a man preserved his mother dead body on minus 96 degree temprature for pension withdrawl in kolkata

बेटे ने -96 डिग्री के तापमान पर रखा था मां का शव, नहीं हो पा रहा पोस्टमॉर्टम

पुलिस की जांच में पता चला है कि युवक ने अपनी मां के शव को -96 डिग्री के तापमान पर रखा था. शव की हालत इतनी खराब है कि उसका पोस्टमॉर्टम भी नहीं हो पा रहा. पुलिस मृतका का शव उसके पति को अंतिम संस्कार के लिए भी नहीं दे पा रही.

By: | Updated: 09 Apr 2018 10:17 AM
a man preserved his mother dead body on minus 96 degree temprature for pension withdrawl in kolkata

कोलकाता: कोलकाता में एक सनसनीखेज मामला सामने आया था जहां एक बेटे ने अपनी मां के शव को तीन साल तक फ्रीजर में ऱखा और उसके अंगूठे के निशान लेकर पेंशन निकालता रहा. पुलिस की जांच में पता चला है कि युवक ने अपनी मां के शव को -96 डिग्री के तापमान पर रखा था. शव की हालत इतनी खराब है कि उसका पोस्टमॉर्टम भी नहीं हो पा रहा. पुलिस मृतका का शव उसके पति को अंतिम संस्कार के लिए भी नहीं दे पा रही.


पुलिस उस बैंक के संपर्क में है जहां से उसे शक है कि एक मृत महिला के नाम पर पेंशन निकाली जा रही थी. पुलिस महिला के नाम पर दिए गए उस बर्थ सर्टिफिकेट की भी जांच रही है जिसे पेंशन के लिए बैंक में पेश किया गया था. ऐसी आशंका है कि उसके बेरोजगार बेटे ने महिला की पेंशन राशि लेने के लिए जरूरी उसके अंगूठे का निशान लेने के उद्देश्य से ऐसा किया.


पुलिस ने बुजुर्ग महिला बीना मजूमदार का शव एक फ्रीजर से बरामद किया था. मृत शरीर को कैमिकल एंबामिंग कर तीन साल तक संरक्षित रखा गया था.


यह विचित्र मामला शहर के दक्षिणी इलाके बेहाला के एक घर में उस समय सामने आया था जब एक पत्रकार ने इस संबंध में पुलिस को जानकारी दी. महिला का आरोपी बेटा सुब्रत मजूमदार (50) पिछले दो वर्षों से बेरोजगार है. सुब्रत को लम्बी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया था.


पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 269 के तहत मामला दर्ज किया है. आरोपी को शुक्रवार को शहर की एक अदालत में पेश किया गया जहां उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया. डॉक्टरों की सलाह पर उसे मानसिक इलाज के लिए पावलोव अस्पताल ले जाया गया. पुलिस ने सुब्रत के पिता गोपाल चन्द्र मजूमदार से भी पूछताछ की थी.



जांच से जुड़े एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस यह भी पता लगाएगी कि अवैध रूप से पेंशन निकालने में बैंक से उनकी किसी ने मदद तो नहीं की थी. उन्होंने कहा,‘‘ पुलिस यह भी पता लगाएगी कि यह कैमिकल कहां से खरीदा गया था और क्या इसे एक वैध उद्देश्य दिखाकर खरीदा गया था.’’


पुलिस ने बताया कि वे इस बात की भी जांच करेंगे कि अपनी मां के शव से अंदरूनी अंग निकालने में सुब्रत की किसने मदद की थी. पड़ोसी जानते थे कि एक निजी अस्पताल में महिला का निधन हो चुका था लेकिन उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी कि उसके शव का क्या हुआ.


पुलिस अधिकारी ने कहा कि महिला की मौत करीब तीन साल पहले हो चुकी थी और उसके शव को दो मंजिला मकान के एक कमरे में विशाल फ्रीजर में बंद करके रखा गया था. बंद कमरे में दो फ्रीजर रखे हुए थे.


अधिकारी ने कहा कि महिला का शव एक फ्रीजर में रखा हुआ था जबकि दूसरा फ्रीजर खाली पड़ा था. पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही है कि दूसरा फ्रीजर किस उद्देश्य से रखा गया था.गोपाल चंद्र मजूमदार और बीना दोनों भारतीय खाद्य निगम में काम करते थे और उनकी अच्छी- खासी पेंशन है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: a man preserved his mother dead body on minus 96 degree temprature for pension withdrawl in kolkata
Read all latest Crime News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मानसिक रूप से बीमार महिला ने रेत दिया आठ महीने के बेटे का गला