रेल बजट को आम बजट में मिलाने के ये बड़े नुकसान हुए जो नहीं जानते आप !

By: | Last Updated: Thursday, 2 February 2017 12:21 PM
रेल बजट को आम बजट में मिलाने के ये बड़े नुकसान हुए जो नहीं जानते आप !

नई दिल्लीः कल देश के आम बजट में वित्त मंत्री ने रेल बजट के नाम पर जो चंद ऐलान किए उससे रेल बजट को आम बजट में मिलाने के फैसले पर सवाल उठ रहे हैं. रेल बजट में हर साल भारतीय रेल के बीते साल के कामकाज की समीक्षा होती है पर इस बार ऐसा कुछ नहीं हुआ. पिछले साल रेल बजट में रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ऐलान किया था कि वो रेलवे के सालभर के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड पेश करेंगे. पर इस बार वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रेल बजट के ऐलान किए और उसमें रेलवे की प्रोग्रेस रिपोर्ट का दूर-दूर तक जिक्र नहीं था.

बजट में इन बातों का जिक्र गायब था जो रेल बजट का अहम हिस्सा होते हैं

  • सबसे पहले बीते साल में रेलवे की वित्तीय हालत कैसी रही और आने वाले साल के लिए रेलवे के खर्च का कोई डिटेल्ड विवरण नहीं था.
  • वित्त वर्ष 2015-16 में रेलवे ने जिन नई ट्रेनों को चलाने की बात की थी उनकी क्या प्रगति रही इसका उत्तर नहीं दिया. पिछले साल रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने तेजस, हमसफर, अंत्योदय, उदय ट्रेनों का लाने का ऐलान किया था पर ये ट्रेनें चलनी शुरू हुई या नहीं इसका जवाब नहीं था.
  • रेलवे का ऑपरेटिंग रेश्यो बढ़ाने की बात हुई लेकिव वित्तीय वर्ष 2015-2016 में रेलवे का ऑपरेटिंग रेश्यो कितना और कैसा रहा इसका ऐलान ना होना हैरान करता है. ऑपरेटिंग रेश्यो यानी रेलवे 1 रुपया कमाने के लिए कितना पैसा खर्च करती है इसका कोई जिक्र ना होने से पता ही नहीं चलेगा कि रेलवे की आर्थिक हालत कितनी बेहतर या बदतर हुई है.
  • रेल बजट में पिछले साल किस मद से कितना पैसा आया और कहां खर्च हुआ इसका कोई जिक्र नहीं था. लिहाजा रेलवे के कामकाज में पारदर्शिता कैसी रहेगी इसको लेकर वित्त मंत्री ने कोई ऐलान नहीं किया है.
  • रेल बजट में नई पटरियां बिछाने, ट्रेन चलाने, नए कोच का ऑर्डर देने से जुड़े ऐलान होते हैं जिनका रेल कंपनियों, लोकोमोटिव कंपनियों को बड़ा इंतजार रहता है. पर इस बार रेल बजट के सबसे बड़े ऐलान नहीं हुए जो इन कंपनियों और रेलवे सेक्टर के लिए बड़ा निराशाजनक है.
  • रेल बजट से पहले रेल कंपनियों के शेयरों में जो उछाल आता है उससे भी रेल कंपनियां महरूम रह गई.

रेल बजट के आम बजट में विलय होने से ये हुए नुकसान
अरुण जेटली ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए रेल बजट आवंटन बढ़ा कर 1 लाख 31 हजार करोड़ रुपये कर दिया जो पिछले साल 1 लाख 21 हजार करोड़ रुपये था. यानी 10 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्ट बजटीय आवंटन. इसमें से रेलवे की बजटीय सहायता 55 हजार करोड़ रुपये की है जो पिछले साल 46 हजार करोड़ रुपये थी.

हर साल रेल बजट में देश के राज्यों को उम्मीद रहती है कि उनके राज्य के लिए कोई खास ऐलान होंगे या किसी नई ट्रेन का ऐलान होगा पर इस बार ऐसा कुछ नहीं हुआ. सिर्फ तीर्थ स्थानों और पर्यटन स्थलों के लिए नई ट्रेनों लाई जाएंगी ऐसा ऐलान किया गया है जो साफ नहीं है कि कब तक लाई जाएंगी.

रेलवे के कामकाज का कोई आंकड़ा इस बार मुहैया नहीं कराया गया जिससे ये पता चला मुश्किल हो गया है कि रेलवे की आर्थिक, कामकाजी ऑपरेशनल स्थिति कैसी है जिसके चलते रेलवे के ऊपर टार्गेट पूरे करने या सही रिपोर्ट पेश करने का दबाव ही खत्म हो गया है जो कुल मिलाकर भारतीय रेलवे के लिए ही मुकसानदेह साबित हो सकता है.

