वर्ल्ड-11 टीम की सुरक्षा व्यवस्था देखकर लगा हम फिल्म में हैं: फाफ डु प्लेसिस

वर्ल्ड-11 टीम की सुरक्षा व्यवस्था देखकर लगा हम फिल्म में हैं: फाफ डु प्लेसिस

By: | Updated: 12 Sep 2017 02:40 PM


सौजन्य: PCB (TWITTER)

लाहौर: तीन टी-20 मैचों की सीरीज के लिए पाकिस्तान पहुंची वर्ल्ड-11 टीम के कप्तान दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस ने कहा कि उनकी सुरक्षा व्यवस्था ऐसी चाक चौबंद की गई थी जैसी आमतौर पर राष्ट्रपति के लिए की जाती है. इसे देखने के बाद उन्हें लगा कि जैसे वह किसी फिल्म का हिस्सा हों.


पाकिस्तान में लंबे अरसे बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की बहाली हो रही है. पाकिस्तान अपने घर में वर्ल्ड-11 के खिलाफ 12, 13, और 15 सितंबर को तीन टी-20 मैच खेलेगा. यहां पहुंचने के बाद डु प्लेसिस ने वर्ल्ड-11 की तरफ से पाकिस्तान में खेलने को लेकर हामी भरने के बारे में बताया. 


क्रिकइंफो ने डु प्लेसिस के हवाले से लिखा, "जब इस तरह की बातें आपके सामने आती हैं तो आप जाहिर सी बात है कि पुरानी बातों को लेकर सोचते हैं, लेकिन जैसे ही हमने उन लोगों से बात की जिनके पास सुरक्षा का जिम्मा था उसके बाद सब सही हो गया."


उन्होंने कहा, "एक खिलाड़ी के तौर पर आप मानसिक शांति चाहते हो और यह उन्होंने हमें दी. वे लोग इस बात को लेकर आश्वस्त थे कि सब कुछ सामान्य रूप से होगा और किसी तरह की दिक्कत नहीं आएगी. जैसे ही हम विमान में बैठे डर खत्म हो चुका था. हम सिर्फ यहां पहुंचना चाहते थे और विश्व क्रिकेट में एक अच्छे बदलाव का अनुभव करना चाहते थे. पिछले 24 घंटे काफी अजीब थे, क्योंकि हम उन चीजों को लेकर उत्साही थे, जिन्हें लेकर एक खिलाड़ी होते हुए हम आमतौर पर नहीं होते हैं. व्यक्तिगत विमान में चढ़ना, हमें ऐसा लग रहा था कि हम किसी फिल्म में हैं."


डु प्लेसिस ने कहा कि वह इस बात से खुश हैं कि भविष्य में वह अपने आप को एक ऐसे शख्स के रूप में देखेंगे जिसने, पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट बहाली के लिए कदम उठाया. 


उन्होंने कहा, "एक कप्तान के तौर पर आप हमेशा ही अपना प्रभाव छोड़ना चाहते हैं. जब कोच एंडी फ्लॉवर का मेरे पास फोन आया और उन्होंने मुझसे कहा कि वह मुझे वर्ल्ड-11 का कप्तान देखना चाहते हैं तो मैंने सोचा मेरे लिए यह अच्छा मौका है."


दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने कहा, "भविष्य में जब मैं अपने परिवार के साथ बैठूंगा तो इसे याद रखूंगा और कह सकूंगा कि मेरे लिए इसका हिस्सा बनना बेहद सम्मान की बात थी. मैं कह सकूंगा कि मैंने पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की बहाली में अपना योगदान दिया है."


गौरतलब हो कि साल 2009 में पाकिस्तान दौरे पर आई श्रीलंका क्रिकेट टीम की बस पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया था. इस घटना के बाद सभी देशों ने पाकिस्तान में क्रिकेट खेलने से मना कर दिया था. इसी कारण पाकिस्तान को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को अपना घर बनाना पड़ा था.


फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Cricket News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published: