तीस्ता सीतलवाड़ को हिरासत में लेने के लिये सीबीआई पहुंची सुप्रीम कोर्ट

By: | Last Updated: Friday, 25 September 2015 12:18 PM
CBI moves Supreme Court for custody of Teesta Setalvad

नई दिल्ली: केन्द्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) ने सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड और उनके पति जावेद आनंद पर विदेशी चंदा नियमन कानून के कथित उल्लंघन के मामले की जांच में सहयोग करने में नहीं करने का आरोप लगाते हुये उनसे हिरासत में पूछताछ के लिये अब उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की है.

 

आरोप है कि उन्होंने विदेशों से मिले धन का दुरूपयोग किया और वे सांप्रदायिक सद्भाव के लिये खतरा पैदा कर रहे हैं.

 

जांच एजेन्सी ने बंबई उच्च न्यायालय के 11 अगस्त के आदेश को चुनौती देने के लिये कई बिन्दुओं को आधार बनाया है. तीस्ता और उनके पति को निचली अदालत ने जमानत देने से इंकार कर दिया था. इसके बाद उच्च न्यायालय ने उन्हें अग्रिम जमानत दे दी थी.

 

जांच एजेन्सी ने इस दंपति की अग्रिम जमानत रद्द करने का अनुरोध करते हुए दावा किया है कि उच्च न्यायालय ने उन्हें राहत देकर गलती की है क्योंकि उसने पहली नजर में यह पाया कि इनकी कंपनी सबरंग कम्युनिकेशन एंड पब्लिशिंग प्रा. लि. ने केन्द्र से अनिवार्य मंजूरी के बगैर ही अमेरिका स्थित फोर्ड फाउण्डेशन से 1.8 करोड़ रूपए प्राप्त किये और इस तरह से उन्होंने विदेशी चंदा नियमन कानून के प्रावधानों का उल्लंघन किया.

 

इस दंपति ने सारे आरोपों से इंकार करते हुये कहा है कि दंगा पीड़ितों के मामले उठाने के कारण ही उनका उत्पीड़न किया जा रहा है.

 

दूसरी ओर जांच एजेन्सी का कहना है कि पहली नजर में फोर्ड फाउण्डेशन से मिले धन का दुरूपयोग करने का पता लगने के बाद निश्चित ही उनकी जवाबदेही बनती है और ऐसी स्थिति में उच्च न्यायालय को उन्हें अग्रिम जमानत नहीं देनी चाहिए था.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: CBI moves Supreme Court for custody of Teesta Setalvad
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017