रेल बजट में हुए ये फायदेमंद ऐलान
कल के बजट में रेलवे के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का रेलवे सेफ्टी फंड बनाने का ऐलान हुआ जो रेलवे की यात्रा को सुरक्षित बनाने में उपयोगी साबित होगा. वहीं रेलवे के ई-टिकटों पर सर्विस चार्ज खत्म करने से यात्रियों के लिए ऑनलाइन रेलवे टिकट मामूली रूप से सस्ते हुए हैं रेलवे के बजट की अच्छी बात कही जा सकती है. इसके अलावा जो ऐलान हुए हैं वो कमोबेश पिछले रेल बजट का ही विस्तार था जिनसे यात्रियों को कोई खास फायदा नहीं दिखाई दे रहा है.

रेल बजट से जुड़ी और खबरें यहां पढ़ें

BUDGET 2017: रेलवे के लिए हुए ये बड़े ऐलान जिनसे बदलेगी रेलवे की सूरत

बजट 2017: जानिए- सरकार ने रेल मुसाफिरों को क्या बड़ी खुशखबरी दी है

फिर भी ई-टिकट महंगा रहेगा खिड़की टिकट से!

बजट में प्रधानमंत्री की सोच की छाप: रेल मंत्री सुरेश प्रभु

First Published:

Related Stories

तमिलनाडु सरकार ने पेश किया 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का बजट
तमिलनाडु सरकार ने पेश किया 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का बजट

चेन्नई: तमिलनाडु सरकार ने आज फाइनेंशियल ईयर 2017-18 के लिए करीब 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का...

बजट 2017 सिर्फ एक पटाखा, किसानों, मजदूरों के लिए कुछ नहीं: पी चिदंबरम
बजट 2017 सिर्फ एक पटाखा, किसानों, मजदूरों के लिए कुछ नहीं: पी चिदंबरम

नई दिल्लीः कल देश के आम बजट 2017 के पेश होने के बाद जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर सभी...

Deatils: इनकम टैक्स में छूट से लेकर सस्ता-महंगा तक, जानें- मोदी सरकार के बजट से आपको क्या मिला
Deatils: इनकम टैक्स में छूट से लेकर सस्ता-महंगा तक, जानें- मोदी सरकार के बजट से...

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा परेशान मिडिल क्लास को इस बार के बजट में बड़ी राहत दी गई है....

BUDGET 2017: 125 करोड़ भारतीयों में सिर्फ 76 लाख की सैलरी 5 लाख से ज्यादा !
BUDGET 2017: 125 करोड़ भारतीयों में सिर्फ 76 लाख की सैलरी 5 लाख से ज्यादा !

नई दिल्ली: 125 करोड़ भारतीयों के देश में 5 लाख से ज्यादा आय वाले सिर्फ 76 लाख लोग हैं. आपको ये आंकड़ा...

फिर भी ई-टिकट महंगा रहेगा खिड़की टिकट से!
फिर भी ई-टिकट महंगा रहेगा खिड़की टिकट से!

नई दिल्लीः केंद्र सरकार द्वारा आम बजट के जरिए ई-रेल टिकट पर लगने वाले सेवा कर (सर्विस टेक्स) को...

बजट से युवाओं को क्या मिला? ये जवाब आपको खुश करेंगे
बजट से युवाओं को क्या मिला? ये जवाब आपको खुश करेंगे

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के बजट को सभी वर्गों के लिए काम का बजट बताया हैं....

मोदी सरकार के बजट पर जमकर बरसे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी
मोदी सरकार के बजट पर जमकर बरसे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी

नई दिल्ली: साल 2017 के बजट को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सरकार पर जमकर बरसे हैं. वित्त...

BUDGET 2017: रेलवे के लिए हुए ये बड़े ऐलान जिनसे बदलेगी रेलवे की सूरत
BUDGET 2017: रेलवे के लिए हुए ये बड़े ऐलान जिनसे बदलेगी रेलवे की सूरत

नई दिल्लीः देश के बजटीय इतिहास में पहली बार रेल बजट और आम बजट एक साथ पेश किए गए हैं. वित्त मंत्री...

BUDGET 2017: रक्षा के लिए 2,74,114 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषणा
BUDGET 2017: रक्षा के लिए 2,74,114 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषणा

नई दिल्ली: केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को बजट पेश करने के दौरान रक्षा के लिए 2,74,114...

जानें- बजट के बाद क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा
जानें- बजट के बाद क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने आज अपना चौथा बजट पेश कर दिया है. आज बजट पेश करते हए वित्त मंत्री ने कई...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017