मुर्दो ने किया मनरेगा में काम!

By: | Last Updated: Sunday, 30 November 2014 2:22 PM
Dead man works on MGNREGA project

मऊ: उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद में मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम) के तहत कराए गए कार्यो में बड़े पैमाने पर घपलेबाजी सामने आई है.

 

जिंदा लोगों की आड़ में कुछ मृतकों के नाम भी मनरेगा से जोड़ दिए गए. यानी मुर्दो ने काम किया और लाखों का भुगतान भी लिया. इस मामले की जांच जिला सतर्कता एवं निगरानी समिति कर रही है.

 

जिला सतर्कता एवं निगरानी समिति के सदस्य नान्हू चौहान ने एक अप्रैल 2013 को स्वीकृत हुए कार्य के तहत रानीपुर मार्ग से खानपुर पलीगढ़ मार्ग पर हुए मिट्टी के कार्य संख्या 3156/आरसी/958486255822512346 की जांच की तो गड़बड़ियों की पोटली खुलती चली गई.

 

पता चला कि 14 मस्टररोल में हाजिरी भरकर 256452 रुपये का भुगतान कराया गया है. उपयोग में लाई गई मस्टररोल संख्या 2261 में क्रम संख्या एक, दो और तीन पर खिरिया के मजदूरों का कार्य दर्शाया गया है.

 

मस्टररोल संख्या 3676 में भी क्रम संख्या एक, दो और तीन पर ग्राम पंचायत खिरिया के मजदूरों के नाम फर्जी हाजिरी लगाकर धन का दुरुपयोग किया गया है. यही नहीं, संख्या 3676 के क्रम संख्या दो पर बालगोविंद के पिता स्व. रामदेव का कार्य किया जाना दिखाया गया है.

 

गौरतलब है कि किसी भी जॉब कार्ड पर उसके परिवार का कोई सदस्य कार्य कर सकता है, उसके नाम और संबंध के साथ लेकिन बालगोविंद के पिता की मौत 40 साल पहले ही हो चुकी है. यही नहीं, इसके बेटे रमेश का भी कार्य करना दिखाया गया है.

 

बालगोविंद का कहना है कि न तो उसने और न ही परिवार के किसी सदस्य ने कभी इस मार्ग पर काम किया. अब जिला सतर्कता एवं निगरानी समिति मामले की जांच में जुटी है.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Dead man works on MGNREGA project
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: dead Man MGNREGA projects work
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017