रणजी ट्रॉफी: रेलवे ने उत्तर प्रदेश को हराकर किया बड़ा उलटफेर, कप्तान रैना हुए 'फ्लॉप'

रणजी ट्रॉफी: रेलवे ने उत्तर प्रदेश को हराकर किया बड़ा उलटफेर, कप्तान रैना हुए 'फ्लॉप'

By: | Updated: 08 Oct 2017 09:23 PM

लखनऊ: रेलवे ने रणजी ट्रॉफी ग्रुप ए के मैच में तीसरे दिन जीत के लिये 94 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी उत्तर प्रदेश को चौथी पारी में महज 72 रन पर समेट कर मैच अपने नाम कर लिया. रणजी ट्रॉफी के इतिहास में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब किसी टीम ने इतने कम स्कोर का बचाव किया है. इससे पहले साल 1949 में बिहार और दिल्ली के बीच खेले गए मैच में ऐसा हुआ था.


रेलवे की 21 रनों की इस जीत के नायक बायें हाथ के स्पिनर अविनाश यादव (26 रन पर चार विकेट) और तेज गेंदबाज अनुरीत सिंह (25 रन पर तीन विकेट) रहे, जिन्होंने छोटे लक्ष्य का पीछा करने उतरी उत्तर प्रदेश की टीम के बल्लेबाजों को जमने का मौका नहीं दिया.


कप्तान सुरेश रैना (29) और रिंकु सिंह (नाबाद 23) के अलावा उत्तर प्रदेश का कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा पार नहीं कर पाया.


इससे पहले अरिंदम घोष की 57 रन की पारी के दम पर रेलवे ने अपनी दूसरी पारी में 161 रन बनाये. उत्तर प्रदेश के लिये दूसरी पारी में अंकित राजपूत ने चार और जीशान अंसारी ने तीन विकेट झटके. मैच में सात विकेट चटकने वाले यादव मैन ऑफ द मैच बने.


असम के खिलाफ दिल्ली जीत की दहलीज पर


अनुज रावत के 71 रन की मदद से दिल्ली ने असम के खिलाफ रणजी ट्रॉफी ग्रुप ए के मैच में पहली पारी में 435 रन बनाकर जीत की ओर कदम बढा दिये हैं. पहली पारी में 177 रन की बढत लेने के बाद दिल्ली ने तीसरे दिन असम के दूसरी पारी के तीन विकेट 60 रन पर उखाड़ दिए . अब असम को पारी की हार से बचने के लिये 117 रन बनाने हैं जबकि उसके सात विकेट बाकी हैं. असम ने पहली पारी में 258 रन बनाये थे.


नवदीप सैनी ने आठ ओवर में 13 रन देकर दो विकेट लिए. उन्होंने ओपनर बल्लेबाजों पल्लव दास और ऋषव दास को पवेलियन भेजा. बायें हाथ के तेज गेंदबाज कुलवंत खेजरोलिया ने चार ओवर में एक रन देकर एक विकेट लिया.


खेल का आकर्षण अनुज की पारी रही जो अपना 18वां जन्मदिन मनाने से 10 दिन दूर हैं .उन्होंने 146 गेंदों का सामना करके अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया. उन्होंने सातवें विकेट के लिये मनन शर्मा के साथ 122 रन जोड़े. मनन ने 98 गेंद में 69 रन बनाये. एक समय दिल्ली के छह विकेट 297 रन पर गिर गए थे लेकिन दोनों ने टीम को संकट से निकाला.


इससे पहले गौतम गंभीर (137) अपने कल के स्कोर में सिर्फ एक रन जोड़कर पवेलियन लौट गए. असम के लिये अबु नेचिम ने 68 रन देकर सात विकेट लिये जबकि कृष्णा दास ने दो विकेट चटकाये.


अभिषेक गुप्ता की शतकीय पारी ने पंजाब को संभाला


विकेटकीपर बल्लेबाज अभिषेक गुप्ता की ताबड़तोड नाबाद 129 रनों की पारी ने ग्रुप डी के रणजी मैच में हिमाचल प्रदेश के खिलाफ पंजाब की पारी को संभालने का काम किया.


