कैश ट्रांजेक्शन पर चार्ज लगाने का एसबीआई चेयरपर्सन ने किया समर्थन

By: मृत्युंजय सिंह/एबीपी न्यूज | Last Updated: Wednesday, 8 March 2017 5:43 PM
कैश ट्रांजेक्शन पर चार्ज लगाने का एसबीआई चेयरपर्सन ने किया समर्थन

नई दिल्लीः हाल ही में एचडीएफसी, एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक द्वारा 4 ट्रांजैक्शन से अधिक पर चार्ज लगाने का एसबीआई की चेयरपर्सन अरुंधति भट्टाचार्य ने समर्थन किया है. एसबीआई चीफ ने कहा कि आने वाले दिनों में अधिक ट्रांजैक्शन पर एसबीआई भी चार्ज लगा सकती है.

अरुंधति भट्टाचार्य ने कहा है कि इन चार्जेज के आने से बैंकों के ग्राहक ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करेंगे. बैंकों को कैश को छापने, एटीएम सेंटर ले जाने, सुरक्षा देने में भी खर्च आता है और इस खर्च को आम करदाता ही भरते हैं. आमतौर पर रोज कैश निकालने का काम बिजनेस करने वाले लोग करते हैं और बैंक चाहते हैं बिजनेस कैशलेस हो जाए जिससे बैंकिंग पर दबाव और खर्च दोनों कम हों. एटीएम से लिमिट तय करने का मकसद भी यही है कि लोग अब एटीएम का उपयोग कम करेंगे क्योंकि इन सब में भी खर्च आते हैं.

अरुंधति भट्टाचार्य ने मेट्रो शहरो में 5000 रुपये तक न्यूनतम बैलेंस पर कहा कि एसबीआई देश में अकेला ऐसा बैंक है जो अन्य बैंकों की तुलना में सबसे कम बैलेंस को अनिवार्य रख रहा है. यह जरुरत सभी बैंक में है जिसे सन 2012 में एसबीआई ने हटा दिया था.

आज के समय एसबीआई के ऊपर काफी ज्यादा बोझ है, बैंक को 11 करोड़ जनधन अकाउंट भी देखने हैं और ये सब मैनेज करने के लिए चार्जेज की जरूरत होती है तो एसबीआई ने जो चार्ज लगाए हैं वो वाजिब ही हैं.

हमने पाया कि ज्यादातर लोग 5000 या उससे ज्यादा अकाउंट में रखते हैं और उनको कोई चिंता नहीं है क्योंकि उन पर कोई चार्ज नहीं लगता है. इस चलन को दूर करना चाहिए. ग्रामीण इलाकों में 1000 रुपये न्यूनतम बैलेंस की जरूरत है जबकि जन-धन पर कोई चार्ज नहीं लगता है. इस तरह बैंकों ने चार्ज भी लगाए हैं तो भी सभी वर्गों का ध्यान रखा है. इसलिए जो बातें चल रही है उसका कोई आधार नहीं है और बैंकों के चार्जेज पर सवाल उठाना सही नहीं है.

First Published: Wednesday, 8 March 2017 5:43 PM

Related Stories

फॉर्चून टॉप-50 लिस्ट में भारत से शामिल अकेली कॉर्पोरेट लीडर बनी एसबीआई चीफ अरुंधति भट्टाचार्य
फॉर्चून टॉप-50 लिस्ट में भारत से शामिल अकेली कॉर्पोरेट लीडर बनी एसबीआई चीफ...

मुंबई: भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की प्रमुख अरुंधति भट्टाचार्य को फॉर्चून की टॉप 50 महान नेताओं...

आयकर विभाग की जांच में 49,247 करोड़ रुपये का खुलासाः वित्त राज्यमंत्री
आयकर विभाग की जांच में 49,247 करोड़ रुपये का खुलासाः वित्त राज्यमंत्री

नई दिल्लीः इनकम टैक्स विभाग काले धन पर लगाम लगाने के लिए लगातार कड़े कदम ले रहा है और इसी कड़ी...

CBIC का नया नाम सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स होगा
CBIC का नया नाम सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स होगा

नई दिल्लीः पूरे देश को एक बाजार बनाने वाली व्यवस्था वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी के मद्देनजर अब...

1 अप्रैल तक शनिवार-रविवार को भी खुले रहेंगे बैंक, आरबीआई का निर्देश
1 अप्रैल तक शनिवार-रविवार को भी खुले रहेंगे बैंक, आरबीआई का निर्देश

मुंबई : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों और कुछ निजी बैंकों को 25...

सेबी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज को एफएंडओ ट्रेडिंग करने से बैन किया
सेबी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज को एफएंडओ ट्रेडिंग करने से बैन किया

नई दिल्ली:  स्टॉक मार्केट रेगुलेटर ने सेबी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज और 12 दूसरी कंपनियों पर शेयरों...

1 अप्रैल से बदल जाएंगे इन्कम टैक्स, बैंक और प्रॉपर्टी से जु़ड़े ये बड़े नियम !
1 अप्रैल से बदल जाएंगे इन्कम टैक्स, बैंक और प्रॉपर्टी से जु़ड़े ये बड़े नियम !

नई दिल्लीः 1 अप्रैल आने वाला है और नए वित्त वर्ष के साथसाथ आपकी रोजमर्रा की जिंदगी में भी कई...

5000 और 10,000 के नोट लाने की कोई योजना नहीं: सरकार
5000 और 10,000 के नोट लाने की कोई योजना नहीं: सरकार

नई दिल्लीः कई दिनों से बाजार में खबरे चल रही थीं कि सरकार 5000 और 10,000 रुपये का नया नोट लाने वाली है....

तेजी के बाद सेंसेक्स 29500 के करीब, निफ्टी 9100 के ऊपर बंद
तेजी के बाद सेंसेक्स 29500 के करीब, निफ्टी 9100 के ऊपर बंद

नई दिल्लीः भारतीय शेयर बाजार में आज तेजी के साथ कारोबार खत्म हुआ है. सेंसेक्स और निफ्टी 0.25 फीसदी...

लोकसभा में आज पेश किए जाएंगे GST से जुड़े चार विधेयक, एक जुलाई से होगा लागू
लोकसभा में आज पेश किए जाएंगे GST से जुड़े चार विधेयक, एक जुलाई से होगा लागू

नई दिल्ली: लोकसभा में आज देश में एक टैक्स वाले कानून जीएसटी से जुड़े चार विधेयक पेश किए जाएंगे....

केवल संसद तय कर सकती है कि जनता का धन कैसे खर्चा जाए: अरुण जेटली
केवल संसद तय कर सकती है कि जनता का धन कैसे खर्चा जाए: अरुण जेटली

नई दिल्ली: अक्सर ये सवाल उठते रहते हैं कि जनता के धन को राजनीतिक पार्टियां कैसे खर्च करती हैं...