रेप में असफल होने पर यूपी के कुशीनगर में छात्रा को ज़िंदा जलाया, आरोपी सपा नेता का करीबी!

By: | Last Updated: Saturday, 12 April 2014 4:01 AM
रेप में असफल होने पर यूपी के कुशीनगर में छात्रा को ज़िंदा जलाया, आरोपी सपा नेता का करीबी!

यूपी के कुशीनगर में बलात्कार में असफ़ल रहने के बाद 10वीं की छात्रा को ज़िदा जलाने का आरोपी

मुलायम सिंह के लड़कों से गलती हो जाने वाले बयान के दो दिन पहले उनके ही पार्टी के एक नेता के करीबी से हुई थी ये गलती!

 

दिल्ली: रेप में असफल समाजवादी पार्टी नेता ने छात्रा को जिन्दा जलाया. गम्भीर हालत में गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर करने बाद छात्रा की रास्ते में मौत हो गई. दबंगो की गुंडई इस तरह देखने को मिली जहां सपा विधायक के नजदीकी और प्रधान के पुत्र तैयाब अली ने अपने मित्र के साथ गांव में एक कक्षा दस की छात्रा के घर में घुसकर रेप की कोशिश की और असफल होने पर मिट्टी का तेल डालकर जिन्दा जला दिया. वहीं पुलिस ने कल ही दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.  

 

एक तरफ मुलायम महिलाओं के प्रति बेशर्मी भरा बयान दे रहे हैं तो दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा दो दिन पूर्व एक छात्रा को जिन्दा जलाया गया जिसका एक वीडियो क्लिप आज सामने आया है जिसमें लड़की गांव में सैकड़ो लोगो के बीच ज़मीन पर लोटकर लोगों से उसे बचा लेने की गुहार लगा रही है और दबंगो के डर से लोग तमशबीन बने हैं. सवाल कानून व्यवस्था पर तो उठता ही है लेकिन अधजली तड़पती लड़की की मदद की गुहार के बावजूद गांव के लोग मदद के बजाय अगर तमाशा देखें तो दोष किसे दिया जाए?

 

अगर समय से अस्पताल पहुंचाया गया होता तो छात्रा बच सकती थी. यह है अखिलेश राज्य में लड़को से गलती हो जाने की तस्वीर. दो दिन पहले कुशीनगर के रामकोला थाने के अमडरिया गांव के ग्राम प्रधान दैफुन निशा का तीस साल का लड़का तैयब अली जो समाजवादी पार्टी के विधायक का नजदीकी है अपने दोस्त अमित के साथ मिलकर गांव की एक छात्रा रोज़ी (बदला हुआ नाम) के घर में दिन दहाड़े घुसकर रेप का प्रयास करने लगा जब छात्रा ने विरोध किया तो दोनों ने मिट्टी का तेल डालकर उसे ज़िंदा जला दिया.

 

धुं-धुं कर जल रही लड़की पूरे गांव में दौड़-दौड़ कर गांव के लोगों से उसे बचाने की भीख मांगती रही लेकिन दबंगो के डर से कोई उसे बचाने नहीं आया. वहीं उसे एम्बुलेन्स से किसी तरह ज़िला अस्पताल लाया गया. वहीं वो चीख-चीख कर गुनाहगारों का नाम ले रही थी. लड़की की चीख सुनकर अस्पताल में मौजूद साभी लोगों की आंखें नम हो गयीं. वहीं एस.डी.एम. सचिन कुमार सिंह ने मौके पर पहुंचकर 9 तारीख को ही बयान लिया और लड़की की कुछ समय बाद मौत हो गई. 

 

लड़की के भाई ने समाजवादी पार्टी विधायक पर गंभीर आरोप लगाया है और कहा है कि उन्हीं के इशारे पर सबकुछ हुआ है. पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए दोनों आरोपियों को कल जेल भेज दिया है.