हिमाचल की पहली पारी में आठ विकेट पर 729 रन के जवाब में पंजाब ने एक समय 274 रन पर छह विकेट गिर गये थे. जिसके बाद गुप्ता ने अभिषेक शर्मा (नाबाद 81) के साथ अविजित 210 रनों की साझेदारी कर मैच में पंजाब की वापसी करायी. गुप्ता ने 116 गेंद की अपनी शतकीय पारी में चार छक्कों के साथ 16 चौके भी लगाये. टीम की ओर से कप्तान जीवनजोत सिंह (59), परगट सिंह (64) और अनमोलप्रीत सिह (50) ने भी अर्धशतकीय पारी खेली.


पंजाब अभी भी हिमाचल से पहली पारी के आधार पर 245 रन पीछे है. हिमाचल के गुरविंदर सिंह ने शानदार गेंदबाजी करते हुये 118 रन देकर पांच विकेट लिए.


बंगाल को सेना पर 270 रन की बढत


ऑफ ब्रेक गेंदबाज आमिर गनी के पांच विकेट की मदद से बंगाल ने रणजी ट्रॉफी ग्रुप डी के मैच में असम को पहली पारी में 359 रन पर आउट करके विशाल बढत बना ली. बंगाल ने पहली पारी नौ विकेट पर 552 रन के स्कोर पर घोषित की थी और दूसरी पारी में 77 रन बना लिये हैं. अब उसके पास 270 रन की बढत है और उसके दस विकेट बाकी हैं.


सेना ने पालम के मैदान पर खेले जा रहे मैच में तीसरे दिन एक विकेट पर 103 रन से आगे खेलना शुरू किया. कल 44 रन पर खेल रहे नवनीत सिंह 121 रन बनाकर एलबीडबल्यू आउट हुए. उन्होंने 284 गेंदों का सामना करके अपनी पारी में 13 चौके लगाये. रवि चौहान ने 53 और जी राहुल सिंह ने 43 रन बनाये.


बंगाल के लिए गनी ने 34.2 ओवर में 109 रन देकर पांच विकेट लिए. तीसरे दिन का खेल समाप्त होने पर बंगाल ने बिना किसी नुकसान के 77 रन बना लिये हैं. ए रमन 40 और आर ईश्वरन 31 रन बनाकर खेल रहे हैं.


सौराष्ट्र ने हरियाणा को पारी और 31 रन से हराया


सौराष्ट्र ने कम स्कोर वाले मैच में हरियाणा को पारी और 31 रन से हराकर रणजी ट्रॉफी क्रिकेट टूर्नामेंट के मौजूदा सत्र का शानदार आगाज किया. सौराष्ट्र ने ग्रुप बी के इस मैच में अपनी पहली पारी में 278 रन बनाये थे जिसके जवाब में हरियाणा 107 और 140 रन ही बना पाया. हरियाणा की टीम को इस चार दिवसीय मैच के दूसरे दिन कल फॉलोआन के लिये मजबूर होना पड़ा था और इसके बाद दूसरी पारी में भी उसकी शुरूआत अच्छी नहीं रही थी.


हरियाणा ने सुबह अपनी दूसरी पारी छह विकेट पर 93 रन से आगे बढ़ायी लेकिन उसने बाकी बचे चार विकेट 13.2 ओवर में गंवा दिये. चैतन्य बिश्नोई (56) अपने कल के स्कोर में केवल तीन रन ही जोड़ पाये. उनके अलावा दीपक पूनिया ने 34 रन बनाये.


सौराष्ट्र की तरफ से जयदेव उनादकट ने तीन जबकि शौर्य सनाडिया और चिराग जानी ने दो-दो विकेट लिए. चेतेश्वर पुजारा की अगुवाई वाले सौराष्ट्र को इस जीत से बोनस सहित सात अंक मिले.


छत्तीसगढ से 235 रन पीछे गोवा


छत्तीसगढ के पहली पारी के 458 रन के जवाब में गोवा ने रणजी ट्रॉफी ग्रुप डी के मैच में तीसरे दिन चार विकेट पर 223 रन बनाए. गोवा अभी भी पहली पारी के स्कोर से 235 रन पीछे है जबकि उसके छह विकेट बाकी है. अपने कल के स्कोर बिना किसी नुकसान के 28 रन से आगे खेलते हुए गोवा के बल्लेबाजों ने काफी धीमा खेल दिखाया.


