ATM में रकम डालने वालों ने ही कर दिया 24 लाख का सफाया!

By: | Last Updated: Sunday, 26 April 2015 12:14 PM

बालाघाट: बैंक की ओर से एटीएम मशीन में राशि डालने वाली एजेंसी को दिए 24 लाख रूपये गायब करने वाले एसआईएस कंपनी के तीन फरार कर्मचारियों को कल पुलिस ने गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें दो दिन के हिरासत पर पुलिस को सौंप दिया गया है.

 

यहां से लगभग तीस किलोमीटर दूर स्थित उकवा पुलिस चौकी प्रभारी सुरेन्द्र यादव ने आज बताया कि एसआईएस कंपनी बैंको से अनुबंध पर उनके एटीएम में रूपये डालती है. कंपनी के तीन कर्मचारियों इशान गुप्ता, रूपेश तथा सौरभ चौरसिया को 24 लाख रूपये गबन के आरोप में पुलिस ने कल गिरफ्तार किया है. ये राशि गबन करने के बाद तीनों आरोपी फरार हो गए थे. तीनों ही बालाघाट के रहने वालो हैं.

 

यादव ने बताया कि अभी आरोपियों के पास से कोई राशि बरामद नहीं हुई है. इसलिए गिरफ्तारी के बाद इन्हें कल ही अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए दो दिन की पुलिस हिरासत में लिया गया है.

 

यादव ने बताया कि एसआईएस कपंनी को अनुबंध के तहत सिडिकेंट बैक की उकवा शाखा से एटीएम में राशि डालने के लिये 29 नवम्बर 2014 को 12 लाख, 23 दिसंबर को 6 लाख, एवं 7 जनवरी को 6 लाख रूपये दिये गये थे.

 

उन्होने बताया कि आरोपियों ने ये राशि एटीएम में डाली ही नहीं और इसे लेकर फरार हो गए. बैंक की जांच के दौरान भी एटीएम मशीन में 24 लाख रूपये का अन्तर आया, तभी मामले का खुलासा हुआ.

 

सिंडीकेट बैंक उकवा शाखा द्वारा गत फरवरी में मामले की शिकायत पुलिस से की गई थी, तब से ही पुलिस आरोपियों की तलाश में थी.

 

उन्होने बताया कि इंशात पिता सुशांत गुप्ता (30) इतवारी गंज बालाघाट, सौरभ पिता संदीप चौरसिया (23) चित्रगुप्त नगर बालाघाट, रूपेश पिता गोमाजी फुल्लोके (38) निवासी ग्राम हट़टा को कल उनके घर से उस समय दबोच लिया गया, जब मुखबिर से सूचना मिली थी कि ये लोग परिवार से मिलने आए हुए हैं.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ATM_EMPLOYEE
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017