाकर 8.3 प्रतिशत कर दिया है.

 

मूडीज के सरकार संबंधी वित्तीय साख विश्लेषक अत्सि सेठ ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘…अब इस बात की संभावना बढ़ी है कि अगले 12 से 18 महीने में भारत सरकार की वित्तीय साख का आधार मजबूत होगा और इसे मौजूदा ‘बीएए-3’ रेटिंग से उंची श्रेणी में रखा जा सकेगा.’’ किसी देश की सावरेन रेटिंग व परिदृश्य को आमतौर पर विदेशी निवेशकों और वैश्विक निकायों द्वारा उसके निवेश माहौल के बारे में अनुमान लगाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. वित्त मंत्री अरण जेटली ने रेटिंग के उन्नयन पर कहा कि यह ‘महत्वपूर्ण’ है, लेकिन सरकार को अभी बहुत कुछ करना है.

 

वित्त मंत्री अरण जेटली ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर लिखा, ‘‘मूडीज ने रेटिंग परिदृश्य को ‘स्थिर’ से ‘सकारात्मक’ कर दिया है और ‘बीएए-3’ रेटिंग बरकरार रखी है. परिदृश्य में सुधार महत्वपूर्ण है, लेकिन अभी हमें बहुत कुछ करने की जरूरत है.

 

रेटिंग में सुधार पर शेयर बाजारों ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी. बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज 177 अंक चढ़कर एक माह के उच्चस्तर 28,885.21 अंक पर पहुंच गया. मूडीज ने भारत को 2004 से ही इस श्रेणी में रखा हुआ है. इंडोनेशिया, आइसलैंड और तुर्की जैसे देश भी उसकी इसी श्रेणी में आते हैं. स्टैंडर्ड एंड पूअर्स जैसी अन्य वैश्विक क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों ने भी भारत की सरकारी वित्तीय साख को इसी श्रेणी में रखा है, क्योंकि उनकी राय में देश में मुद्रास्फीति का दबाव अब भी उंचा है और केन्द्र और राज्य सरकारों पर कर्ज का बोझ अधिक है.

 

रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि यह पिछली कुछ तिमाहियों में हमने जो किया है उसके प्रति सकारात्मक अवधारणा है. हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने सरकार व नियामकांे को आगाह किया कि उन्हें इस बात को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए कि आगे और क्या करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि उन्नयन का हमें जश्न नहीं मनाना चाहिए क्योंकि हम रेटिंग घटने की चिंता नहीं करते हैं. मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन ने कहा कि रेटिंग में सुधार से यह साबित हुआ है कि सरकार सही दिशा में आगे बढ़ रही है. यह राजकोषीय अनुशासन पर सरकार की प्रतिबद्धता को उचित ठहराता है.

 

वित्त राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने यहां संवाददाताओं से कहा ‘‘मूडीज के फैसले से यह पुष्टि होती है कि रेटिंग एजेंसियों, वैश्विक निवेशकों और हमारी अपनी घरेलू कंपनियों को भारत की वृद्धि से जुड़े परिदृश्य और एक संप्रभु देश के तौर पर हमारी वित्तीय ताकत में भरोसा है.’’ राजस्व सचिव शक्तिकांत दास ने कहा कि इससे भारत के प्रति निवेशकों का भरोसा बढ़ेगा.

 

वित्त सचिव राजीव महर्षि कहा कि यह घटनाक्रम बजट में घोषित सकारात्मक कार्यक्रमों व नीतियों की पुष्टि करता है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: moodys_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: economy Modi Sarkar moodys
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017