स्कूल की लापरवाही से क्लास में ही बंद रह गई 7 साल की मासूम, 10 घंटे बाद मिली | delhi: 7 year old girl locked in class for 10 hours

स्कूल की लापरवाही से क्लास में ही बंद रह गई 7 साल की मासूम, 10 घंटे बाद मिली

स्कूल की लापरवाही से एक सात साल की मासूम छात्रा करीब 10 घंटे कर स्कूल में ही बंद रह गई. पुलिस ने इस मामले में स्कूल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जांच भी शुरु कर दी है.

By: | Updated: 13 Feb 2018 08:55 AM
delhi: 7 year old girl locked in class for 10 hours

नई दिल्ली: स्कूल की लापरवाही से एक सात साल की मासूम छात्रा करीब 10 घंटे कर स्कूल में ही बंद रह गई. पुलिस ने इस मामले में स्कूल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जांच भी शुरु कर दी है. फिलहाल बच्ची काफी सहमी हुई है और किसी से अधिक बातें नहीं कर रही है.


ये मामला थाना गोकुलपुरी के गंगा विवार इलाके का है. एक स्कूल ने बच्चों के दिल्ली घुमाने का प्लान बनाया और सभी बच्चों को वक्त पर तैयार होकर पहुंचने को कहा. कक्षा 2 में पढ़ने वाली नैंसी बिष्ट भी दिल्ली घूमने के लिए पूरी तरह तैयार थी.


वह सुबह 8 बजे स्कूल गई थी और वहां से उसको अन्य बच्चों के साथ पिकनिक पर जाना था लेकिन स्कूल की गलती से वह क्लास में ही छूट गई और लगभग 10 घंटे स्कूल की क्लास में ही रही. शाम करीब 6 बजे जब मासूम नैंसी को उसकी मां स्कूल लेने पहुंचीं तो स्कूल वालों ने बताया कि आपकी बच्ची पिकनिक पर गई ही नहीं.


चलती बस में डीयू छात्रा के सामने अधेड़ ने शुरू की गंदी हरकत, किसी ने नहीं की मदद


इतना सुनते ही मां के पैरों तले ज़मीन खिसक गई. उन्होंने स्कूल प्रशासन को बताया कि वो खुद बच्ची को स्कूल छोड़कर गई थीं तो तो स्कूल प्रशासन के भी हाथ पैर फूल गए. स्कूल प्रशासन भी बच्ची को ढूंढने लगा. काफी तलाश करने के बाद मासूम बच्ची स्कूल की दूसरी मंजिल पर बनी अपनी क्लास में बेसुध हालत में मिली.


बच्ची की मां सीमा बिष्ट का आरोप है कि स्कूल वालों ने बच्ची को स्कूल में तलाशने से मना कर दिया था. उसके बाद वो आस-पड़ोस के लोगों को लेकर स्कूल गयीं और फिर उनकी बेटी को खोजा गया. बच्ची के मिलने के बाद उसे फ़ौरन अस्पताल ले जाया गया जहां कोई अनहोनी सामने नहीं आई.


बच्ची के परिवार ने इस घटना की सूचना पुलिस को दी. जांच करके पुलिस ने स्कूल प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया. मां का कहना है कि उनकी बेटी स्कूल के फर्श पर बेहोश पड़ी थी. बच्ची की मौसी रेनू का कहना है कि लिस्ट में नैंसी का नाम ऊपर था, लेकिन जब वो बस में नहीं दिखी तो उसका नाम काट दिया लेकिन घर वालों से क्रॉस चेक करने की जहमत नहीं उठाई गई.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: delhi: 7 year old girl locked in class for 10 hours
Read all latest Crime News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुरादाबाद: मदरसे की छत पर मिला नाबालिग का शव, घरवालों ने लगाया हत्या का आरोप