विजय विद्रोही की त्वरित टिप्पणी....क्या प्रियंका के आने से चमकेगी कांग्रेस?

By: | Last Updated: Tuesday, 7 January 2014 12:19 PM
विजय विद्रोही की त्वरित टिप्पणी….क्या प्रियंका के आने से चमकेगी कांग्रेस?

प्रियंका गांधी

दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई. बैठक राहुल गांधी के निवास पर हुई. बैठक में अहमद पटेल, जर्नादन दिवेदी सरीखे नेता मौजूद. लेकिन राहुल गांधी नदारद. बैठक की अध्यक्षता कर रहीं थीं प्रियंका गांधी. डेढ़ घंटे की बैठक में तय क्या हुआ यह तो पता नहीं लेकिन फिर बात निकली है तो बात दूर तक जाना तय है. क्या प्रियंका गांधी सक्रिय राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाने जा रही हैं. फिछले कुछ दिनों से खबरें आ रही हैं कि प्रियंका अब अपनी मां सोनिया गांधी की रायबरेली सीट के साथ-साथ भाई राहुल की अमेठी सीट का कामकाज भी संभालेंगी. खबर यह भी आई कि राहुल गांधी को सोशल मीडिया पर चमकाने के लिए पांच सौ करोड़ रुपये की सजिस पी आर कंपनी से समझौता किया गया है उसमें भी प्रियंका गांधी की भूमिका बताई जा रही है. अभी तक प्रियंका गांधी की भूमिका सोनिया गांधी के चुनाव क्षेत्र को संभालने तक ही सीमित रही है. चुनाव के समय जरुर राहुल गांधी की अमेठी सीट पर भी वह प्रचार के लिए जाती रहीं .पिछले लोकसभा चुनावों में प्रियंका ने पी एल पूनिया के यहां भी प्रचार किया था.

 

बड़ा सवाल उठता है कि क्या प्रियंका के आने से कांग्रेस की किस्मत चमकेगी. एक बार बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने कांग्रेस को बूढ़ी बताया था इस पर प्रियंका ने जवाब दिया था कि क्या मैं बूढी नजर आती हूं . अगर प्रियंका का कांग्रेस से जुड़ाव इस हद तक है तो फिर जाहिर है कि उन्हें ऐसे समय अगर कांग्रेस नहीं तो कम से कम अपने भाई राहुल के लिए खुलकर सामने आना चाहिए जो शायद राजनीति के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं. जिनके सामने खुद की और अपनी सरकार की साख को बचाने की सबसे बड़ी चुनौती है. यहां प्रियंका के सामने भी कई चुनौतियां होंगी . वह जानती हैं कि उनके सामने आने पर विपक्ष खासतौर से बीजेपी को कांग्रेस पर वंशवाद को आगे बढ़ाने का आरोप नये सिरे से लगाने का मौका मिलेगा . सवाल यह भी उठाए जाएंगे कि क्या राहुल कमजोर हो गये हैं इसलिए बहन को भी सामने आना पड़ रहा है. कुछ लोग प्रियंका और राहुल की आपस में तुलना भी करेंगे. इस पर भी बहस होगी कि क्या प्रियंका को पहले ही सक्रिय नहीं हो जाना चाहिए था. सबसे बड़ी बात यह है कि प्रियंका के सामने आने पर विपक्ष राबर्ट वाड्रा के जमीन खरीद विवादों को फिर से उठाना शुरु कर देगा. यह हमले व्यक्तिगत भी होंगे और राजनीतिक भी. सवाल उठता है कि प्रियंका इन सवालों से घिर कर रह जाएंगी या फिर लोग इंदिरा गांधी का अक्स उनमें तलाशेंगे और यह कांग्रेस का गेम चेंजिंग आइडिया होगा.

 

कांग्रेस अभी तक सोशल मीडिया की भूमिका को नकारती रही है. यहां तक न्यूज चैनलों के दौर में भी राहुल गांधी की जन सभाएं कैमरों के हिसाब से आयोजित नहीं होती रही हैं. कांग्रेस कहती रही है कि इंटरनेट, फेसबुक, ट्वीटर से वोट नहीं मिलते. लेकिन अब यही कांग्रेस बदल रही है. माना जा रहा है कि इस सोच में बदलाव के पीछे प्रियंका हैं. सुना है कि राहुल की सोशल मीडिया पर लांचिंग की तैयारी हो रही है . कांग्रेस की समझ में आ गया है कि इस देश में करीब 15 करोड़ लोग ( इनमें ज्यादतर युवा हैं ) इंटरनेट का किसी न किसी रुप में इस्तेमाल करते हैं . यह वर्ग छवि बनाने बिगाड़ने में माहिर होता है. लिहाजा इसे हाशिए पर नहीं छोड़ा जा सकता. लेकिन सबसे बड़ी बात है कि किसी को सोशल मीडिया में सिर्फ लांच कर देने से बहुत ज्यादा हासिल नहीं होता . हासिल तब होता है जब जिसे लांच किया जा रहा है वह खुद एक्टिव हो. यहां राहुल गांधी को नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल से सीख लेनी चाहिए . केजरीवाल तो अपनी बीमारी और खांसी तक पर ट्वीट करते हैं . मोदी किसी सभा को करने से पहले वहां के लोगों से पूछते हैं कि स्थानीय मुद्दे क्या हैं . किसी समारोह में जाने, पहुंचने की सूचना मोदी ट्वीटर पर देते हैं. वहां कहा क्या, इसकी पूरी सूचना भी सोशल मीडिया पर डाली जाती है. अरुण जेटली भी बड़े मसले पर फेसबुक और ट्वीट का खुद ही इस्तेमाल करते हैं . सवाल उठता है कि क्या राहुल गांधी ऐसा कर पाएंगे. क्या वह इतना समय निकाल पाएंगे . जाहिर है कि राहुल अगर सोशल मीडिया पर सक्रिय हुए तो उनसे ऐसे सवाल पूछे जाएंगे जो असहज करने वाले होंगे . राहुल गांधी को संयम दिखाना ही होगा .

 

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: विजय विद्रोही की त्वरित टिप्पणी….क्या प्रियंका के आने से चमकेगी कांग्रेस?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017