छत्तीसगढ़ में कोयले की कमी नहीं : रमन

By: | Last Updated: Saturday, 19 July 2014 4:55 PM
no_problem_of_coal_in_Chhattisgarh

रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने शनिवार को कहा कि छत्तीसगढ़ में कोयले की कमी नहीं है और बिजली उत्पादन पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ रहा है. उन्होंने स्पष्ट किया कि कोयले का पर्याप्त भंडार है, बिजली उत्पादन जारी है, प्रदेश में बिजली संकट की आशंका निर्मूल है. मीडिया से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री रमन सिंह और ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव अमन सिंह ने कोयले की कमी से इनकार किया है.

 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में कोयले की कमी के चलते बिजली उत्पादन पर असर पड़ने की संभावना जताई जा रही है, लेकिन छत्तीसगढ़ में इसका कोई असर नहीं पड़ेगा. प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में कोयला है. बिजली कंपनी ने कोयले की आपूर्ति के लिए एसईसीएल भी बात की है.

 

विभागीय सूत्रों के मुताबिक, कोरबा पूर्व-पश्चिम के संयंत्रों से बिजली उत्पादन का कार्य जारी है और इन संयंत्रों से 2424 मेगावाट बिजली उत्पादन किया जा रहा है. वहीं 210 मेगावाट की एक यूनिट मरम्मत के लिए बंद की गई है.

 

बताया जा रहा है कि एसईसीएल से प्रति वर्ष 12.4 लाख टन कोयले का उत्पादन होता है. ऐसे में एनटीपीसी की कोरबा और सीपत इकाई में कोयले की कमी के कारण बिजली उत्पादन प्रभावित नहीं होगा.

 

ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया कि छत्तीसगढ़ में बिजली उत्पादन के लिए कोयले का संकट नहीं है. एसईसीएल को कोयले का भंडार बढ़ाने को कहा गया है.

 

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों छत्तीसगढ़ में भी कोयले का संकट उत्पन्न हो गया था, लेकिन राज्य सरकार ने एसईसीएल के मुख्य प्रबंध निदेशक से बात कर कोयले की उपलब्धता और स्टॉक बढ़ाने को कहा था. इसके बाद छत्तीसगढ़ विद्युत उत्पादन कंपनी को पर्याप्त मात्रा में कोयले का स्टॉक दिया गया है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: no_problem_of_coal_in_Chhattisgarh
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017