दिल्ली: नौ फास्ट ट्रैक अदालतों के बावजूद बलात्कार के 93 फीसदी मामले लंबित

By: | Last Updated: Thursday, 22 October 2015 3:33 AM

नयी दिल्ली: बलात्कार के मामलों की सुनवाई के लिए अलग से फास्ट ट्रैक अदालतें होने के बावजूद पिछले तीन वर्षों से दिल्ली में बलात्कार के 93 फीसदी से ज्यादा मामले लंबित हैं.

 

अभियोजन के रिकार्ड से पता चलता है कि 2012 से 2014 के दौरान बलात्कार के 4,508 मामले आए जिसमें से पुलिस ने 3,936 मामलों में कार्रवाई की. इन 3,936 मामलों में से 3,575 मामलों में आरोप पत्र दाखिल किये गए.

 

हालांकि इस दौरान आरोप पत्र दाखिल किये जाने वाले 3,330 मामलों की सुनवाई अदालतों में लंबित है.

 

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘16 दिसम्बर की घटना के बाद कानून में जो संशोधन हुए हैं उसके अनुसार, बलात्कार के मामलों में 20 दिनों के भीतर आरोप पत्र दाखिल करना होता है.’’ दिल्ली में यौन उत्पीड़न के मामलों से निपटने के लिए खास तौर पर नौ फास्ट ट्रैक अदालतों का गठन किया गया है.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 93 % rape cases pending in fast track courts of new delhi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: delhi rape cases fast track court rape
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017