पिता की दरिंदरी का शिकार आफरीन ने दम तोड़ा

पिता की दरिंदरी का शिकार आफरीन ने दम तोड़ा

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

<p xmlns="http://www.w3.org/1999/xhtml">
<br />
</p>
<p style="text-align: justify;">
<br />
</p>
<p style="text-align: justify;">
<b></b><b>बैंगलोर</b>:<span
style="color: rgb(51, 51, 51); font-family: 'lucida grande',tahoma,verdana,arial,sans-serif; font-size: 13px; font-style: normal; font-variant: normal; font-weight: normal; letter-spacing: normal; line-height: 18px; orphans: 2; text-align: left; text-indent: 0px; text-transform: none; white-space: normal; widows: 2; word-spacing: 0px; background-color: rgb(255, 255, 255); display: inline ! important; float: none;">
पिता की दरिंदरी का शिकार हुई
आफरीन बैंगलोर के एक अस्पताल
में जिंदगी की जंग हार गई है.
बुधवार सुबह से ही उसकी तबियत
बिगड़ती जा रही थी और आखिरकार
उसने दम तोड़ दिया.</span>
</p>
<p style="text-align: justify;">
<span
style="color: rgb(51, 51, 51); font-family: 'lucida grande',tahoma,verdana,arial,sans-serif; font-size: 13px; font-style: normal; font-variant: normal; font-weight: normal; letter-spacing: normal; line-height: 18px; orphans: 2; text-align: left; text-indent: 0px; text-transform: none; white-space: normal; widows: 2; word-spacing: 0px; background-color: rgb(255, 255, 255); display: inline ! important; float: none;">बुधवार
की सुबह से ही आफरीन की तबियत
खराब चल रही थी और उसे बार-बार
दौरे पड़ रहे थे.</span>
</p>
<p style="text-align: justify;">
<span
style="color: rgb(51, 51, 51); font-family: 'lucida grande',tahoma,verdana,arial,sans-serif; font-size: 13px; font-style: normal; font-variant: normal; font-weight: normal; letter-spacing: normal; line-height: 18px; orphans: 2; text-align: left; text-indent: 0px; text-transform: none; white-space: normal; widows: 2; word-spacing: 0px; background-color: rgb(255, 255, 255); display: inline ! important; float: none;">आफरीन
की मौत की दुखदायी घोषणा करते
हुए </span>वाणी विलास की डॉक्टर
ने कहा कि आज सुबह उसे 10:40 बजे
दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद
उसे बचाने की हर मुमकिन कोशिश
की गई, लेकिन उसे बचाया नहीं
जा सका.
</p>
<p style="text-align: justify;">
<span
style="color: rgb(51, 51, 51); font-family: 'lucida grande',tahoma,verdana,arial,sans-serif; font-size: 13px; font-style: normal; font-variant: normal; font-weight: normal; letter-spacing: normal; line-height: 18px; orphans: 2; text-align: left; text-indent: 0px; text-transform: none; white-space: normal; widows: 2; word-spacing: 0px; background-color: rgb(255, 255, 255); display: inline ! important; float: none;">हालांकि,
इससे पहले ही </span>आफरीन का
इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना
था कि वह बार बार बोहोशी हो जा
रही है और उसकी तबियत काफी
बिगड़ गई है.
</p>
<p xmlns="http://www.w3.org/1999/xhtml">
दूसरी ओर आफरीन की मां का
कहना है वो किसी भी कीमत पर
इंसाफ चाहती हैं, हालांकि इस
वक़्त उसकी पहली प्राथमिकता
बेटी का इलाज है.
</p>
<p style="text-align: justify;">
तीन महीने की मासूम आफरीन का
इलाज बैंगलोर के वाणी विलास
अस्पताल में चल रहा है.
डॉक्टर आफरीन को बचाने की
कोशिश में जुटे हैं.
</p>
<p style="text-align: justify;">
ग़ौरतलब है कि आफरीन की मां
रेशमा का आरोप है कि बेटे की
चाहत में रेशमा के पति फारुक
ने बच्ची का ये हाल किया है.
स्टार न्यूज से बातचीत में
रेशमा ने कहा कि फारुक
जानवरों से भी बदतर सलूक करता
है.
</p>
<p style="text-align: justify;">
रेशमा चाहती हैं कि किसी तरह
उसकी बच्ची ठीक हो जाए. आफरीन
को वेंटिलेटर पर रखा गया है
और उसे कल खून भी चढ़ाया गया
था. आफरीन के दिमाग में काफी
चोट लगी हुई है. सभी मासूम के
लिए दुआ कर रहे हैं.
</p>
<p style="text-align: justify;">
<b>जुल्म का सच</b>
</p>
<p style="text-align: justify;">
सोमवार को आफरीन को बेहद
गंभीर हालत में अस्पताल में
भर्ती कराया गया है. आफरीन के
पिता बेटे की चाहत रखते थे,
लेकिन बेटी पैदा होने से खफा
पिता ने अपने ही जिगर के
टुकड़े को मारने की बेरहम
कोशिश की.
</p>
<p style="text-align: justify;">
आफरीन के पिता पर आरोप है कि
उसने अपनी बेटी को मारने के
लिए उसका सिर दीवार से टकरा
दिया, शरीर के कई हिस्सो को
जख्मी कर दिया उसके शरीर को
सिगरेट से दाग डाला.
</p>
<p style="text-align: justify;">
आफरीन उसकी दूसरी शादी से
जन्मी थी आलौद है और अब उसके
पिता का इरादा था आफरीन की
हत्या करने के बाद तीसरी शादी
करने का.
</p>
<p style="text-align: justify;">
आफरीन की मां रेश्मा ने बेटी
के साथ हुए जुल्म की कहानी
बयान करते हुए कहा, "मैं सोई
हुई थी. रात में पति ने कहा कि
बेबी को मोशन हुआ है. मैंने
उसकी साफ-शफाई करके सुला दिया
है."
</p>
<p style="text-align: justify;">
मासूम आफरीन के साथ पिता की
दरिंगदी को बयान करते हुए
रेश्मा आगे कहती हैं," बच्ची
को चुप रखने के लिए मुंह में
कपड़ा ठूंस दिया गया. बदन पर
कंबल डाल दिया गया और चेहरे
पर तकिया रख दिया है."
</p>

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जींद गैंगरेप-मर्डर केस में नया मोड़: आरोपी की लाश बरामद, केस की गुत्थी उलझी