स्वराज संवाद का मकसद ‘आप’ को तोडना नहीं: योगेन्द्र यादव

By: | Last Updated: Thursday, 9 April 2015 3:14 PM

लखनऊ/नई दिल्ली: ‘आप’ के असंतुष्ट नेताओं द्वारा शुरू किये जाने वाले ‘स्वराज संवाद’ से पहले योगेन्द्र यादव ने आज सफाई दी कि गुडगांव में 14 अप्रैल को होने वाली बैठक का मकसद आम आदमी पार्टी (आप) को तोडना नहीं है.

 

यादव ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘वार्ता से कोई चीज टूटती नहीं बल्कि जुडती है. (दूसरी ओर) जिस तरह से बाउंसरों को बुलाकर 28 मार्च की बैठक हुई.. नेताओं को बिना कारण बताओ नोटिस दिये या उनके जवाब का इंतजार किये बिना नेताओं को निष्कासित कर दिया गया, वह पार्टी को तोडने का प्रयास था.’’ गुडगांव बैठक के लिए समर्थन जुटाने के मकसद से देश भर में भ्रमण कर रहे यादव ने कहा कि उनकी ओर से किसी की आलोचना करने का कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है. वह तो मिल बैठकर आगे का रास्ता निकालना चाहते हैं और चाहते हैं कि वह लक्ष्य हासिल किया जा सके, जिसे पार्टी ने तीन साल पहले निर्धारित किया था.

 

यह पूछने पर कि क्या उन्होंने ‘स्वराज संवाद’ के लिए अपने नेता एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को न्यौता दिया है, यादव ने कहा कि ऐसे 48 लोगों को खुला निमंत्रण दिया गया है जो या तो पार्टी में हैं या फिर पहले रहे हैं जिनमें केजरीवाल भी शामिल हैं.

 

उन्होंने कहा, ‘‘निमंत्रण को वेबसाइट पर डालने के बाद हमें संवाद को लेकर अप्रत्याशित समर्थन मिल रहा है..अब तक 3591 लोगों ने संवाद में शामिल होने के लिए पंजीकरण कराया है. इनमें से 661 लोग उत्तर प्रदेश से हैं. अब तक केजरीवाल ने पंजीकरण नहीं कराया है.’’

 

यादव ने कहा कि यदि केजरीवाल पंजीकरण कराते हैं तो हम उन्हें अवश्य जवाब देंगे. यह पूछने पर कि निष्कासित नेताओं के साथ बैठक करने का यह कदम कहीं बगावत तो नहीं, यादव ने ‘‘ना’’ में सिर हिलाया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘उल्टे यह मेरे लिए गौरव का विषय है कि मैं यहां विशाल शर्मा के साथ बैठा हूं, जिन्होंने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में गुंडागर्दी का विरोध किया.’’ यादव ने कहा कि पारदर्शिता और सामूहिक फैसले जैसे मुद्दों पर सवाल तो पूछे ही जाएंगे.

 

उन्होंने कहा कि आप सपा या बसपा जैसी पार्टियों की तरह नहीं है, जिन्होंने उंचे विचारों और मिशन के साथ शुरूआत की. यहां तक कि कांग्रेस, द्रमुक और अकाली दल ने भी क्रान्ति से शुरूआत की लेकिन ये पार्टियां व्यक्तियों की जेब में कैद होकर रह गयीं.

 

इस सवाल पर कि क्या वह पार्टी में हैं और क्या केजरीवाल उनके नेता हैं, यादव ने कहा कि वह आज की तारीख में पार्टी के सदस्य हैं और उनकी जानकारी के मुताबिक दिल्ली के मुख्यमंत्री आप के राष्ट्रीय संयोजक हैं.

 

उन्होंने कहा कि मेधा पाटकर, अरूणा राय और निखिल राय के अलावा आप के टिकट पर लोकसभा चुनाव लडने वाले 70 उम्मीदवार ‘संवाद’ में शामिल होंगे.

 

जब पूछा गया कि क्या नयी पार्टी बनाएंगे, यादव बोले कि लोग ऐसा कह रहे हैं लेकिन उनके पास ऐसी कोई सूचना नहीं है.

 

जब उनका ध्यान पार्टी नेता गोपाल राय की ओर दिलाया गया, जिन्होंने अपनी उत्तर प्रदेश यात्रा के दौरान ‘हूटर’ और ‘बेकन लाइट’ का इस्तेमाल किया था तो यादव ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है लेकिन यदि यह सही है तो यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि आप वीआईपी संस्कृति के खिलाफ है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: yogendra_yadav_swaaj_samvad
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017