मुंबई में धर्मगुरु के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़ में भगदड़, 18 लोगों की मौत 59 से ज्यादा जख्मी

By: | Last Updated: Saturday, 18 January 2014 3:10 AM
मुंबई में धर्मगुरु के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़ में भगदड़, 18 लोगों की मौत 59 से ज्यादा जख्मी

मुंबई: मुंबई के मालाबार हिल्स इलाके में दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़ में भगदड़ मचने से 18 लोगों की मौत हो गई है और 59 लोग घायल हो गए .

 

कल धर्मगुरु डॉक्टर सैयदना मोहम्मद बुरहादुद्दीन का निधन हो गया था. निधन की खबर मिलने के बाद से ही मुंबई के मालाबार हिल्स इलाके में उनके अंतिम दर्शन के लिए हजारों लोगों की भीड़ जुटी थी. देश के कोने कोने से लोग अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे थे. तड़के तीन बजे के करीब भगदड़ मच गई.

 

बोरी समाज के धर्मगुरू माने जाने वाले डॉक्टर बुरहाउद्दीन ने शुक्रवार की सुबह साढ़े ग्यारह बजे अंतिम सांसे ली. जिसकी वजह से पूरे बोरी समाज गमगीन हो गया. उनके मरने की खबर मिलने के बाद ही उनके चाहने वालों की भीड़ उनके मुंबई के मालाबार हिल स्थित उनके घर में उनके दर्शन करने वाले लोगों का ताता लगा रहा .

 

रात करीब तीन बजे तक देश के अलग अलग कोनो से आने वाले उनके चाहने वाले हजारों लोगो का तांता लगा रहा . सुबह साढ़े 8 बजे उनका जनाजा दफन के लिये ले जाया जायेगा और भिंडी बाजार स्थित बोरी समाज का जो कबरिस्तान है वहां उन्हें दफन किया जायेगा . बोरी समाज के लोग डॉ बुरहाउद्दीन को भगवान की तरह मानते थे.

 

धर्म गुरू का अंतिम संस्कार होना है और हादसे से सबक लेते हुए अब प्रशासन ने व्यवस्था अपने हाथ में ले लिया है.

 

दुनिया भर में फैले दाउदी बोहरा समुदाय के 52 वें दाई..अल..मुतलक़ डॉ सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन ने मुंबई में अपने आवास सैफी महल में अंतिम सांस ली थी. सूरत में जन्मे डॉ सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन सैयदना, ताहिर सैफुद्दीन के सबसे बड़े पुत्र थे. वर्ष 1965 में अपने पिता के निधन के बाद वह उनके उत्तराधिकारी बने. दाउदी बोहरा समुदाय को एक उर्जावान समुदाय में बदलने का श्रेय उन्हें ही जाता है.

 

दाउदी बोहरा दुनिया भर में फैले शिया मुस्लिमों का एक संप्रदाय है.

 

डॉ सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन को जॉर्डन की सरकार ने सर्वोच्च नागरिक उपाधि ‘‘स्टार ऑफ जॉर्डन’’ और मिस्र सरकार ने ‘‘ऑर्डर ऑफ द नाइल’’ की उपाधि दी थी. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, कराची विश्वविद्यालय और काहिरा के अल अजहर विश्वविद्यालय जैसे प्रख्यात संस्थानों ने सामाजिक एवं शैक्षणिक विकास के प्रयासों के लिए डॉ सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन को डॉक्टरेट की मानद उपाधि दी गई थी.

 

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: मुंबई में धर्मगुरु के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़ में भगदड़, 18 लोगों की मौत 59 से ज्यादा जख्मी
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017