पद्म भूषण के लिए BCCI ने की क्रिकेटर धोनी के नाम की सिफारिश

पद्म भूषण के लिए BCCI ने की क्रिकेटर धोनी के नाम की सिफारिश

By: | Updated: 20 Sep 2017 03:26 PM
 नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान एमएस धोनी का नाम देश के तीसरे सबसे बड़े नागरिक सम्‍मान पद्मभूषण के लिए प्रस्‍तावित किया है. पद्म भूषण के लिए धोनी के नाम की सिफारिश करने का फैसला बीसीसीआई ने सर्वसम्मति से लिया.


आपको बता दें कि सुनील गावस्कर, तेंदुलकर, कपिल देव, राहुल द्रविड़, चंदू बोर्डे, प्रोफेसर डीबी देवधर, कर्नल सीके नायडू, लाला अमरनाथ, राजा भलिंद्र सिंह समेत अन्य खिलाड़ी इस अवार्ड से सम्मानित किए जा चुके हैं.


टीम इंडिया की कई बड़ी जीतों में धोनी के अहम योगदान के लिए बोर्ड ने ये सिफारिश की है. हाल ही में धोनी ने श्रीलंका के खिलाफ खेली गई सीरीज़ में 300 वनडे मैच पूरे किए हैं. इसके साथ ही उन्होंने सीरीज़ के दौरान वनडे में 100 स्टंप भी पूरे किए.


मौजूदा समय में धोनी सिर्फ वनडे और टी20 फॉर्मेट में भारत के लिए खेल रहे है. उन्होंने साल 2014 के अंत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ के बीच ही टेस्ट से संन्यास का ऐलान कर दिया था. उन्होंने 90 टेस्‍ट में 38.09 के औसत से 4876 रन बनाए है. जिसमें एक दोहरा शतक भी शामिल है. वहीं उन्होंने 6 शतक भी लगाए हैं.

वनडे में माही 10 हजार रन के आंकड़े के बेहद करीब हैं. 302 वनडे मैचों में धोनी के नाम 9737 रन है और वो जिस बेमिसाल फॉर्म में हैं उससे ये साफ है कि वो जल्द ही इस आंकड़ें को भी छू लेंगे. वनडे क्रिकेट में धोनी के 10 शतक और 66 अर्धशतक शुमार है. वनडे मैचों में धोनी का औसत 52.34 का है.


वहीं 78 टी-20 मैचों में धोनी ने 1212 रन बनाए हैं जिसमें एक अर्धशतक शामिल हैं.


धोनी दुनिया के इकलौते ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी की सभी ट्रॉफियों पर कब्जा जमाया है. साल 2007 में उनकी कप्तानी में टीम इंडिया टी20 वर्ल्डकप चैंपियन बनी थी. वर्ष 2011 में भारतीय टीम ने 28 साल बाद वनडे वर्ल्‍डकप पर कब्जा जमाया था. इसके बाद धोनी की ही कप्तानी में भारत चैंपियंस ट्रॉफी का सरताज बना था.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published: