नोटबंदी से कितना कालाधन खत्म हुआ, इसकी कोई जानकारी नहीं: रिजर्व बैंक

साथ ही केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसे यह भी पता नहीं है कि 500 और 1000 के नोटों को बंद करने के बाद नोटों को बदलने की प्रक्रिया में कितनी बेहिसाबी नकदी को वैलिड कैश में बदला गया है.

By: | Last Updated: Monday, 4 September 2017 11:10 PM
RBI has no information about how much Black money destroyed through Demonetisation

नई दिल्ली: कालेधन को रोकने के लिए पीएम मोदी ने जिस नोटबंदी का एलान किया था वो कितनी सफल रही इसको लेकर कोई उत्साहजनक जवाब नहीं मिल पा रहा है. भारतीय रिजर्व बैंक ने एक संसदीय समिति से कहा है कि उसके पास इस बारे में ‘कोई सूचना’ नहीं है कि नोटबंदी से कितना कालाधन समाप्त हुआ है. साथ ही केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसे यह भी पता नहीं है कि 500 और 1000 के नोटों को बंद करने के बाद नोटों को बदलने की प्रक्रिया में कितनी बेहिसाबी नकदी को वैलिड कैश में बदला गया है.

15.28 लाख करोड़ रुपये के बंद किये गये नोट लौटे
पिछले सप्ताह आखिरकार रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के बाद वापस लौटे नोटों का आंकड़ा सार्वजनिक किया है. इसमें कहा गया है कि नोटबंदी के बाद चलन से बाहर किए गए नोटों में से 15.28 लाख करोड़ रुपये तंत्र में वापस लौटे हैं. यह बंद नोटों का करीब 99 फीसदी बैठता है. रिजर्व बैंक ने कहा कि नोटबंदी के बाद अनुमानत: 15.28 लाख करोड़ रुपये के बंद किये गये नोट लौटे हैं. भविष्य में सत्यापन की प्रक्रिया में इस आंकड़े में सुधार किया जा सकता है. केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसके पास इस बात की भी सूचना नहीं है कि क्या नियमित अंतराल के बाद नोटबंदी की किसी तरह की योजना है.

केंद्रीय बैंक को बंद नोटों के आंकड़े देने में विलंब के लिए विपक्षी दलों की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है. हालांकि, सरकार लगातार यह दावा कर रही है कि 8 नवंबर, 2016 को बड़े मूल्य के नोटों को बंद करने के फैसले से कालेधन पर अंकुश लगाने में मदद मिली है और साथ ही इसके अन्य फायदे भी हुए हैं.

वापस लौटे नोटों के सत्यापन की प्रक्रिया अभी जारी
केंद्रीय बैंक ने यही आंकड़े वित्त पर संसद की स्थायी समिति से भी साझा किए हैं. समिति के सवालों के जवाब में रिजर्व बैंक ने कहा कि वापस लौटे नोटों के सत्यापन की प्रक्रिया अभी जारी है. वहीं बैंकों और डाकघरों द्वारा स्वीकार किए गए 500 और 1000 के कुछ पुराने नोट अभी भी करेंसी चेस्ट में पड़े हैं. केंद्रीय बैंक ने यह भी सूचित किया है कि यह बड़ा आंकड़ा है ऐसे में सत्यापन की प्रक्रिया को पूरा करने में अभी कुछ समय लगेगा. यह काम तेजी से जारी है और ज्यादातर रिजर्व बैंक कार्यालय दो पालियों में काम कर रहे हैं. इसके लिए हाई एंड सत्यापन मशीनों का इस्तेमाल किया जा रहा है.

पुराने नोट बदलने में कितना कालाधन सफेद इसका भी आंकड़ा नहीं
रिजर्व बैंक ने समिति को लिखित जवाब में कहा, ‘‘जब तक रिजर्व बैंक इन नोटों के आंकड़ों का पूरी तरह सत्यापन नहीं कर लेता, तब तक इसके बारे में अनुमान ही दिया जा सकता है. भविष्य में इसमें सुधार से पहले 30 जून तक कुल 15.28 लाख करोड़ रुपये के बंद नोटों का आंकड़ा उसके पास है.

इस सवाल कि नोटबंदी से कितना कालाधन खत्म हुआ है, केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसके पास इसकी कोई सूचना नहीं है. कितना कालाधन पुराने नोटों को बदलने की प्रक्रिया में सफेद हुआ है इस पर भी रिजर्व बैंक ने यही जवाब दिया है कि उसके पास इसकी कोई सूचना नहीं है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: RBI has no information about how much Black money destroyed through Demonetisation
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017