शहरों के मुकाबले गांवों में अधिक हैं कामकाजी महिलाएं

By: | Last Updated: Monday, 21 July 2014 3:56 PM
working women in urban area

नई दिल्ली: शहरों के मुकाबले गांवों में कामकाजी महिलाओं की संख्या अधिक है. केंद्र सरकार ने आज बताया कि शहरी इलाकों में जहां कामकाजी महिलाओं की संख्या 14.7 फीसदी है तो वहीं गांवों में 24.8 फीसदी महिलाएं कामकाजी हैं लेकिन दोनों ही क्षेत्रों में इनकी संख्या पुरूषों के मुकाबले कम है.

 

इस्पात, खान और श्रम राज्य मंत्री विष्णु देव साय ने लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण (एनएसएस) 2011-12 के आंकड़ों के हवाले से बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 54.3 फीसदी पुरूषों के मुकाबले महिलाओं की कार्यबल भागीदारी 24.8 फीसदी है जबकि शहरी क्षेत्रों में पुरूषों के 54.6 फीसदी के मुकाबले केवल 14.7 फीसदी ही महिला कार्यबल हैं.

 

उन्होंने बताया कि सरकार ने विभिन्न क्षेत्रों की आवश्यकताओं के मद्देनजर 12वीं पंचवर्षीय येाजना में 5 करोड़ लोगों को कुशल बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: working women in urban area
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017