इन पांच कारणों से आज शेयर बाजार में मचा हड़कंप

By: | Last Updated: Monday, 24 August 2015 7:00 AM

मुंबई : देश के शेयर बाजारों में सोमवार को भारी गिरावट रही. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 1,624.51 अंकों की गिरावट के साथ 25,741.56 पर और निफ्टी 490.95 अंकों की गिरावट के साथ 7,809.00 पर बंद हुआ. बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 635.67 अंकों की गिरावट के साथ 26,730.40 पर खुला और 1,624.51 अंकों या 5.94 फीसदी गिरावट के साथ 25,741.56 पर बंद हुआ. दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 26,730.40 के ऊपरी और 25,624.72 के निचले स्तर को छुआ.

 

डॉलर के मुकाबले रुपया 66.72 रुपये पर जा पहुंचा है.  दुनिया भर के शेयर बाजारों में गिरावट का असर भारतीय शेयर बाजार में भी देखा जा रहा है.

 

बाजार में इस हड़कंप के क्या कारण हैं, आइए इनके बारे में जानते हैं

 

1. चीन की अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ने की आशंका बढ़ गई है. शुक्रवार को अतंर्राष्ट्रीय बाजार में कॉपर और एल्युमिनियम के भाव 6 साल पहले के स्तर पर चले गए थे. हाल के बरसों में चीन के कारखानों में तेजी से प्रोडक्शन बढ़ रहा था और खासकर कॉपर की मांग उसी वजह से बढ़ रही थी. इसलिए कॉपर के दाम गिरने को बड़ा संकेत माना जाता है.

2. दो हफ्ते पहले चीन ने अपनी मुद्रा युआन का मूल्य कम किया था. वो सबसे बड़ा संकेत था कि चीन के उद्योग धीमे पड़ रहे हैं और सरकार मुद्रा का मूल्य कम करके एक्सपोर्ट बढ़ाने की कोशिश कर रही है. लेकिन उसके बावजूद बाजार संभल नहीं पाए तो अब पैनिक घर कर गया है. वही पैनिक सोमवार को शेयर बाजार खुलते ही दिखा. अंतर्राष्ट्रीय निवेशक चीन की कंपनियों के शेयर बेचकर बाहर निकल रहे हैं.
 

3. शुक्रवार को अमेरिकी शेयर बाजार में 2011 के बाद की सबसे बड़ी गिरावट आई तो चीन की सरकार ने अपने पेंशन फंड को शेयर बाजार में निवेश करने की इजाजत दे दी. ये दुनिया का सबसे बड़ा पेंशन फंड है. लेकिन सोमवार सुबह बाकी निवेशकों में शेयर बेचने की ऐसी होड़ लगी कि चीन के पेंशन फंड का पैसा भी बाजार को संभालने में नाकाम रहा. इसलिए पैनिक बढ़ गया और शांघाई स्टॉक एक्सचेंज का इंडेक्स 8 फीसदी से ज्यादा लुढक गया.
 

शेयर बाजार में भारी गिरावट, रुपया दो साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा 

 

4. कच्चे तेल के दाम भी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 6 साल पहले के स्तर पर पहुंच गए हैं. चीन से लगातार बढ़ रही मांग अब गायब हो चुकी है इसलिए कच्चे तेल के दाम लुढ़कते जा रहे हैं और दुनिया भर में अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ने की आशंका बढ़ गई है.

 

5. बाकी एशियाई देशों की करेंसी की तरह रुपया भी लुढ़क गया है. अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने की उम्मीद है. विदेशी निवेशक अमेरिकी बॉन्ड का रुख करेंगे. इसिलिए चीन अभी अपनी मुद्रा की कीमत और घटा सकता है. डॉलर के मजबूत होने से रुपया और कमजोर होगा और विदेशी निवेशकों को भारत में अभी कोई बढ़त के आसार वैसे भी नहीं दिख रहे हैं. क्योंकि मॉनसून पर सवाल बना हुआ और जीएसटी जैसे कानून अटके पड़े हैं.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Top five factors which pushed Sensex lower by over 1000 points
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

2 बैंकों ने दिया ग्राहकों को झटकाः घटा दी सेविंग खातों पर ब्याज दरें
2 बैंकों ने दिया ग्राहकों को झटकाः घटा दी सेविंग खातों पर ब्याज दरें

नई दिल्लीः अब बैंक भी ब्याज दरें घटाकर ग्राहकों को झटका दे रहे हैं. आज देश के दूसरे सबसे बड़े...

दिवालियेपन के कगार पर पहुंची जेपी इंफ्रा के घर खरीदारों के लिए दावा ठोकना हुआ आसान
दिवालियेपन के कगार पर पहुंची जेपी इंफ्रा के घर खरीदारों के लिए दावा ठोकना...

नई दिल्लीः जेपी इंफ्राटेक की परियोजनाओं में घर के लिए पैसा लगाने के लिए राहत की खबर. सरकार ने...

19 अगस्त से जयपुर में ऑनलाइन होंगे सभी वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र
19 अगस्त से जयपुर में ऑनलाइन होंगे सभी वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र

नई दिल्ली: देश में प्रदूषण नियंत्रण के मुद्दे पर जयपुर में नागरिकों को बड़ी सुविधा मिलने वाली...

निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद
निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद

नई दिल्लीः घरेलू शेयर बाजार की चाल आज सपाट रही है. ग्लोबल बाजारों से मिलेजुले संकेतों का असर...

GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों
GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों

नई दिल्लीः जैसा कि आप जानते ही हैं कि 1 जुलाई से जीएसटी लागू हो चुका है यानी एक देश-एक टैक्स की...

सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब
सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब

नई दिल्लीः आज शेयर बाजार में शानदार उछाल के साथ कारोबार बंद हुआ है. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों...

जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट मिलना चाहिए'
जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट...

नई दिल्लीः एनसीआर में जेपी इंफ्राटेक के प्रोजेक्ट्स में घर खरीदारों के लिए थोड़ी राहत की किरण...

हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया
हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया

हिमाचल: हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों को आज राज्य सरकार ने तोहफा दिया है. हिमाचल प्रदेश...

नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी
नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी

नई दिल्ली: आज स्वतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017