भारत में खुलेआम धूम रहे इंडियन मुजाहिदीन के एजेंट

By: | Last Updated: Thursday, 13 February 2014 3:35 PM

रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पकड़े गए इंडियन मुजाहिदीन के अदमी धीरज साव की निशानदेही पर छत्तीसगढ़ पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर एक दंपति को रायपुर लाई है. दोनों को बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया जिन्हें पांच दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया.

 

 दोनों पर आईएम का सदस्य होने का आरोप है. छत्तीसगढ़ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जुबैर हुसैन  और उसकी पत्नी आयशा बानो आईएम के लिए काम करते हैं. बिहार पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार किया था. एनआईए ने भी जुबैर और आयशा से पूछताछ की थी तब यह पता चला था कि आयशा के खाते में जून 2012 से नवंबर 2013 के बीच हवाला रैकेट के दो करोड़ रुपये डाले गए थे.

 

आयशा के नाम पर अलग-अलग बैंकों में 50 खाते थे. बिहार पुलिस को जांच में यह भी पता चला था कि हवाला का रैकेट चलाने के लिए बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, असम, कर्नाटक समेत दूसरे राज्यों के सैकड़ों हिंदू और मुस्लिम युवकों को जोड़ा गया है. इन्हीं युवकों के नाम पर बैंकों में संदिग्ध खाते खोले जाते हैं.

 

रायपुर के खमतराई में गिरफ्तार धीरज का संबंध जुबैर और आयशा से होने का खुलासा किया गया है. धीरज ने दोनों के खाते में राजधानी से पैसा भी डाला था. इंडियन मुजाहिदीन के लिए हवाला रैकेट चलाने वाले सदस्य छोटा-मोटा काम करते हैं. इसका खुलासा आयशा और जुबैर की गिरफ्तारी के बाद हुआ. जुबैर बीड़ी का धंधा करता था. यहां राजधानी में पकड़ा गया सदस्य धीरज ठेले में चिकन सेंटर चलता था.

 

पुलिस को आशंका है कि आईएम के और भी सदस्य यहां हो सकते हैं, जो कि छोटा-मोटा काम करके हवाला का रैकेट चला रहे हैं. अधिकारियों का कहना है कि छोटा-मोटा काम करने पर किसी को उन पर शक नहीं होता है. ये लोग इंटरनेट की अच्छी जानकारी रखते हैं.

 

आयशा अपने खातों से फंड ट्रांसफर के लिए नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करती थी. हवाला के अलावा पैसों को आतंकी गतिविधियों में भी लगाया जाता है. जैसे कि इंडियन मुजाहिदीन के सदस्यों को कहीं ले जाने और उन्हें ठहराने की व्यवस्था इन्हीं पैसों से की जाती है.

 

पटना और बोधगया विस्फोट के मास्टरमाइंड तहसीन अख्तर और अलियाज मोनू ने गिरफ्तारी के बाद बिहार पुलिस को बताया था कि उन्हें हवाला के जरिए पाकिस्तान से पैसे मिले थे. हवाला का पैसा उन तक जुबैर हुसैन और आयशा ने पहुंचाया था. इस कारण राजधानी पुलिस पटना और बोधगया विस्फोट में धीरज से उसके लिंक के बारे में पूछताछ कर रही है.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: भारत में खुलेआम धूम रहे इंडियन मुजाहिदीन के एजेंट
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017