शियाओमी सुरक्षा संबंधी चिंताएं दूर करने के लिए भारत में डाटा केंद्र स्थापित करेगा

By: | Last Updated: Monday, 27 October 2014 2:52 PM

नई दिल्ली: चीन की स्मार्टफोन कंपनी शियाओमी अपनी सेवा की गुणवत्ता बेहतर करने और डाटा सुरक्षा से जुड़ी चिंतायें दूर करने की कोशिश के मद्देनजर भारतीय ग्राहकों को सेवा प्रदान करने के लिए देश में अगले साल तक डाटा केंद्र स्थापित करेगी.

 

चीन की एप्पल कही जानेवाली कंपनी ने अपने अंतरराष्ट्रीय (गैर-चीनी) ग्राहकों के आंकड़े अमेरिका और सिंगापुर के केंद्रों को प्रदान करने के लिए अमेजन वेब सर्विसेज के साथ भागीदारी की है. यह प्रक्रिया इस महीने अंत तक पूरी होने की उम्मीद है.

 

शियाओमी के उपाध्यक्ष ह्यूगो बर्रा के अनुसार स्थानीय डाटा केंद्र के साथ बातचीत हो रही है और यह अगले साल तक तैयार हो जाएगा.

 

शियाओमी ने इस साल जुलाई में भारतीय बाजार में ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के जरिए एमआई3 स्मार्टफोन पेश किया जिसका मूल्य 13,999 रुपए था. देश में इसका दूसरा उपकरण रेडमी 1एस उपलब्ध है. अनुमान है कि कंपनी ने अब तक पांच लाख रेडमी फोन और 1.2 लाख एमआई3 फोन बेचे हैं.

 

शियाओमी इंडिया के प्रमुख मनु जैन ने कहा ‘‘भारत में जो संभावनाएं हमें दिखीं उसकी फैसले में महत्वपूर्ण भूमिका रही. स्मार्टफोन का बाजार यहां उल्लेखनीय गति से बढ़ा है और यह चीन के बाहर हमारे लिए दूसरा सबसे बड़ा बाजार है. 4जी प्रणाली आने के साथ हम चाहते हें कि हरसंभव सबसे तेज सेवा प्रदान करें और डाटा केंद्र उपयोक्ताओं के करीब लाना इसी दिशा में महत्वपूर्ण कदम है.’’

 

इस पहल से चीनी कंपनी को उपयोक्ताओं के आंकड़े की सुरक्षा से जुड़ी चिंतायें दूर करने में मदद मिलेगी. पिछले सप्ताह भारतीय वायु सेना ने अपने अधिकारियों और उनके परिवारों से अपील की थी कि वे चीनी स्मार्टफोन ‘शियाओमी रेड्मी 1एस’ के उपयोग से बचें क्योंकि ऐसा माना जाता है कि ये फोन अपने चीन स्थित सर्वर को इस फोन में दर्ज जानकारियां भेज रहे हैं और यह सुरक्षा के लिए जोखिम है.

 

कंपनी ऐसी चिंताएं दूर करने के लिए भारत सरकार से बातचीत कर रही है.

 

बर्रा ने कहा ‘‘हम इस मामले की तह तक जाने की कोशिश कर रहे हैं. अब तक हमें भारतीय वायु सेना या किसी अन्य सरकारी विभाग ने कुछ नहीं कहा है. ऐसी खबरें हमने मीडिया में ही पढ़ी हैं. हम सरकार से संपर्क करेंगे और उनकी यदि कोई चिंता है तो उसे दूर करने के लिए उनके साथ काम करेंगे.’’ विश्व भर में विभिन्न देश ऐसे नियम लागू कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि फोन से जुड़ी जानकारियां देश में ही रहें और क्लाउड प्रणाली पर ज्यादा से ज्यादा अमल के कारण इसको बल मिलेगा.

 

इस साल सुरक्षा समाधान प्रदाता एफ-सीक्योर ने एक रपट में यह दिखाया था कि शियाओमी रेड्मी 1एस फोन किस तरह उपयोक्ताओं का आईएमईआई, फोन नंबर और मोबाइल फोन के फोन बुक में शामिल परिचितों के फोन नंबर कहीं और स्थित सर्वर को हस्तांतरित कर रहा है.

 

भारतीय वायु सेना का यह नोट भारतीय कंप्यूटर आपात पहल टीम (सर्ट-इन) की रपट के आधार पर तैयार किया गया था.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: xiaomi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017