लगातार दूसरे साल घट सकती है गेहूं की पैदावार

By: | Last Updated: Sunday, 3 January 2016 6:41 PM
Wheat output may drop for second year straight due to warm winter

नई दिल्ली: असामान्य सूखी व हल्की ठंड पड़ने से भारत में गेहूं का उत्पादन लगातार दूसरे साल घटकर 9 करोड़ टन से कम रह सकता है.

कमजोर मानसून और फरवरी-मार्च में बेमौसम बारिश के चलते 2014-15 में गेहूं का उत्पादन घटकर 8 करोड़ 89 लाख 50 हजार टन रहा था, जबकि इससे पिछले वर्ष रिकार्ड 9 करोड़ 58 लाख 50 हजार टन का उत्पादन हासिल किया गया था.

रबी (जाड़े) की प्रमुख फसल गेहूं की बुवाई अक्तूबर में शुरू होती है और फसल की कटाई अप्रैल से शुरू होती है.

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ गेहूं की बुवाई पीछे चल रही है क्योंकि लगातार दो सूखे वर्ष के मद्देनजर असामान्य सूखी एवं हल्की ठंड पड़ने की वजह से तापमान का दबाव अधिक है. इससे गेहूं का उत्पादन कम से कम पांच प्रतिशत प्रभावित होगा.’’

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, गेहूं का बुवाई रकबा चालू रबी सीजन में दिसंबर तक 20 लाख हेक्टेयर पीछे 2.71 करोड़ हेक्टेयर पर है, जबकि इससे पिछले साल की इसी अवधि में यह 2.93 करोड़ हेक्टेयर था.

उसने कहा कि गेहूं के बुवाई रकबे में 20 लाख हेक्टेयर की कमी का अर्थ हुआ कि सूखा वर्ष 2014-15 में हासिल 2.9 टन प्रति हेक्टेयर के औसत उत्पादन को ध्यान में रखते हुए उत्पादन करीब 60 लाख टन कम रहेगा.

गेहूं की फसल को ‘नाजुक चरण’ में बताते हुए भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के उप महानिदेशक (फसल विज्ञान) जे.एस. संधू ने कहा, ‘‘ अधिक तापमान के दबाव से विशेष रूप से गेहूं की पैदावार घटती है. हमें उम्मीद है कि अगले 15-20 दिनों में बारिश से पैदावार में कुछ नुकसान की भरपाई करने में मदद मिल सकती है.’’

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Wheat output may drop for second year straight due to warm winter
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: 2016 Wheat Winter
First Published:

Related Stories

निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद
निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद

नई दिल्लीः घरेलू शेयर बाजार की चाल आज सपाट रही है. ग्लोबल बाजारों से मिलेजुले संकेतों का असर...

GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों
GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों

नई दिल्लीः जैसा कि आप जानते ही हैं कि 1 जुलाई से जीएसटी लागू हो चुका है यानी एक देश-एक टैक्स की...

सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब
सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब

नई दिल्लीः आज शेयर बाजार में शानदार उछाल के साथ कारोबार बंद हुआ है. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों...

जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट मिलना चाहिए'
जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट...

नई दिल्लीः एनसीआर में जेपी इंफ्राटेक के प्रोजेक्ट्स में घर खरीदारों के लिए थोड़ी राहत की किरण...

हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया
हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया

हिमाचल: हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों को आज राज्य सरकार ने तोहफा दिया है. हिमाचल प्रदेश...

नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी
नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी

नई दिल्ली: आज स्वतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि...

सहारा को झटकाः एंबी वैली प्रोजेक्ट की नीलामी शुरू, रिजर्व प्राइस 37,392 करोड़ रुपये
सहारा को झटकाः एंबी वैली प्रोजेक्ट की नीलामी शुरू, रिजर्व प्राइस 37,392 करोड़...

नई दिल्लीः सहारा समूह के लिए आज बड़े झटके की खबर है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के 3 दिन बाद आज...

जेपी इंफ्रा की संपत्ति बेच अटकी परियोजनाएं पूरी करने की संभावनाएं खंगालने में जुटी सरकार
जेपी इंफ्रा की संपत्ति बेच अटकी परियोजनाएं पूरी करने की संभावनाएं खंगालने...

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जेपी इंफ्राटेक के घर...

जुलाई में थोक मंहगाई दर 1.88 फीसदी बढ़ी, खाने-पीने की चीजें हुईं महंगी
जुलाई में थोक मंहगाई दर 1.88 फीसदी बढ़ी, खाने-पीने की चीजें हुईं महंगी

नई दिल्लीः देश के थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर जुलाई में बढ़कर 1.88 फीसदी रही. वाणिज्य...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017