आम्रपाली के चेरयरमैन अनिल शर्मा पर बालिका विद्यापीठ के पूर्व मंत्री की हत्या का आरोप

By: | Last Updated: Sunday, 3 August 2014 7:28 AM
AAMRPALI_CHAIRMAN_ACCUSED_UNDER_MURDER_ALLEGITION)_OF_DR KUMER SHARATCHM

बिहार: लखीसराय जिले के टाउन थाना क्षेत्र के प्रसिद्व शिक्षण संस्थान बालिका विद्यापीठ के पूर्व मंत्री डॉ0 कुमार शरदचन्द को अपराधीयों ने गोलीमारकर हत्या कर दी.

 

वह सुबह 6 बजे बालिका विधापीठ के कैम्पस के अन्दर अपने आवास में चाय की चुस्की के साथ समाचार पत्र पढ़ रहे थे  तभी मोटरसाइकिल से दो अपराधी आए और उनके आंख से बंदूक सटाकर गोली मार दी.

 

वह वहीं धरासाई हो गए जिसके बाद अपराधी धटनास्थल से फ़रार हो गए. उनकी पत्नी उषा देवी, अवासीय रसोईया गोदावरी देवी दौडकर आईं और पकड़ो-पकड़ो कहकर चिल्लाने लगीं लेकिन तब तक अपराधी फ़रार हो चुके थे. ऊषा देवी का रो-रोकर बुराहाल है. घटना से आक्रोशित लोगों ने विधापीठ चौक को जाम कर दिया है घटनास्थल पर तनाव का महौल कायम है .

 

बालिका विद्यापीठ के पूर्व मंत्री डॉ0 कुमार शरदचन्द की पत्नी ऊषा देवी ने बताया कि, ‘बिहार के बडे नेता व आम्रपाली ग्रुप के एम डी अनील शर्मा, जिला कोर्ट के वरिष्ठ सरकारी अधिवक्ता शशी भुषण सिंह, चिकित्सक डॉ0 प्रवीण कुमार सिन्हा, डॉ0 श्याम सुन्दर प्र0 सिंह, अशोकधाम के ट्रस्टी राजेन्द्र सिंघानिया, वर्तमान प्रचार्य अनिता सिंह और राधे श्याम शर्मा साजिश के तहत मेरे पति की हत्या करवा दी है.

 

 मैं उन सभी के खिलाफ़ एफआईआर दर्ज करवायी है. पुलिस इनलोगों को पकड कर हमें इन्साफ़ दिलवाएं.’

 

 

पुलिस इंसपेक्टर मनोज कुमार ने बताया कि, ‘लखीसराय थाना में मामला दर्ज कर लिया गया है जिसमें बिहार के बडे नेता व आम्रपाली ग्रुप के एम डी उधोगकर्मी अनील शर्मा, जिला कोर्ट के वरिष्ठ सरकारी अधिवक्ता शशी भुषण सिंह, चिकित्सक डॉ0 प्रवीण कुमार सिन्हा, डॉ0 श्याम सुन्दर प्र0 सिंह, अशोकधाम के टस्टी राजेन्द्र सिंघानिया, वर्तमान प्रचार्य अनिता सिंह और राधे श्याम शर्मा एवं एक अन्य के खिलाफ़ मामला दर्ज कर लिया गया है.’

 

 पुलिस मामले की अनुसंधान में जुटी गई है इस काण्ड में साजिस कर्ता के रूप में डा0 प्रवीण कुमार सिन्हा को गिरफ़तार कर लिया गया है अन्य की गिरफ़तारी करने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है . पुलिस की एक टीम नामजद सभी अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए निकल चुकी है

 

 

बालिका शिक्षण संस्थान के रूप में अग्रणी बालिका विद्यापीठ 1951 में प्रथम राष्ट्रपति डा. राजेंद्र बाबू की प्रेरणा से महात्मा गांधी ने इसकी स्थापना करवायी थी .

 

कुछ दिनों से बालिका विद्यापीठ के संचालन हेतू दो शिक्षाविदों के बीच विवाद चल रहा था . इसी  विवाद के चलते अक्सर दोनो गुटो के बीच मारपीट भी हुई थी .

 

ज्ञात हो कि बिहार के बडे नेता व आम्रपाली ग्रुप के एम डी उधोगकर्मी अनील शर्मा ने यहां आम्रपाली इंजिनियरिंग कॉलेज की स्थापना की थी तभी से यहां डा कुमार शरदचन्द को अलग कर दिया गया था.

 

बालिका विद्यापीठ की अरबों रूपए की जमीन पर कई लोगों की निगाहें टिकी है. जिसके मुख्य कर्ताधर्ता डा. कुमार शरद चंद सबसे बडी अवरोध थे जो संस्थान के पहले  मानद मंत्री थे. ये बात किसी को हजम नहीं हो रहा था .

 

 

1989 में संस्थान के अंतर्गत ‘विद्या भवन’ का संचालन शुरू किया गया और इसका संबंधन केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, दिल्ली (सीबीएसई) से लिया गया. बीच में कई उतार चढ़ाव के बावजूद बच्चों का भविष्य यहां संवर ही रहा है लेकिन चालू सत्र के बच्चों के भविष्य पर सीबीएसई ने ताला लगा दिया है.

 

यदि समय से पूर्व फिर से संबंधन नहीं मिला तो प्रथम से बारहवीं तक अध्ययनरत लगभग दो हजार बच्चे सड़क पर आ सकते हैं. उहापोह की बनी स्थिति से शिक्षा जगत से जुड़े लोगों में चिंता घर कर गई है.

 

जबकी बालिका विद्यापीठ किसी एक व्यक्ति की नहीं, पूरे जिले की एक अमूल्य धरोहर है और इसे संजोने और संवारने का दायित्व भी हर नागरिकों का ही है.

 

जानकारी हो कि जिला मुख्यालय स्थित बालिका विद्यापीठ के अंतर्गत संचालित ‘विद्या भवन’ का संबंधन विस्तार केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, दिल्ली से है. गुरुकुल की व्यवस्था के रूप में इस संस्थान के द्वारा संचालित ‘विद्या भवन’ के साथ-साथ बच्चों के भविष्य पर भी ग्रहण लगता दिख रहा है.

 

यदि समय रहते सबकुछ ठीक नहीं हुआ तो शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों को भी घर की राह पकड़नी पड़ेगी या फिर उन्हें दूसरे संस्थान की तरफ रूख करना होगा.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: AAMRPALI_CHAIRMAN_ACCUSED_UNDER_MURDER_ALLEGITION)_OF_DR KUMER SHARATCHM
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017