सामना के संपादकीय में शिवसेना का बीजेपी पर निशाना, मौकापरस्तों और दल बदलुओं को शामिल करने पर सवाल

By: | Last Updated: Thursday, 13 March 2014 4:32 AM

मुंबई: सामना के संपादकीय में बीजेपी पर बड़ा निशाना साधा गया है.सामना के संपादकीय में बीजेपी पर मौका परस्त गठबंधनों और दल बदलुओं को शामिल कराने को लेकर निशाना साधा गया है. 

 

 

 

शिवसेना प्रमुख ने कहा है कि नए गठबंधन को लेकर पुराने साथियों को विश्वास में नहीं लिया जारहा है. आंध्र प्रदेश में पुरंदेश्वरी को शामिल करने को लेकर सवाल उठाते हुए लिखा है कि इसके लिए चंद्रबाबू नायडू से बात तक नहीं की गई.

 

 

 

सामना के संपादकीय में लिखा गया है कि हिंदुत्व शिवसेना का एजेंडा था और रहेगा.नरेंद्र मोदी को आने वाले चुनावों के बाद सत्ता में आना है तो उन्हें स्वयं विश्वास पैदा करना होगा.

 

 

 

सामना में लिखा गया है कि शिवसेना अपनी लड़ाई लड़ने में खुद सक्षम है, लेकिन जिन राज्यों में बीजेपी मित्रों के सहारे आगे बढ़ी उन्हें रास्ते में आए पत्थर की तरह किनारे करना परेशानी खड़ी करेगा.