स्वप्निल असनोदकर ने 235 गेंद में 12 चौकों की मदद से 79 रन बनाये जबकि कप्तान सगुन कामत ने 47 रन का योगदान दिया. उन्होंने 115 गेंदों का सामना करके अपनी पारी में चार चौके लगाए. आर जे पिंटो 25 और सौरभ बेडनेकर पांच रन बनाकर खेल रहे हैं.


मध्यप्रदेश के खिलाफ बड़ौदा फॉलोआन को मजबूर


पठान बंधुओं की शानदार साझेदारी के बाद भी बडौदा की टीम रणजी ट्रॉफी के ग्रुप सी के मैच में तीसरे दिन मध्य प्रदेश के खिलाफ फॉलोआन नहीं बचा सकी. मध्यप्रदेश के आठ विकेट पर 551 रन के जवाब में बडौदा की टीम पहली पारी में 302 पर सिमट गई.


दिन का खेल खत्म होने तक बडौदा ने फॉलोआन खेलते हुए एक विकेट पर 41 रन बनाये लिए. कल के स्कोर दो विकेट पर 36 रन से आगे खेलते हुये बड़ौदा ने 54 रन तक चार विकेट गवां दिये. लेकिन इसके बाद युसूफ पठान ( 111) की शतकीय पारी और कप्तान इरफान पठान (80) की अर्ध शतकीय पारी ने टीम को संभाला. दोनों ने 188 रन की साझेदारी कर टीम को संकट से निकाला.


युसूफ ने 125 गेंद की अपनी पारी में छह छक्कों के साथ 13 चौके लगाये तो वही इरफान पठान ने भी 10 चौके और तीन छक्के लगाये. टीम के 242 रन के स्कोर पर अंकित शर्मा (75 रन पर दो विकेट) ने इरफान पठान का विकेट लिया. टीम के स्कोर में अभी चार रन ही और जुड़ा था कि युसूफ आवेश खान (78 रन पर दो विकेट) के शिकार बन गये. दोनों भाईयों के आउट होने के बाद बडौदा की पारी एक बार फिर लडखड़ा गई और टीम 302 रन पर ऑलआउट हो गई.


मध्य प्रदेश के कप्तान नमन ओझा ने बड़ौदा को फॉलोअन खेलने के लिये कहा और आज की आखिरी गेंद पर आवेश खान (सात रन पर एक विकेट) से सलामी बल्लेबाज आदित्य वाघमोडे (31) को पेवेलियन का रास्ता दिखाया. बडौदा की टीम मध्य प्रदेश से अब भी 208 रन पीछे है.


आंध्र ने तमिलनाडु पर 133 रन से बढत बनाई


आंध्र ने बी सुमंत के शतक की मदद से रणजी ट्रॉफी ग्रुप सी के मैच में तमिलनाडु पर 133 रन से बढत बना ली हालांकि कप्तान अभिनव मुकुंद ने अर्धशतक बनाकर मेजबान को मैच में लौटाने की कोशिश की.


आंध्र के पहली पारी के 309 रन के जवाब में तमिलनाडु ने दूसरी पारी में दो विकेट पर 112 रन बना लिए थे. मुकुंद 52 रन बनाकर खेल रहे थे. इससे पहले भारतीय टेस्ट टीम के ओपनर बल्लेबाज मुरली विजय 13 रन के स्कोर पर टखना मुड़ने के कारण रिटायर हर्ट हो गए.


आंध्र ने सात विकेट पर 231 रन से आगे खेलते हुए पहली पारी में 309 रन बनाए. सुमंत और शोएब मोहम्मद खान ने 52 रन की साझेदारी की. खान 43 रन बनाकर स्पिनर आर अश्विन की गेंद पर एलबीडबल्यू आउट हुए. सुमंत ने 254 गेंद में अपना शतक पूरा किया और वह आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज रहे. अश्विन ने एम एस वाशिंगटन सुंदर के हाथों उन्हें लपकवाया. उन्होंने अपनी 280 गेंद की पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया.


अश्विन ने 71 रन देकर चार विकेट लिये जबकि के विग्नेश को तीन विकेट मिले.


 

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Cricket News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published: