अपने सौ बरस के इतिहास में पहली बार लौह अयस्क खरीद रही है टाटा स्टील

By: | Last Updated: Sunday, 7 December 2014 1:10 PM
tata steel_iron ore

नई दिल्ली: टाटा स्टील को अपने सौ बरस के इतिहास में पहली बार लौह अयस्क की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है. टाटा स्टील इस समय जमशेदपुर स्थित अपनी 97 लाख सालाना क्षमता के संयंत्र का परिचालन घरेलू स्रोतों से खरीदे गए और आयातित कच्चे माल से कर रही है.

 

कंपनी ने देश में अपनी एकमात्र इस्पात विनिर्माण सुविधा के लिए 23 लाख टन लौह अयस्क खरीदा है. उसने कहा है कि यदि बंद पड़ी खानों में उत्पादन शुरू नहीं होता है, तो यह खरीद और बढ़ सकती है.

 

टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टी वी नरेंद्रन ने कहा, ‘‘अपने इतिहास में हम पहली बार अपने संयंत्रों का परिचालन बाहर से खरीदे गए लौह अयस्क से कर रहे हैं, क्योंकि हमारी सारी खानें बंद हैं.

 

यह झारखंड व ओड़िशा दोनों के साथ मुद्दा है. रांची और कटक हाई कोर्ट दोनों जगह हमारे मामले चल रहे हैं.’’ उन्होंने बताया कि कंपनी ने सार्वजनिक क्षेत्र की एनएमडीसी से लौह अयस्क खरीदा है.

 

इसके अलावा वह आस्ट्रेलिया से भी लौह अयस्क का आयात कर रही है. कंपनी ने जहां एनएमडीसी से आठ लाख टन अयस्क खरीदा है, वहीं शेष आस्ट्रेलिया से आयात किया गया है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: tata steel_iron ore
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: tata steel
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017