दिल्ली पुलिस ने कहा: और गिरफ्तारियां भी संभव

दिल्ली पुलिस ने कहा: और गिरफ्तारियां भी संभव

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

<p style="text-align: justify;">
<b>नई
दिल्ली:</b> दिल्ली के पुलिस
आयुक्त नीरज कुमार ने
गुरुवार को कहा कि इंडियन
प्रीमियर लीग (आईपीएल) में
स्पॉट फिक्सिंग को लेकर और
गिरफ्तारियां हो सकती हैं. <br /><br />दिल्ली
पुलिस ने साफ किया कि 5, 9 और 15 मई
को खेले गए राजस्थान रॉयल्स
के मैचों के दौरान स्पॉट
फिक्सिंग के सबूत मिले हैं. <br /><br />नीरज
कुमार ने गुरुवार को राजधानी
में आयोजित संवाददाता
सम्मेलन में कहा कि पुलिस इस
मामले में अपनी जांच का दायरा
बढ़ा रही है और उसे यकीन है कि
आने वाले दिनों में और
गिरफ्तारियां हो सकती हैं.
फिलहाल तीन मैचों में स्पॉट
फिक्सिंग के सबूत मिले हैं.<br /><br />नीरज
कुमार ने कहा, "इस मामले में
जांच का दायरा बढ़ाया जा रहा
है. राजस्थान रॉयल्स के तीन
खिलाड़ियों-शांताकुमारन
श्रीसंत, अंकित चव्हाण और
अजीत चंदेला के अलावा कई अन्य
गिरफ्तारियां हो सकती हैं.
फिलहाल तीन मैचों में स्पॉट
फिक्सिंग के सबूत मिले हैं."<br /><br />"हमें
पता चला है कि पांच, नौ और 15 मई
को खेले गए तीन मैचों में
स्पॉट फिक्सिंग हुई है और ये
तीनों मैच राजस्थान रॉयल्स
से जुड़े हैं. हमने काफी
तहकीकात के बाद ये
गिरफ्तारियां की हैं और यह
तहकीकात जारी है."<br /><br />उल्लेखनीय
है कि पांच मई को राजस्थान
रॉयल्स ने जयपुर में पुणे
वॉरियर्स के साथ अपना लीग मैच
खेला था और फिर नौ मई को
मोहाली में उसका सामना
किंग्स इलेवन पंजाब के साथ
हुआ था. इसी तरह 15 मई को
राजस्थान का सामना मुम्बई
इंडियंस से हुआ था. <br /><br />इस
मामले में महेंद्र सिंह धौनी
और हरभजन सिंह जैसे बड़े
नामों के शामिल होने की
अटकलों के बारे में पूछे जाने
पर कुमार ने कहा, "ये दोनों इस
मामले में बिल्कुल भी शामिल
नहीं हैं. यह मैं अब तक की जांच
के आधार पर कह रहा हूं."<br /><br />उल्लेखनीय
है कि दिल्ली पुलिस ने बुधवार
देर रात श्रीसंत, अंकित
चव्हाण और अजीत चंदेलिया को
गिरफ्तार किया. इन तीनों को
गुरुवार को दिल्ली की अदालत
में पेश किया जाएगा. सातों
सटोरियों को दिल्ली, मुम्बई
और अहमदाबाद से गिरफ्तार
किया गया.<br /><br />दिल्ली पुलिस ने
स्पष्ट किया है कि इन
खिलाड़ियों की गिरफ्तारी
फोन टैपिंग के आधार पर ही की
गई है. पुलिस के मुताबिक उसके
पास तीनों खिलाड़ियों के
खिलाफ पुख्ता सबूत हैं.<br /><br />दिल्ली
पुलिस के प्रवक्ता ने
आईएएनएस से कहा, "दिल्ली
पुलिस इन खिलाड़ियों और
सटोरियों को फोन कॉल्स को
लगभग दो सप्ताह से ट्रैक कर
रही थी. इनके खिलाफ पुख्ता
सबूत मिलने के बाद भी
गिरफ्तारी की गई है."<br />
</p>

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 'फरार' हैं पटना पुलिस के 150 कांस्टेबल, डीआईजी जांच में हुआ खुलासा