संसद में ट्राई संशोधन विधेयक पारित

By: | Last Updated: Tuesday, 15 July 2014 5:23 PM

नई दिल्ली: संसद ने मंगलवार को भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) अधिनियम में संशोधन से संबंधित विधेयक पारित कर दिया. यह विधेयक ट्राई के पूर्व अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव के रूप में नियुक्ति का मार्ग प्रशस्त करने के लिए लाया गया है. यह विधेयक ट्राई अधिनियम में संशोधन के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार की ओर से लाए गए एक अध्यादेश का स्थान लेगा. मौजूदा ट्राई अधिनियम ट्राई के अध्यक्ष या इसके सदस्य को सेवानिवृत्ति के बाद केंद्र या राज्य सरकारों में कोई पद ग्रहण करने से रोकता है.

 

 

मंगलवार को यह विधेयक राज्यसभा में पारित हो गया. एक दिन पहले यह लोकसभा में पारित हो गया था.

 

विधेयक का विरोध करते हुए कांग्रेस नेता मणि शंकर अय्यर ने कहा, “यह विधेयक कानून का उल्लंघन है. प्रधानमंत्री के पास कानून के खिलाफ जाने के अलावा कई और विकल्प थे.”

 

अय्यर ने कहा, “सिर्फ एक व्यक्ति के लिए कानून बदलने के विचार के पीछे गलत मंशा है. इसका सिर्फ एक कारण है कि प्रधानमंत्री उन्हें (मिश्रा) रखने की जिद पर अड़े हैं. यह अधिनायकवादी तौर तरीका है.”

 

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने हालांकि कहा कि यह किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं है.

 

उन्होंने कहा, “विधेयक किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं है. क्या हमें यह मान लेना चाहिए कि भविष्य में ट्राई का कोई ऐसा अध्यक्ष नहीं होगा, जिसकी सेवा की जरूरत सरकार को हो? यह ट्राई को अन्य नियामकीय एजेंसी के समान बनाने का प्रयास है.”

 

उन्होंने कहा कि मिश्रा को उनकी योग्यता और प्रतिभा के कारण प्रधान सचिव पद के लिए चुना गया है.

 

मिश्रा उत्तर प्रदेश कैडर के 1967 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं. प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के रूप में उनकी नियुक्ति प्रधानमंत्री कार्यकाल के साथ या अगले आदेश तक समाप्त होगी.

 

विपक्ष ने यह मुद्दा उठाया कि आखिर एक व्यक्ति के लिए सरकार कानून में बदलाव क्यों कर रही है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: parliament_trai_amendment_act_pass
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017