अदालत ने युवक को बलात्कार, अपहरण के आरोपों से किया बरी

By: | Last Updated: Thursday, 21 November 2013 8:56 AM
अदालत ने युवक को बलात्कार, अपहरण के आरोपों से किया बरी

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>नई
दिल्ली:</b> दिल्ली की एक अदालत
ने एक नाबालिग का अपहरण और
उससे बलात्कार करने के आरोपी
एक युवक को बरी कर दिया और कहा
कि उसने एक रक्षक की तरह
कार्य किया और लड़की को देह
व्यापार के दलदल में ढकेले
जाने या उसके अभिभावकों
द्वारा उसका अवैध
उद्देश्यों में इस्तेमाल
किये जाने से बचाया.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
अदालत ने युवक को यह कहते हुए
बरी किया कि यौन अपराधों से
बच्चों के संरक्षण कानून
(पोस्को) के तहत एक बच्चे के
साथ शारीरिक संबंध बनाना एक
अपराध है बशर्ते वह एक
‘‘मारपीट’’ प्रकृति का हो
लेकिन इस मामले में साढ़े
सत्रह वर्ष की लड़की अपनी
मर्जी से उसके साथ गई और उस पर
कोई भय या अनुचित प्रभाव नहीं
था.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
अदालत ने कहा, ‘‘यह उल्लेख
किया जाना चाहिए कि 16 से 18 वर्ष
की नाजुक आयु के मामले में
पास्को की धारा चार की
व्याख्या करते हुए
जबर्दस्ती, भय, बहलावा या
उत्पीड़न की प्रकृति वाले
कानून तथा ऐसा कुछ करने के
लिए एक व्यक्ति को अपराधी
बनाने वाले कानून के बीच अंतर
होना चाहिए जो उसने बिना किसी
दुर्भावाना या गलत उद्देश्य
के किया हो. <br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश
धर्मेश शर्मा ने कहा, ‘‘यहां
पर आरोपी ने रक्षक के रूप में
कार्य करते हुए लड़की को अवैध
देह व्यापार या उसका अवैध
उद्देश्य में इस्तेमाल किये
जाने की आशंका से बचाया.’’
अदालत ने कहा कि लड़की अपनी
मर्जी से एक युवक के साथ भागी
और उससे विवाह किया क्यों
दोनों एकदूसरे से प्यार करते
थे और लड़की के अभिभावक उसे
किसी को डेढ़ लाख रूपये में
बेचना चाहते थे और उन्होंने
उसे कई लोगों को दिखाया भी था.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
लड़की ने अदालत को यह भी
बताया था कि उसने युवक से एक
मंदिर में विवाह किया था और
उसके बाद उन्होंने शारीरिक
संबंध बनाये.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
अभियोजन के अनुसार लड़की के
अभिभावकों ने इस वर्ष मई
महीने में आर के पुरम पुलिस
थाने में शिकायत दर्ज करायी
कि विवाह या यौन संबंध बनाने
के वास्ते दबाव डालने के लिए
उसका अपहरण कर लिया गया है.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
लड़की दो दिन बाद मिल गई और
युवक को गिरफ्तार कर लिया
गया. मुकदमे की सुनवायी के
दौरान लड़की को महिला सुधार
गृह में रखा गया क्योंकि उसने
अपने अभिभावकों के साथ जाने
से इनकार कर दिया था.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
मामले में निर्णय के बाद
अदालत ने सुधार गृह निर्मल
छाया को निर्देश दिया कि
लड़की को रिहा कर दिया जाए
ताकि वह अपने पति के साथ जा
सके.<br />
</p>

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: अदालत ने युवक को बलात्कार, अपहरण के आरोपों से किया बरी
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ????? ?????? ???????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017