'आप' विधायक मनोज कुमार के खिलाफ चार्जशीट दाखिल, अगला नंबर किसका?

By: | Last Updated: Friday, 10 July 2015 8:04 AM
aap_mla_manoj_kumar_chargesheet

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी के खिलाफ दो मामलो में आरोपपत्र कोर्ट में दाखिल कर दिया है औऱ इसकी जानकारी विधानसभा अध्यक्ष को भी दे दी है. दिल्ली पुलिस आम आदमी पार्टी के एक और विधायक सुरेद्र कंमाडो के खिलाफ धोखाधडी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर सकती है. साथ ही दिल्ली सरकार के मंत्री सतेंद्र जैन विधायक सहीराम, सोमनाथ भारती और रितुराज के खिलाफ आरोपपत्रो को अतिंम रूप दिया जा रहा है.

 

दिल्ली पुलिस  ने विधानसभा अध्यक्ष को सूचना दी है कि आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत आरोपपत्र कोर्ट में पेश कर दिया है. इन आरोपपत्रो में जान से मारने की धमकी देने मारपीट करने औऱ महिला की बेइज्जती करने के इरादे से हमला करने जैसी धाराएं शामिल है. इनमें एक मामला एफआईआऱ नंबर234-2014 का दूसरा मामला एफआईआऱ नंबर 85-2015 यानि इसी साल का है. इनमें एक मामला देवेद्र गुप्ता नाम के दुकानदार की शिकायत के आधार पर दूसरा मामला सुषमा सिंह नाम की महिला की शिकायत के आधार पर है.

 

पुलिस के एक आला अधिकारी ने बताया कि  अखिलेश पति त्रिपाटी के खिलाफ पुलिस के पास चार मामलो की जांच थी औऱ इनमें से दो मामलो में आरोप पत्र दाखिल किया गया है जबकि दो अन्य मामलो में जांच जारी है.

 

एबीपी न्यूज ने 17 जून को ही बताया था कि दिल्ली पुलिस आम आदमी पार्टी के 21 विधायको के खिलाफ आरोपपत्र दायर करने की तैयारी कर रही है पुलिस सूत्रों ने बताया कि आम आदमी पार्टी के विधायक सहीराम सोमनाथ भारती और रितुराज सहित दिल्ली सरकार के मंत्री संतेद्र जैन के खिलाफ आरोपपत्रो को अंतिम रूप दिया जा रहा है. दिल्ली सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ भी दो मामलो में जांच जारी है.

 

पुलिस सूत्रो के मुताबिक आम आदमी पार्टी के एक औऱ विधायक सुरेंद्र सिहं कंमाडो की कथित फर्जी डिग्री के मामले में पुलिस की आरंभिक जांच अपने अतिंम चरण में है और इस मामले में पुलिस सुरेद्र कंमाडो के खिलाफ धोखाधडी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर सकती है.

 

दिल्ली पुलिस ने पूर्वी दिल्ली के कोडंली इलाके से आप पार्टी के विधायक मनोज कुमार को बृहस्पतिवार को फर्जी दस्तावेजो के जरिए धोखाधडी करने के आरोप मे गिरफ्तार किया था  उन्हे पूछताछ के लिए दो दिन की रिमांड पर लाया गया है पुलिस सूत्रों ने बताया कि सीएफएसएल जांच के दौरान मनोज कुमार के हस्ताक्षर फर्जी दस्तावेजो पर हुए हस्ताक्षरो से मिलान खा चुके है अब उऩ्हे मकान के असली मालिक तथा अन्य लोगो के आमने सामने बैठा कर पूछताछ की जा रही है. इस मामले में आरोप साबित होने पर मनोज कुमार को कम से कम दस साल की सजा हो सकती है.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: aap_mla_manoj_kumar_chargesheet
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017