नडेला के काल में माइक्रोसॉफ्ट दूसरी सबसे बड़ी कंपनी

By: | Last Updated: Wednesday, 19 November 2014 11:02 AM
Under Satya Nadella, Microsoft Emerges World’s Second Most Valuable Firm

वाशिंगटन: माइक्रोसॉफ्ट ने अपने नए भारतीय-अमेरिकी मुख्य कार्यकारी अधिकारी सत्या नडेला के नेतृत्व में तेल कंपनी एक्सॉन मोबिल को पीछे धकेल दिया है और एप्पल इंक के बाद दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी के स्थान पर पहुंच गई है.

 

प्रौद्योगिकी समाचार पत्रिका, टेक टाइम्स के मुताबिक निजी कंप्यूटर की घटती मांग से जूझ रही माइक्रोसॉफ्ट में बदलाव करते हुए नडेला ने कंपनी का कारोबार क्लाउड सेवा और मोबाइल टेक्नोलॉजी पर केंद्रित किया और साथ ही नौकरियों में छंटनी करते हुए कंपनी का खर्च घटाया.

 

नडेला की इन कोशिशों के कारण माइक्रोसॉफ्ट के शेयरों में तेजी आई और कंपनी दुनिया की दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई. एक्सॉन मोबिल का मूल्य अभी 402.66 अरब डॉलर है. इस साल के शुरू में यह 483.1 अरब डॉलर की कंपनी थी.

 

माइक्रोसॉफ्ट की कीमत मई में 343.8 अरब डॉलर थी. 14 नवंबर को इसके शेयर 49.58 डॉलर पर बंद हुए, जिससे कंपनी की कीमत 408.7 अरब डॉलर हो गई, जो एक्सॉन मोबिल से अधिक है. माइक्रोसॉफ्ट हालांकि अब भी एप्पल इंक से काफी पीछे है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Under Satya Nadella, Microsoft Emerges World’s Second Most Valuable Firm
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP bussiness Firm microsoft Satya Nadella
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017